डायबिटीज के मरीज इस तरह करें तुलसी का सेवन, Blood Sugar Level कंट्रोल करने में मिल सकती है मदद

मधुमेह के रोगियों को रोजाना सुबह खाली पेट तुलसी की 3-4 पत्तियां का सेवन करना चाहिए, इससे ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रित करने में मदद मिलती है।

Blood Sugar Level, Diabetes, Blood Sugar Level Food
ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने में कारगर है तुलसी

वर्तमान समय में खराब खानपान, अनियमित जीवन-शैली, तनाव और फिजिकल एक्टिविटीज में लापरवाही करने के कारण लोग ऐसी बीमारियों की चपेट में आ जाते हैं, जो पहले बड़े-बुजुर्गों को हुआ करती थीं। ऐसी है एक स्वास्थ्य समस्या है डायबिटीज की। आज हर उम्र के लोग चाहें बुजुर्ग हों या युवा, यहां तक की बच्चे भी मधुमेह का शिकार हो रहे हैं। डायबिटीज की बीमारी में ब्लड शुगर लेवल अनियंत्रित रूप से घटता-बढ़ता रहता है, जिसके कारण हार्ट अटैक, ब्रेन स्ट्रोक, किडनी फेलियर और मल्टीपल ऑर्गन फेलियर जैसी जानलेवा स्थिति भी पैदा हो सकती है।

बता दें कि जब पैन्क्रियाज इंसुलिन हार्मोन का उत्पादन कम या फिर बंद कर दे तो इसके कारण बॉडी में ब्लड शुगर यानी रक्त शर्करा का स्तर बढ़ने लगता है। मेडिकल भाषा में हाई ब्लड शुगर लेवल को हाइपरग्लाइसीमिया कहा जाता है। हेल्थ एक्सपर्ट्स की मानें तो जीवन-शैली और खानपान में बदलाव के जरिए ब्लड शुगर लेवल को कम करने में मदद मिल सकती है। ऐसे में तुलसी मधुमेह के रोगियों के लिए फायदेमंद साबित हो सकती है।

तुलसी: आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्धति में तुलसी का काफी महत्व है। औषधीय गुणों से भरपूर तुलसी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने में मदद करते हैं। डायबिटीज के मरीज इस तरह तुलसी का सेवन कर सकते हैं।

इस तरह करें सेवन: मधुमेह के रोगियों को रोजाना सुबह खाली पेट तुलसी की 3-4 पत्तियां का सेवन करना चाहिए। इससे ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रित करने में मदद मिलती है। आप चाहें तो तुलसी के पानी का भी सेवन कर सकते हैं। इसके लिए रात में सोने से पहले तुलसी के कुछ पत्तों को एक गिलास पानी में भिगोकर रख दें, फिर सुबह उठकर इसका सेवन करें।

इसके अलावा आप तुलसी की चाय भी पी सकते हैं। इसके लिए एक कप पानी में 4-5 तुलसी के पत्ते डालकर उसे उबालें। फिर पानी को छानकर इसमें एक चम्मच शहद मिलाकर सेवन करें।

तुलसी का नियमित तौर पर सेवन करने से ना सिर्फ रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित रखने में मदद मिलती है बल्कि इसके साथ ही यह तनाव को भी दूर करने में मदद करती है। तुलसी में मौजूद कोर्टिसोल हार्मोन तनाव को दूर करता है।

पढें हेल्थ समाचार (Healthhindi News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट