ताज़ा खबर
 

बैड ब्लड शुगर लेवल क्या होता है? जानें Sugar Level बढ़ने पर क्या खाएं

Foods That Control Blood Sugar: मशरूम, प्याज, बैंगन, टमाटर, स्प्राउट्स और जुकिनी जैसी सब्जियां ब्लड शुगर कंट्रोल करने में मददगार हैं

खाने से पहले जिन लोगों को डायबिटीज की परेशानी नहीं है उनका ब्लड शुगर 100 mg/dl से कम होना चाहिए

Fasting blood sugar level: ब्लड शुगर या ब्लड ग्लूकोज चार्ट लोगों के रक्त शर्करा का दिन भर का स्तर मापता है। इसमें खाने से पहले और भोजन के बाद का ब्लड शुगर लेवल भी शामिल है। डायबिटीज रोगियों को अपने रक्त शर्करा के स्तर पर निगरानी रखना जरूरी होता है, ऐसे में ग्लूकोज मैनेजमेंट के लिए ये चार्ट फायदेमंद साबित होता है।

हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक हर व्यक्ति का आइडियल ब्लड शुगर इस बात पर निर्भर करता है कि आपने दिन के किस वक्त ग्लूकोज टेस्ट किया है। साथ ही, आखिरी बार आपने कब खाया था ये भी मायने रखता है। ब्लड शुगर चार्ट में स्वास्थ्य विशेषज्ञ A1C ब्लड शुगर रखने की बात करते हैं। ये पर्सेंटेज और मिलीग्राम प्रति डेसिलीटर में नापा जाता है।

क्या है सही ब्लड शुगर लेवल: खाने से पहले जिन लोगों को डायबिटीज की परेशानी नहीं है उनका ब्लड शुगर 100 mg/dl से कम होना चाहिए। वहीं, डायबिटीज से ग्रस्त मरीजों का फास्टिंग शुगर लेवल 80–130 mg/dl के बीच होता है। वहीं, भोजन करने से एक या दो घंटे पहले हेल्दी लोगों का शुगर लेवल 140 mg/dl से कम होता है। वहीं, मधुमेह रोगियों के रक्त शर्करा का स्तर 180 mg/dl से कम होता है।

बैड ब्लड शुगर क्या होता है: स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना है कि जिन लोगों के रक्त शर्करा का स्तर फास्टिंग में 50 mg/dl या उससे कम होता है तो उसे खतरनाक रूप से निम्न माना जाता है। वहीं, 70–90 mg/dl ब्लड शुगर लेवल को भी लो ही माना जाता है। जबकि जिन लोगों के रक्त शर्करा का स्तर 90–120 mg/dl होता है उसे नॉर्मल रेंज कहते हैं।

एक्सपर्ट्स के अनुसार 120–160 mg/dl ब्लड शुगर को मीडियम कहते हैं और रक्त शर्करा अगर 160–240 mg/dl हो जाए तो काफी हाई माना जाता है। जबकि जिन लोगों का शुगर लेवल 240–300 mg/dl तो ये बेहद उच्च होता है और डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। वहीं, 300 mg/dl या उससे अधिक रक्त शर्करा होने पर तुरंत मेडिकल अटेंशन की जरूरत होगी।

कंट्रोल करने के लिए इन फूड्स का करें सेवन: मशरूम, प्याज, बैंगन, टमाटर, स्प्राउट्स और जुकिनी जैसी सब्जियां, हरी पत्तेदार सब्जी, नींबू या खीरे का जूस, दालचीनी की चाय, खरबूजा, बेरीज, साबुत अनाज जैसे कि सूखी बीन्स, मटर, दाल, कॉर्न, एवोकाडो, फैटी फिश, पनीर, ग्रीक यॉगर्ट, पीनट बटर, लीन मीट और अंडे

Next Stories
1 Thyroid रोगियों के लिए रामबाण से कम नहीं माना जाता है इन 2 ड्रिंक्स का सेवन, जानिये
2 Uric Acid कंट्रोल करने के ये 8 तरीके साबित हो सकते हैं असरदार, जानें
3 क्यों बढ़ जाता है ब्लड प्रेशर, जानें इसे कंट्रोल करने के उपाय
ये पढ़ा क्या?
X