ताज़ा खबर
 

पुरुषों की आम यौन समस्याएं क्‍या हैं और क‍िन कारणों से होती हैं?

डॉक्टर गौतम बंगा (रिकॉन्स्ट्रक्टिव यूरोलॉजिस्ट एवं एंड्रोलॉजिस्ट, यूपीएसः सेंटर फॉर रिकॉन्स्ट्रक्टिव यूरोलॉजी एंड एंड्रोलॉजी, दिल्ली-एनसीआर) बता रहे हैं क‍ि पुरुषों में होने वाली कुछ आम यौन समस्‍याओं के क्‍या संकेत, लक्षण, बचाव व इलाज हो सकते हैं।

यौन स्वास्थ्य पुरुषों के स्वास्थ्य व सेहत का एक महत्वपूर्ण पक्ष है। (फाइल फोटो)

यौन स्वास्थ्य पुरुषों के स्वास्थ्य व सेहत का एक महत्वपूर्ण पक्ष है। यौन स्वास्थ्य की विभिन्न समस्याओं के चलते पुरुषों को अनेक परेशानियों, जैसे समय पूर्व स्खलन, लैंगिक स्तंभन दोष (इरेक्टाईल डिस्फंक्शन), कामेच्छा की कमी एवं पुरुषों की प्रजनन क्षमता में कमी का सामना करना पड़ता है। यदि यौन स्वास्थ्य अच्छा न हो, तो उससे अंतरंग प्रेम पर असर पड़ता है तथा सम्मान में कमी से संबंध प्रभावित होते हैं। पुरुषों को प्रभावित करने वाली यौन स्वास्थ्य की आम समस्याएं ये हैं:

समय पूर्व स्खलन – यदि आप यौन गतिविधि शुरू करने से पहले या बहुत जल्दी स्खलित हो जाते हैं, तो आपको समयपूर्व स्खलन की शिकायत है। ऐसा मानना है कि यह समस्या युवा पुरुषों में ज्यादा होती है, जो यौन संबंधों की शुरुआत कर रहे होते हैं। लेकिन यह हर आयु के व्यक्ति को उसी दर से प्रभावित करती है। बुजुर्ग पुरुषों में यह समस्या लिंग स्तंभन दोष या फिर अंतर्निहित घबराहट की समस्या की चेतावनी हो सकती है।

लिंग स्तंभन दोष – यदि आपके लिंग में यौन संसर्ग के लिए पर्याप्त तनाव पैदा करने में परेशानी हो रही है, तो आपको लिंग स्तंभन दोष हो सकता है। लिंग स्तंभन दोष तब होता है, जब लिंग में तनाव बनाए रखने के लिए पर्याप्त खून का प्रवाह न हो रहा हो। कई मामलों में यह शारीरिक समस्या, रक्तवहनियों के विकार, थायरॉईड के असंतुलन, मधुमेह एवं हाईपरटेंशन के कारण हो सकता है। यह मनोवैज्ञानिक समस्याओं, जैसे चिंता, तनाव और अवसाद के कारण भी हो सकता है। लिंग स्तंभन दोष 50 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों में ज्यादा आम है, लेकिन यह किसी भी आयु में हो सकता है।

कामेच्छा की कमी (यौन संसर्ग के प्रति अनिच्छा) – कामेच्छा की कमी के मायने हैं कि यौन संसर्ग में आपकी दिलचस्पी या इच्छा का कम हो जाना। यह समस्या पुरुषों के हार्मोन, टेस्टोस्टेरोन में कमी के कारण होती है। टेस्टोस्टेरोन यौनेच्छा, वीर्य के उत्पादन, पेशियों एवं हड्डियों को नियंत्रित करते हैं। कम टेस्टोस्टेरोन से आपका शरीर एवं मूड प्रभावित हो सकता है।

यौनेच्छा में कमी अवसाद, चिंता या आपसी संबंधों की मुश्किलों के कारण भी हो सकती है। मधुमेह, उच्च रक्तचाप एवं विशेष दवाईयां जैसे एंटीडिप्रेसैंट्स भी यौनेच्छा की कमी उत्पन्न कर सकते हैं।

पुरुषों की प्रजनन क्षमता- आपकी उम्र बढ़ने के साथ वीर्य की गुणवत्ता कम होती जाती है। उम्र बढ़ने के साथ यह जोखिम भी हो जाता है कि आप गर्भ को स्थापित करने में सक्षम न हों। यद्यपि यदि पिता की उम्र 45 वर्ष से अधिक है, तो गर्भपात की संभावना बढ़ जाती है।

यौन स्वास्थ्य की समस्याएं शारीरिक और मनोवैज्ञानिक कारण से हो सकती हैं और इन दोनों कारणों से भी हो सकती हैं। शारीरिक कारणों में शामिल हैं: बीमारी या संक्रमण, स्किन की समस्या, दवाई के साईड इफेक्ट।

मनोवैज्ञानिक कारणों में हैं: तनाव,चिंता, अवसाद या आत्मसम्मान की कमी, आपसी संबंधों की मुश्किलें, अपनी लैंगिकता के बारे में अनिश्चितता, प‍िछले यौन अनुभव।

अपने यौन स्वास्थ्य के बारे में डॉक्टर से बात करना बहुत आवश्यक है। आपका डॉक्टर आपको सुरक्षित रहने और यौन स्वास्थ्य की समस्याओं में सुधार के तरीके बता सकता है। सेहतमंद जीवनशैली से यौन क्रिया में काफी सुधार हो सकता है। बेहतर आहार, सेहतमंद वजन प्राप्त करने और बनाए रखने, नियमित तौर पर व्यायाम करने से उत्तम सेहत बनी रहती है और यौन स्वास्थ्य बेहतर होता है।

Next Stories
1 ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने में कारगर है करेला, जानिये दूसरे घरेलू उपाय
2 थायरॉयड के मरीजों को भूल से भी नहीं खाना चाहिए ये 5 चीजें, हो सकता है नुकसान
3 ये 4 उपाय यूरिक एसिड लेवल कंट्रोल करने में हैं मददगार, जानिये
ये पढ़ा क्या?
X