ताज़ा खबर
 

Vitamin C सेहत के लिए है जरूरी, पर ज्यादा खाने से हो सकती है सिट्रस एलर्जी- जानिये कैसे करें बचाव

Health Tips: अगर खट्टे फलों को खाने के बाद आपके स्किन में रैशेज हो रहे हैं या फिर गले में खुजली परेशान कर रही है तो हो सकता है कि आप सिट्रस एलर्जी से पीड़ित हों

citrus fruits, vitamin c, vitamin c foods, vitamin c fruits, citrus allergy, citrus allergy home remedyकई लोगों को विटामिन सी से भरपूर इन फलों से एलर्जी होती है जिसे सिट्रस एलर्जी कहा जाता है

Health Tips: कोरोना काल में हर कोई अपनी सेहत के प्रति सतर्कता बरत रहा है। इम्युनिटी बढ़ाने के लिए काढ़ा से लेकर विटामिन सी युक्त फूड आइटम्स को भी डाइट में शामिल कर रहे हैं। एंटी-ऑक्सीडेंट्स से भरपूर विटामिन सी युक्त फल कई वायरल संक्रमणों और मौसमी बीमारियों से लड़ने में कारगर हैं। संतरा और नींबू जैसे खट्टे फल न केवल इम्युनिटी को मजबूत करते हैं  बल्कि इन फलों में पानी की मात्रा भी काफी अधिक होती है जो शरीर को हाइड्रेटेड रखने का काम करती है। लेकिन कई लोगों को विटामिन सी से भरपूर इन फलों से एलर्जी होती है जिसे सिट्रस एलर्जी कहा जाता है। जरूरत से ज्यादा खट्टे फल खा लेने से लोग इस एलर्जी से पीड़ित हो सकते हैं। आइए जानते हैं कि क्या है सिट्रस एलर्जी-

क्या हैं इस एलर्जी के लक्षण: अगर खट्टे फलों को खाने के बाद आपके स्किन में रैशेज हो रहे हैं या फिर गले में खुजली परेशान कर रही है तो हो सकता है कि आप सिट्रस एलर्जी से पीड़ित हों। खट्टे फलों को खाने के बाद होंठ, जीभ और गले में खुजली होना भी इसका एक लक्षण है। वहीं, नींबू या फिर कोई और सिट्रस फ्रूट खाने के बाद अगर आपके होंठ या मसूड़े में सूजन आ जाती है तो ये भी इसी एलर्जी का एक लक्षण हो सकता है। त्वचा में खुजली या फिर लालीपन का होना भी सिट्रस एलर्जी का एक संकेत हो सकता है। इसके अलावा, स्किन में सूजन होना भी इसका एक लक्षण हो सकता है।

क्यों होती है ये एलर्जी: आमतौर पर, जिन लोगों को पॉलेन से एलर्जी होती है उन्हें सिट्रस एसिड से भी एलर्जी हो सकती है। खट्टे फलों में भी सिट्रस एसिड मौजूद होता है। जब भी कोई व्यक्ति जिसे एल्रजी है उस चीज को छूते, सूंघते या स्वाद लेते हैं जिसमें सिट्रस एसिड होता है, तो उनका शरीर इस पर प्रतिक्रिया करता है। आमतौर पर खट्टे फलों में इस एसिड की मात्रा बहुत ही कम होती है इसलिए इसके हल्के-फुल्के मामले ही सामने आते हैं। पर गंभीर स्थिति में यह एनाफिलेक्सिस का कारण हो सकता है जो एक सीरियस मैटर हो सकता है।

कैसे करें बचाव: ऐसे लोगों को जिन्हें सिट्रस एलर्जी की परेशानी हो, उन्हें खट्टे फलों से दूरी बना लेनी चाहिए। फलों के साथ ही उनके छिलकों और  एसेंस से भी डिस्टेंस मेंटेन करना चाहिए। खट्टे फलों के रस जैसे संतरे या फिर नींबू का रस के सेवन से भी परहेज करना चाहिए। साथ ही, पैकेट वाले फलों में भी खट्टापन अधिक होता है, ऐसे में इनके इस्तेमाल करने से बचें। ज्यादा खट्टे फलों के सेवन से एलर्जी ट्रिगर हो सकती है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 High BP से पाना चाहते हैं निजात तो इन आयुर्वेदिक उपायों को करें दिनचर्या में शामिल
2 लिवर को हेल्दी रखेगा किशमिश से बना ये ड्रिंक, जानिये घर पर कैसे बनाएं
3 क्या Diabetes के मरीज खा सकते हैं मशरूम, जानिये कैसे करता है ब्लड शुगर को प्रभावित
ये पढ़ा क्या?
X