scorecardresearch

Uric Acid: यूरिक एसिड बढ़ने से हो सकती है यूरिन की ये तीन परेशानियां, जानिए कैसे करें कंट्रोल

शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ने से आपकी बॉडी में पानी की कमी हो सकती है और पानी की कमी के कारण आपके पेशाब में खून भी आ सकता है।

Uric Acid: यूरिक एसिड बढ़ने से हो सकती है यूरिन की ये तीन परेशानियां, जानिए कैसे करें कंट्रोल
ब्लड में यूरिक एसिड का स्तर बढ़ने पर पेशाब में जलन हो सकती है। photo-freepik

यूरिक एसिड का बढ़ना एक ऐसी परेशानी है जिसके लिए खराब डाइट जिम्मेदार है। डाइट में रेड मीट, सी फूड, दाल, राजमा, पनीर, चावल और शराब का अधिक सेवन करने से यूरिक एसिड तेजी से बनता है। यूरिक एसिड बढ़ने से बॉडी में कई बीमारियों का जोखिम हो सकता है। यूरिक एसिड बॉडी में बनने वाले टॉक्सिन हैं जो सभी की बॉडी में बनते हैं। इन टॉक्सिन को किडनी फिल्टर करके यूरिन के जरिए बॉडी से बाहर भी निकाल देती है।

जब कि़डनी यूरिक एसिड को बॉडी से बाहर नहीं निकालती तो वो जोड़ों में क्रिस्टल के रूप में जमा होने लगता हैं और गाउट का कारण बनते हैं। गाउट यानि गठिया की वजह से जोड़ों में असहनीय दर्द की शिकायत होती है। यूरिक एसिड बढ़ने का सबसे ज्यादा असर पैर के अंगूठे में दिखता है। पैर के अंगूठे में तेज दर्द होता है।

अगर यूरिक एसिड को कंट्रोल नहीं किया जाए तो इसके बढ़ने से बॉडी में कई बीमारियों का जोखिम बढ़ने लगता है। यूरिक एसिड बढ़ने से यूरिन की तीन बीमारियां परेशान करती हैं। आइए जानते हैं यूरिक एसिड बढ़ने से यूरिन की कौन-कौन सी बीमारियां होती है और बढ़े हुए यूरिक एसिड को कंट्रोल करने के लिए कैसी डाइट लें।

यूरिक एसिड बढ़ने से यूरिन में हो सकती है जलन:

ब्लड में यूरिक एसिड का स्तर बढ़ने पर पेशाब में जलन हो सकती है। यूरिन में जलन का इलाज नहीं किया जाएं तो यूरिनरी ट्रेक इंफेक्शन का भी खतरा हो सकता है। यूरिन में जलन होती है तो आप ज्यादा से ज्यादा पानी पीएं।

पेशाब में खून आ सकता है:

शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ने से आपकी बॉडी में पानी की कमी हो सकती है और पानी की कमी के कारण आपके पेशाब में खून भी आ सकता है। पेशाब में खून आना इस बात का संकेत है कि आप किसी तरह के संक्रमण का शिकार हैं। अगर आप भी यूरिन में इस तरह की परेशानिया महसूस कर रहे हैं तो फौरन डॉक्टर को दिखाएं।

यूरिन का अधिक डिस्चार्ज होना:

ब्लड में यूरिक एसिड का स्तर बढ़ने पर यूरिन ज्यादा डिस्चार्ज होता है। बार-बार पेशान आने से डिहाइड्रेशन की समस्या बढ़ सकती है। यूरिक एसिड के मरीजों में पानी की कमी होने पर किडनी टॉक्सिन को बॉडी से बाहर निकालने में असफल रहेगी।

यूरिक एसिड कंट्रोल करने के लिए डाइट में इन फूड्स को शामिल करें:

यूरिक एसिड बढ़ रहा है तो डाइट में फाइबर से भरपूर साबुत अनाज, सेब, संतरे और स्ट्रॉबेरी का सेवन करें। यूरिक एसिड को कंट्रोल करने के लिए आप कुछ फलों और सब्जियों को भी शामिल कर सकते हैं। डाइट में आंवला, अमरूद, केला, बेर, बिल्व, कटहल, शलगम, पुदीना, मूली के पत्ते, मुनक्का, दूध, चुकंदर, चौलाई, बंदगोभी, हरा धनिया और पालक को शामिल करें आपका यूरिक एसिड कंट्रोल रहेगा।

पढें हेल्थ (Healthhindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.