ताज़ा खबर
 

कोरोना से उबर रहे Diabetes मरीजों की कैसी होनी चाहिए डाइट? यहां जानें

Coronavirus and Diabetes: साबुत अनाज डायबिटीज के मरीजों के लिए लाभकारी है, इसमें फाइबर की अधिकता होती है

जो डायबिटीज रोगी कोरोना से संक्रमित हुए हों, उन्हें शरीर में ग्लूकोज लेवल नियंत्रित करने और रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए स्वस्थ खानपान की जरूरत है

Diabetes Diet Post Covid: भारत की कोरोना महामारी की दूसरी लहर से लड़ाई जारी है, कई राज्यों में लॉकडाउन लगने के बाद संक्रमितों की संख्या में गिरावट देखने को मिल रही है। पिछली बार से अधिक संक्रामक और खतरनाक इस वायरस का असर डायबिटीज के मरीजों पर ज्यादा पड़ रहा है। वहीं, जो लोग कोरोना से उबर रहे हैं उन्हें थकान व कमजोरी की शिकायत है। ऐसे में इंफेक्शन खत्म होने के दौरान अच्छी और पोषक तत्वों से भरपूर डाइट लेनी चाहिए। स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना है कि अगर कोई डायबिटीज रोगी कोरोना से संक्रमित हो जाता है तो उन्हें खासकर हेल्दी डाइट लेना चाहिए। आइए जानते हैं विस्तार से –

कैसी होनी चाहिए डाइट: हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार जो डायबिटीज रोगी कोरोना से संक्रमित हुए हों, उन्हें शरीर में ग्लूकोज लेवल नियंत्रित करने और रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए स्वस्थ खानपान की जरूरत है। अपनी डाइट में प्रोटीन, विटामिन और मिनरल्स युक्त फूड्स को शामिल करें। वहीं, तले-भूने खाद्य पदार्थ, फैट से भरपूर फूड्स, शुगर और कार्ब्स युक्त भोजन से परहेज करें।

मौसमी भोजन खाएं: एक्सपर्ट्स के मुताबिक फल विटामिन्स और मिनरल्स के बेहतरीन स्रोत होते हैं। इनसे शरीर की इम्युनिटी मजबूत होती है। साथ ही, फलों में फाइबर और एंटी-ऑक्सीडेंट्स भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं जो शुगर लेवल पर काबू करते हैं। हालांकि, डायबिटीज रोगियों को केला, आम और चीकू जैसे मीठे फलों के सेवन से बचना चाहिए।

डाइट में शामिल करें साबुत अनाज: साबुत अनाज डायबिटीज के मरीजों के लिए लाभकारी है, इसमें फाइबर की अधिकता होती है जो रक्त शर्करा के स्तर पर लगाम लगाने में मददगार साबित होते हैं। साथ ही, इनमें विटामिन्स और मिनरल्स भी प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। इसलिए मधुमेह रोगियों को रागी, बाजरा और ज्वार जैसे साबुत अनाजों का सेवन करना चाहिए।

समय पर करें भोजन: डायबिटीज रोगियों के लिए समय पर भोजन करना अति आवश्यक होता है। विशेषज्ञों का मानना है कि उठने के घंटे भर के भीतर उन्हें कुछ खा लेना चाहिए। हर बार 3 घंटे के अंतराल पर कुछ-कुछ खाते रहें।

यहां देखें सैंपल डाइट: नाश्ते में दूध के साथ ओट्स लें और उबला अंडा खाएं। इसके अलावा, 3-4 इडली या मल्टीग्रेन डोसा, सांभर और छाछ भी ले सकते हैं। वहीं, 1 रोटी के साथ एक कटोरी हरी सब्जियां और छाछ या दही का सेवन भी किया जा सकता है।

12 बजे के आसपास कोई एक फल, कुछ बादाम अथवा कुछ अखरोट खाएं। इसे बाद लंच में 1 रोटी, 1 कटोरी दाल, सब्जी या चिकेन करी, स्प्राउट्स और कटोरी भर दही। लोग 1 कटोरी चावल, सांभर, सब्जी या चिकेन, स्प्राउट्स और दही भी खा सकते हैं। इसके अलावा, मिक्स वेज पुलाव, एक कप दाल, दही और स्प्राउट्स लें।

शाम में भूना चना, पोहा, मखाना या फिर ग्रीन टी के साथ दो बिस्किट लें। फिर डिनर में सूप, सलाद के साथ 1 रोटी, कटोरी भर दाल या दही और सब्जी अथवा चिकेन खाएं। इसके अलावा, आप वेजिटेबल उपमा भी खा सकते हैं।

Next Stories
1 कोरोना काल में पैनिक अटैक और डिप्रेशन से बचने के लिए स्वामी रामदेव ने बताए उपाय, जानिये
2 Blood Sugar Level: ये फल झट से बढ़ा सकते हैं ब्लड शुगर लेवल, डायबिटीज के मरीज खाने से करें परहेज
3 इन तीन पौधों की पत्तिया डायबिटीज और हाई बीपी को करती हैं कंट्रोल, इस तरह करें इस्तेमाल
ये  पढ़ा क्या?
X