Blood Sugar कंट्रोल करने में मददगार होता है विटामिन-C? जानिए कैसे करता है काम

ब्लड शुगर कंट्रोल करने में विटामिन-C मददगार साबित होता है। लेकिन इसका सेवन बिल्कुल सही मात्रा में करना भी बहुत जरूरी है। जानिए कितनी होनी चाहिए मात्रा।

Vitamin C
विटामिन-C की मदद से कंट्रोल हो सकती है ब्लड शुगर (Photo- Getty/Thinkstock)

ब्लड शुगर का खतरा उम्रदराज लोगों के अलावा युवाओं में भी तेजी से बढ़ता जा रहा है। इसके पीछ कई कारण हो सकते हैं। ब्लड शुगर का कोई पुख्ता इलाज भी अभी तक नहीं है, इसलिए इस बीमारी से पहले ही इस पर कंट्रोल करना बहुत जरूरी है। कई रिसर्च में पाया गया है कि विटामिन-C का ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल करने पर भी पॉजिटिव प्रभाव नजर आता है।

विटामिन-C किसी भी व्यक्ति के मरीज में इंसुलिन बनाने का भी काम कर सकते है, क्योंकि इससे सेल्स को भरपूर विटामिन मिलता है। ब्लड शुगर के अलावा विटामिन-C शरीर से कोलेस्ट्रॉल घटाने में भी काफी मदद करता है। यानी ये किसी भी व्यक्ति में दिल की बीमारी का भी खतरा कम कर देता है। इसके अलावा विटामिन मिलने से शरीर काफी चुस्त भी रहता है।

इरान स्थित शहीद सदौघी यूनिवर्सिटी के डायबिटीज रिसर्च सेंटर की स्टडी से पता चलता है कि रोज़ाना विटामिन-C का 1000 mg सप्लीमेंट कई फायदे कर सकता है, लेकिन सबसे ज्यादा फायदा ब्लड शुगर और लिपिड कम करने में हो सकता है। इसके अलावा ये टाइप-2 डायबिटीज पर नियंत्रण पाने में भी बहुत मददगार साबित होता है। आमतौर पर लोग विटामिन-C का सेवन कम कर देते हैं, जिससे ये बीमारी होने का ज्यादा खतरा रहता है।

मात्रा का विशेष ध्यान रखना जरूरी: डीकिन यूनिवर्सिटी की रिसर्च में भी कुछ ऐसा ही पाया गया है। रिसर्च के मुताबिक, अगर कोई व्यक्ति दिन में 500mg विटामिन-C का सेवन दिन में दो बार करता है तो उसे टाइप-2 डायबिटीज, ब्लड शुगर लेवल और ब्लड प्रेशर का लेवल कंट्रोल करने में काफी मदद मिलेगी। लेकिन इसकी मात्रा का विशेष ध्यान रखने की भी जरूरत होती है।

डॉक्टर्स बताते हैं कि अगर जरूरत से ज्यादा विटामिन-C का सेवन कर लिया जाए तो ये किडनी में स्टोन भी कर सकता है। साथ ही ज्यादा विटामिन-C के कई नुकसान भी हो सकते हैं। इसलिए ये बहुत जरूरी है कि आप रोज़ाना विटामिन का लेवल चेक करने के बाद ही इसका सेवन करेंगे और अगर कहीं भी लगे तो डॉक्टर से कंसल्ट करने से भी नहीं हिचकना चाहिए। क्योंकि डॉक्टर इसकी सही मात्रा आपके शरीर और बीमारियों के हिसाब से तय कर सकते हैं जो इससे कम या ज्यादा हो सकता है।

पढें हेल्थ समाचार (Healthhindi News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट