scorecardresearch

आम तौर पर 3 महीने पर कितना रहना चाहिए ब्लड शुगर लेवल? उम्र के हिसाब से जानिए

आखिर एक सामान्य शरीर में 3 महीने पर ब्लड शुगर का स्तर क्या होना चाहिए। आइए हम आपको इसके बारे में विस्तार से बताते हैं।

symptoms of type 1 diabetes in children,ICMR report, type-1 diabetes
बच्चों में हर वक्त थकान रहना टाइप-1 डायबिटीज के हो सकते हैं संकेत। photo-freepik

आज के दौर में डायबिटीज एक आम समस्या बन चुकी है और लाखों लोग इस बीमारी की चपेट में हैं। शरीर में उच्च या निम्न दोनों रक्त शर्करा का स्तर खतरनाक माना जाता है। ऐसे में जरूरी है कि हम अपना ब्लड शुगर लेवल बनाए रखें। अब सवाल यह है कि 3 महीने पर सामान्य शरीर में ब्लड शुगर का स्तर क्या होना चाहिए। आइए हम आपको इसके बारे में विस्तार से बताते हैं।

हीमोग्लोबिन रेड ब्लड सेल्स में मौजूद एक अणु ( molecule) है। इसका कार्य शरीर के ऊतकों ( body’s tissue) तक ऑक्सीजन ले जाने का है। वहीं एचबीए1सी (Hba1c) का पूर्ण रूप हीमोग्लोबिन A1c या HbA1c या ग्लाइकोसिलेटेड हीमोग्लोबिन ( glycosylated haemoglobin) है। यह हीमोग्लोबिन का एक रूप है जिसमें शुगर होती है।

डायबिटीज के मरीजों में ग्लाइकोसिलेटेड हीमोग्लोबिन ( glycosylated haemoglobin) का स्तर अधिक होता है। जबकि जिन लोगों को मधुमेह की बीमारी नहीं हैं ये उन लोगो में इसके उलट होता है। इसलिए ब्लड शुगर (blood glucose) के नियंत्रित स्तर बनाये रखने के लिए , HbA1c टेस्ट करना बेहतर होता है। आज इस लेख में हम HbA1c टेस्ट , HbA1c चार्ट की सामान्य सीमा के बारे में विस्तार से जानेंगे-

HbA1c की सामान्य सीमा लोगों में भिन्न होती है। आइए जानते हैं कि व्यक्तियों के लिए ग्लाइकोसिलेटेड हीमोग्लोबिन का सामान्य स्तर क्या होना चाहिए:

गैर-मधुमेह: लोगों में कई रिपोर्टों से पता चला है कि यदि आपकी एचबीए1सी सीमा 7% से कम है, तो मधुमेह की जटिलताओं को कम किया जा सकता है। एक स्वस्थ व्यक्ति का HbA1c माप कुल हीमोग्लोबिन के 6% से कम हो सकता है। जिन लोगों को मधुमेह नहीं है, यानि आम तौर पर स्वस्थ लोगों में, सामान्य HbA1c का मान 6.0% से कम या 42 mmol/mol से कम होता है।

प्री-डायबिटिक: व्यक्ति में यदि आपका ब्लड शुगर लेवल सामान्य सीमा से थोड़ा ऊपर है तो आप प्री-डायबिटिक व्यक्ति हैं। आपके मधुमेह का स्तर इतना अधिक नहीं है कि उसे टाइप-2 मधुमेह माना जा सके। एक उचित जीवन शैली और आहार प्रबंधन के साथ, आप इस स्तर पर मधुमेह को उलटने की विधि द्वारा अपने मधुमेह को नियंत्रित कर सकते हैं और सामान्य HbA1c मान 6.0% से 6.4%, या 42 से 47 mmol/mol प्राप्त कर सकते हैं।

मधुमेह वाले लोगों में: टाइप -2 मधुमेह वाले किसी भी व्यक्ति का सामान्य मूल्य 6.5% या उससे अधिक, या 48 mmol/mol या अधिक होता है। यह सीमा सामान्य हो सकती है लेकिन इस सीमा को बनाए रखने के लिए स्वस्थ जीवनशैली में बदलाव के साथ-साथ डॉक्टरों और दवाओं की भी आवश्यकता होती है। यदि आपका स्तर इससे अधिक है तो यह दिल का दौरा, परिधीय धमनी रोग, ग्लूकोमा, मधुमेह पैर, मधुमेह गुर्दे की बीमारी (Heart stroke, Peripheral Artery Disease, Glaucoma, Diabetic Foot, Diabetic Kidney Disease) का खतरा बढ़ सकता है।

पढें हेल्थ (Healthhindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

X