महिलाओं से ज्यादा पुरुष क्यों हो रहे हैं Uric Acid का शिकार? इन चीजों का सेवन करने से कर सकते हैं कंट्रोल

Uric Acid बढ़ने के पीछे का कारण धूम्रपान और अल्कोहल भी होता है। आमतौर पर पुरुष इसका सेवन ज्यादा करते हैं, इसलिए पुरुषों में यूरिक एसिड की समस्या ज्यादा होती है।

Uric Acid
यूरिक एसिड की समस्या पुरुषों में क्यों होती है ज्यादा (Photo- Indian Express)

Uric Acid ब्लड में मौजूद एक तरह का केमिकल होता है, जिसे किडनी द्वारा फिल्टर होने के बाद शरीर से फ्लश आउट किया जाता है। कई बार किडनी इन केमिकल को फ्लश आउट करने में सक्षम नहीं रह पाती है। इससे कई तरीके की बीमारी लोगों को होने लगती हैं। सेलिब्रिटी न्यूट्रिशनिस्ट ऋजुता दिवेकर ने न्यूट्रिशन, हेल्दी डाइट, इम्युनिटी को लेकर जरूरी जानकारी साझा की है।

ऋजुता दिवेकर ने सोशल मीडिया पर अपने फॉलोअर्स को यूरिक एसिड पर जानकारी देते हुए एक वीडियो शेयर किया है। ऋजुता का कहना है, ‘खाने की आदत, हाइड्रेशन और एक्सरसाइज की मदद से यूरिक एसिड का लेवल कम किया जा सकता है। धूम्रपान, अल्कोहल, पैकेज फूड, खाने के बीच लंबा अंतर और लंबे समय तक बैठे रहना भी यूरिक एसिड का मुख्य कारण है। यूरिक एसिड के स्तर को नियंत्रित करने के लिए नींद पूरी करें, घर का बना हुआ खाना, हाइड्रेशन और एक्सरसाइज बहुत जरूरी है।’

क्या हो सकती हैं बीमारियां? ऋजुता का कहना है कि यूरिक एसिड के बढ़ने का एक कारण जीवनशैली भी है। आजकल लोग पालक, टमाटर और दाल को अपनी डाइट में शामिल नहीं करते हैं। अगर आप इन चीजों का लगातार सेवन करना शुरू कर देते हैं तो इससे काफी हद तक यूरिक एसिड की समस्या खत्म हो जाएगी। यूरिक एसिड रोज़ाना हमारे शरीर में उत्पन्न होता है और ये अगर ये शरीर में बचा रह जाता है तो किडनी समेत कई बीमारियों का कारण बन जाता है।

शरीर में यूरिक एसिड के बढ़ने का मुख्य कारण धूम्रपान, अल्कोहल का हमारे रुटीन में शामिल हो जाना भी है, इसलिए यही मुख्य कारण है कि पुरुष इससे अधिक प्रभावित होते हैं क्योंकि वे इन सभी चीजों का सेवन सबसे ज्यादा करते हैं। ऋजुता कहती हैं कि अगर आपको यूरिक एसिड के स्तर को नियंत्रित करना है तो एक्सरसाइज और पानी ज्यादा पीना होगा। ये ऐसी चीज है जिसके लिए आपको बस थोड़ा का एक्स्ट्रा-एफर्ट करना होगा।

यूरिक एसिड कंट्रोल करने के लिए मुस्ता का उपयोग भी कर सकते हैं। मुस्ता के पाउडर को पानी में भिगोकर रख दें। फिर इसे पानी में उबाल लें और ठंडा होने के बाद उस पानी का सेवन कर लें। दूसरी तरफ, वरुण चूर्ण का लेप भी दर्द वाली जगह पर लगा सकते हैं। इससे भी दर्द में आराम पड़ सकता है।

पढें हेल्थ समाचार (Healthhindi News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट