ताज़ा खबर
 

रात में खुल जाए नींद तो नहीं करने चाहिए ये दो काम

कई लोगों की रात में नींद टूटने की समस्या होती है और कुछ आदतें भी होती हैं जो वो नींद टूटने के बाद करते हैं जिसके कारण उनकी नींद तो प्रभावित होती ही हैं बल्कि और भी कई स्वास्थ्य समस्या हो जाती है।

रात को जागने के बाद इन आदतों को करना छोड़ दें

स्वस्थ और फिट रहने के लिए आपको पोषक तत्वों वाले आहार, स्वस्थ जीवनशैली और पर्याप्त नींद लेने की आवश्यकता होती है। लेकिन आजकल व्यस्त जीवन होने के कारण लोग अपनी नींद पूरी नहीं कर पाते हैं जिसके कारण उन्हें कई स्वास्थ्य समस्याएं हो जाती हैं। कई लोगों की नींद आधी रात में खुल जाती है और जिसके बाद वो कई ऐसी चीजें करते हैं जो उनके स्वास्थ्य को प्रभावित करती है। लेकिन इन चीजों के बारे में लोगों को सही तरीके से जानकारी नहीं होती है जिस वजह से वो इन चीजों को करना नहीं छोड़ते हैं। ये आदतें कई बार लोगों को लगता है कि उनके स्वास्थ्य के लिए अच्छी होती है लेकिन यह गलत है। ऐसे में लोगों को इन बातों और आदतों से अवगत होना चाहिए जिसकी वजह से उनका स्वास्थ्य प्रभावित होता है।

रात को उठकर पेशाब जाना:
यदि आप सोने से पहले अधिक पानी पीते हैं तो यह बात स्वभाविक है कि आधी रात को आपकी नींद जरूर खुल जाएगी क्योंकि आपके ब्लैडर में पानी भरा होता है। इसके लिए आप सोने से पहले कम पानी पीने के अलावा कुछ और नहीं कर सकते हैं। कई मेडिकेशन के कारण भी लोगों को आधी रात में पेशाब लगने की समस्या हो सकती है। जो लोग डायबीटिक, प्रेग्नेंट और प्रोस्टेट या ब्लैडर की समस्या से ग्रसित रहते हैं उन्हें सोने से पहले कम पानी पीना चाहिए ताकि आपको आधी रात में पेशाब ना लगे और किसी प्रकार की स्वास्थ्य भी ना हो।

फोन चेक नहीं करना चाहिए:
आपको इस बात की जानकारी तो होगी ही कि कंप्यूटर, टीवी और फोन का स्क्रीन आपकी नींद को प्रभावित करते हैं। इनसे निकलने वाली नीले रंग की रोशनी हमारे दिमाग में भ्रमित संकेत भेजता है, जिससे हमारे सर्कैडियन रिदम को गड़बड़ कर सकता है जिसती वजह से मानसिक स्वास्थ्य प्रभावित होता है और चिंता, डिप्रेशन और तनाव जैसी समस्या होने की संभावना भी बढ़ जाती है। इसके अलावा फोन के एप्लीकेशन भी दिमाग को भ्रमित करते हैं जिसके कारण आप बार-बार उन्हें चेक करते रहते हैं और यही कारण है कि आपकी नींद प्रभावित होती है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App