scorecardresearch

Pulmonary Disease: क्या अस्थमा के मरीज पी सकते हैं दूध? जानिये किन चीजों से नहीं बनता है बलगम

दूध का सेवन सेहत के लिए फायदेमंद होता है लेकिन अस्थमा के मरीजों के लिए दूध परेशानी बढ़ा सकता है।

Pulmonary Disease,which foods not make mucus,How do I stop producing mucus
गले में बलगम से परेशान हैं कि शहद का सेवन करें। photo-freepik

अस्थमा के मरीजों को सर्दी की तरह ही गर्मी में भी बेहद परेशानी होती है। अस्थमा का मर्ज़ बढ़ने पर मरीज को सांस लेने में दिक्कत होती है। गर्मी में इन मरीजों को सीने में जकड़न और खांसी की शिकायत ज्यादा रहती है। अस्थमा के मरीज गर्मी में खाने-पीने पर लापरवाही करते हैं जिसकी वजह से उनको बलगम ज्यादा बनने लगता है। मरीजों के बलगम ज्यादा बनने से वायुमार्ग में सूजन आ जाती है।

छाती में ज्यादा बलगम जमने से वायु मार्ग बंद हो जाता है और सांस लेने में मुश्किल होती है। बढ़े हुए बलगम से निमोनिया जैसा संक्रमण भी हो सकता हैं। अगर आप भी क्रॉनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज जैसे रोगों से पीड़ित हैं, तो आपको डाइट में ऐसे फूड्स को शामिल करना होगा जिससे बलगम की परेशानी नहीं हो।

कुछ फूड्स का सेवन करने से अस्थमा के मरीजों को बलगम बढ़ने की परेशानी हो सकती है। खासकर दूध का सेवन करने से अस्थमा के मरीजों को परेशानी हो सकती है। आइए जानते हैं किन फूड्स का सेवन करने से अस्थमा के मरीजों को पलगम नहीं बनता।

अस्थमा के मरीजों की परेशानी बढ़ा सकता है दूध: दूध का सेवन सेहत के लिए फायदेमंद होता है लेकिन अस्थमा के मरीजों के लिए दूध परेशानी बढ़ा सकता है। दूध पीने से सांस के मरीजों को खासी, गले में तकलीफ, बलगम और सांस लेने में दिक्कत महसूस होती है। अस्थमा के मरीज दूध से परहेज करें।

शहद का करें सेवन: गले में बलगम से परेशान हैं कि शहद का सेवन करें। औषधीय गुणों से भरपूर शहद का सेवन करने से खांसी से निजात मिलती है। ब्रिटेन में नेशनल हेल्थ सर्विस के अनुसार अस्थमा के मरीजों के लिए शहद और नींबू का सेवन किसी भी दवा से कम नहीं है।

कच्ची हल्दी का करें सेवन: अस्थमा के मरीज बलगम से बचाव करना चाहते हैं तो कच्ची हल्दी का सेवन करें। कच्ची हल्दी का इस्तेमाल उसका रस निकाल के कर सकते हैं। हल्दी के रस की कुछ बूंदे निकालें और उसे गले में डालकर रोके रहें आपके गले को फायदा होगा। आप चाहें तो हल्दी के रस को गुनगुने पानी में मिलाकर गरारे भी कर सकते हैं। एंटी बैक्टीरियल और एंटीवायरल गुणों से भरपूर हल्दी में मौजूद करक्यूमिन बलगम को दूर करेगा। हल्दी का सेवन करने से खांसी और सर्दी से भी निजात मिलेगी।

गर्म लिक्विड चीजों का सेवन करें: फेफड़ों में जमा बलगम को दूर करने के लिए गर्म लिक्विड चीजों का सेवन करें। आप गर्म पानी, चिकन सूप, गर्म सेब का रस और ग्रीन टी का सेवन कर सकते हैं। गर्म लिक्विड फूड फेफड़ों से बलगम को दूर करेंगे साथ ही गले को राहत भी पहुंचाएंगे। गर्म तरल पदार्थ छाती और नाक में बलगम को बाहर निकालने में मदद कर सकते हैं।

पढें हेल्थ (Healthhindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट