ताज़ा खबर
 

यूरिक एसिड बढ़ने पर शरीर में क्या परेशानी होती है? जानें- 5 कॉमन लक्षण और बचाव के तरीके

Uric Acid Causes: यूरिक एसिड के मरीजों के हाथ-पैरों में जलन, उंगलियों में असहनीय दर्द, अकड़न, पेशाब करने में दिक्कत हो सकती है

Uric Acid, arthritis, joint pain, gout, gathiya, uric acid symptomsजब किडनी ठीक तरीके से फिल्टर नहीं कर पाता है तो इससे खून में यूरिक एसिड लेवल बढ़ जाता है

Uric Acid Symptoms and Cure: आज के बिजी शेड्यूल में लोगों के पास सेहत का ख्याल रखने तक का वक्त नहीं है। लापरवाह जीवन शैली और खानपान में अनियमितता लोगों को कई बीमारियों का शिकार बनाती है। वर्तमान समय में यूरिक एसिड का बढ़ना एक आम समस्या बन गई है। ब्लड में जब यूरिक एसिड की मात्रा अधिक हो जाती है तो इससे कई शारीरिक परेशानियां हो सकती हैं। यूरिक एसिड बढ़ने के कारण जोड़ों, टेंडन, मांसपेशियों और टिश्यूज में इस एसिड के छोटे-छोटे टुकड़ों में क्रिस्टल के रूप में जमा हो जाते हैं।

क्या होने लगती है दिक्कतें: शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ना खतरनाक हो सकता है, इस स्थिति को हाइपरयूरिसेमिया कहते हैं। यूरिक एसिड की अधिकता से लोग गाउट (एक प्रकार का गठिया) और अर्थराइटिस से घिर जाते हैं। इस कारण लोगों को जोड़ों में दर्द, हाथ-पैर की उंगलियों में दर्द, एड़ियों और घुटने की परेशानी या फिर सूजन हो सकता है। सिर्फ इतना ही नहीं, यूरिक एसिड के मरीजों को किडनी फेलियर और हृदय के कमजोर होने जैसी दिक्कतें हो सकती हैं।

जानें यूरिक एसिड बढ़ने के कारण: स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार जब किडनी की फिल्टर करने की क्षमता कमजोर हो जाती है तो इससे टॉक्सिक पदार्थ फ्लश आउट नहीं हो पाते हैं। इस कारण शरीर में मौजूद यूरिया यूरिक एसिड में परिवर्तित हो जाता है। जब किडनी ठीक तरीके से फिल्टर नहीं कर पाता है तो इससे खून में यूरिक एसिड लेवल बढ़ जाता है। इसके अलावा, खराब जीवनशैली, धूम्रपान और शराब का अधिक सेवन, मोटापा, जंक फूड, प्यूरीन फूड्स की अधिकता, दवाइयों का सेवन यूरिक एसिड के बढ़ने के लिए जिम्मेदार है।

यूरिक एसिड के 5 लक्षण: 
– जोड़ों में दर्द, पैर और एड़ियों में तेज दर्द
– उंगलियों के जोड़ों में सूजन
– तलवों का लाल होना
– ज्यादा प्यास लगना
– बुखार

इसके अलावा, यूरिक एसिड के मरीजों के हाथ-पैरों में जलन, उंगलियों में असहनीय दर्द, अकड़न, पेशाब करने में दिक्कत अथवा उस दौरान यूरिनरी ट्रैक्ट में जलन की परेशानी भी हो सकती है।

जानें बचाव के तरीके: यूरिक एसिड कंट्रोल करने के लिए हेल्दी डाइट और लाइफस्टाइल फॉलो करना जरूरी है। समय पर भोजन करें, भरपूर मात्रा में पानी पीयें, शारीरिक रूप से सक्रिय रहें और वजन पर संतुलन बनाए रखें।

वहीं, डाइट में लो प्यूरीन और फाइबर युक्त फूड्स की अधिकता होनी चाहिए। साथ ही, कुछ घरेलू उपाय भी यूरिक एसिड कंट्रोल करने में मददगार साबित हो सकते हैं। अजवाइन, धनिया और सेब का सिरका इसमें कारगर है।

Next Stories
1 ये फल बढ़ाते हैं ब्लड शुगर लेवल, Diabetes रोगियों के लिए साबित हो सकते हैं खतरनाक
2 राजधानी के श्मशानों में अपनों का इंतजार कर रहीं लाशें
3 कोविड-19 टीका : यूरोपीय देशों ने क्यों रोका कच्चा माल
ये पढ़ा क्या?
X