scorecardresearch

Uric Acid: विटामिन C का सेवन यूरिक एसिड लेवल को करता है कम, ये पांच घरेलू उपाय भी हैं फायदेमंद

हार्वर्ड मेडिकल स्कूल की एक रिपोर्ट के मुताबिक, जिन लोगों के शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा अधिक हो गई है, उन्हें खट्टे फल जैसे स्ट्रॉबेरी और संतरे आदि का खूब सेवन करना चाहिए।

Uric Acid: विटामिन C का सेवन यूरिक एसिड लेवल को करता है कम, ये पांच घरेलू उपाय भी हैं फायदेमंद
विटामिन C युक्त फूड्स का सेवन यूरिक एसिड के स्तर को कम करता है (Source: Getty/Thinkstock)

Uric Acid: घुटनों, पैर की उंगलियों, एड़ियों, अथवा जोड़ों में अगर लगातार दर्द बना रहता है तो आपको इस पर ध्यान देने की जरूरत है, ये बढ़े हुए यूरिक एसिड का लक्षण हो सकता है। यूरिक एसिड हमारे शरीर की कोशिकाओं और खाद्य पदार्थों से बनता है। हमारी किडनी यूरिक एसिड को छानकर अलग कर देती है और यह यूरिन के जरिए शरीर से निकल जाता है। लेकिन जब किसी कारण किडनी इसे अलग नहीं कर पाती तो इसकी मात्रा बढ़ती जाती है और यह क्रिस्टल्स के रूप में हड्डियों के जोड़ों में जमा होने लगता है। हड्डियों में यूरिक एसिड का जमा होना गठिया रोग को जन्म देता है।

लेकिन ऐसा नहीं है कि यूरिक एसिड को प्राकृतिक तरीके से कम नहीं किया जा सकता। अपने खानपान में आसान से बदलाव लाकर हम यूरिक एसिड के लेवल को शरीर से कम कर सकते हैं।

विटामिन C युक्त फूड्स से कम होता है यूरिक एसिड- हार्वर्ड मेडिकल स्कूल की एक रिपोर्ट के मुताबिक, जिन लोगों के शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा अधिक हो गई है और वो गठिया से पीड़ित हैं, उन्हें खट्टे फल जैसे स्ट्रॉबेरी और संतरे आदि का खूब सेवन करना चाहिए। कई शोध के दौरान यह भी देखा गया है कि गठिया और उसके दर्द से पीड़ित लोगों को चेरी खाने से राहत मिलता है।

अधिक मीठे फूड्स का सेवन कर दें कम- अधिक शर्करा युक्त फूड्स के सेवन से यूरिक एसिड के और बढ़ने की प्रबल संभावना होती है। इनमें अधिक कैलरी होता है जो हाई यूरिक एसिड वाले व्यक्ति को गठिया की स्थिति तक पहुंचा सकते हैं। इसलिए अधिक मीठे चीज़ों, सॉफ्ट ड्रिंक्स का सेवन बिलकुल कम कर दें और ज़्यादा से ज़्यादा पानी पिएं।

लो फैट मिल्क के साथ हल्दी का सेवन करें- गठिया रोग में व्यक्ति अधिक दर्द की स्थिति से गुजरता है ऐसे में हल्दी एक अच्छा विकल्प हो सकता है। एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण के कारण हल्दी दर्द को कम कर प्रभावित व्यक्ति को राहत पहुंचाती है। आप इसे लो फैट मिल्क के साथ मिलाकर पिएं। अर्थराइटिस फाउंडेशन की एक रिपोर्ट के मुताबिक, कम फैट वाले दूध से भी यूरिक एसिड को कम करने में मदद मिलती है।

नियमित करें व्यायाम- नियमित एक्सरसाइज करना हमें हर तरह के रोगों से दूर रखता है और हम मानसिक रूप से भी स्वस्थ रहते हैं। इससे भविष्य में भी आप गठिया होने से बचे रहते हैं। एक्सरसाइज से शरीर में यूरिक एसिड का लेवल कम करने में मदद मिलती है। लेकिन जब आप गठिया से ग्रस्त हैं और आप दर्द और जलन महसूस कर रहे हैं तो एक्सरसाइज न करें बल्कि जब दर्द और जलन ख़त्म हो जाए तब ही हल्के व्यायाम करें।

 

स्ट्रेस को कम करने की करें कोशिश- अगर शरीर में हाई यूरिक एसिड की समस्या है तो स्ट्रेस से आपको गाउट अटैक होने की संभावना बढ़ जाती है। इसलिए खुद को स्ट्रेस से दूर रखने की कोशिश करें। खुद को स्ट्रेस से दूर रखने के लिए योगा, स्विमिंग, गार्डेनिंग, जॉगिंग आदि बेहतर विकल्प हो सकते हैं।

पढें हेल्थ (Healthhindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट