ताज़ा खबर
 

High BP की समस्या से परेशान हैं तो डाइट में शामिल करें सीताफल, कंट्रोल करने में मिलेगी मदद

High Blood Pressure Home Remedies: पोटेशियम और मैंगनीज बीपी को कंट्रोल करने में मदद करते हैं, ये ब्लड वेसल्स को एक्सपैंड करने में मदद करते हैं

आप शरीफा को फल के रूप में तो खा ही सकते हैं, साथ ही आप चाहें तो इसकी स्मूदी भी तैयार कर सकते हैं

High Blood Pressure: कोरोनरी हार्ट डिजीज के खतरे से बचने के लिए अपने ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखना बेहद जरूरी है। हाई ब्लड प्रेशर जिसे हाइपरटेंशन भी कहते हैं की समस्या आजकल काफी आम हो गई है। उच्च रक्तचाप की समस्या में ब्लड वेसल में खून का प्रेशर बढ़ जाता है। समय पर इलाज नहीं होने पर इससे हार्ट अटैक, स्ट्रोक और किडनी फेलियर होने का खतरा भी रहता है। अगर पिछले कुछ समय से आपके ब्लड प्रेशर की रीडिंग लगातार 120/80 mmHg से ज्‍यादा है तो ये चिंता का विषय हो सकता है। स्ट्रेस, मोटापा, ज्यादा नमक खाना, खराब जीवनशैली और फिजिकल इनएक्टिविटी जैसे कई कारणों से ये समस्या होती है, ऐसे में मरीजों को दवाइयों के साथ हेल्दी लाइफस्टाइल व डाइट का चुनाव करना चाहिए। हाई बीपी के मरीजों के लिए सीताफल का सेवन भी फायदेमंद हो सकता है।

सीताफल खाने के ये हैं फायदे: स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने के लिए डाइट में पोटेशियम के खुराक को बढ़ाना चाहिए। सीताफल यानि कि शरीफा में पोटेशियम, विटामिन सी, मैंगनीज जैसे कई पोषक तत्व होते हैं जो बीपी को कंट्रोल करने के साथ ही कई अन्य हृदय रोगों से भी बचाते हैं। पोटेशियम और मैंगनीज बीपी को कंट्रोल करने में मदद करते हैं, ये ब्लड वेसल्स को एक्सपैंड करने में मदद करते हैं जिससे बीपी नियंत्रित रहता है। इसमें पाए जाने वाले एंटी-ऑक्सीडेंट्स शरीर में मौजूद फ्री रैडिकल्स से लड़ते हैं जिसके कारण शरीर में ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस फॉर्म नहीं हो पाता और हार्ट भी हेल्दी रहता है। साथ ही ये तनाव को कम करने में भी मददगार है।

कैसे करें सेवन: सीताफल को अंग्रेजी में कस्टर्ड ऐप्पल कहा जाता है, इस फल में कूलिंग प्रॉपर्टीज होती हैं। शरीर में मौजूद एक्स्ट्रा हीट को निकालने में भी ये फल सक्षम है। आप शरीफा को फल के रूप में तो खा ही सकते हैं, साथ ही आप चाहें तो इसकी स्मूदी भी तैयार कर सकते हैं। इसके लिए सीताफल लें, उसके छिलके और बीज को निकाल लें। इसके बाद पूरे फल को मैश कर लें। एक बर्तन में डालकर रख लें और उसमें एक बड़ा चम्मच ओट्स मिलाएं। अलग से केले को टुकड़ों में काट कर एक कप दही में मिलाएं। अब इसको भी ओट्स और कस्टर्ड ऐप्पल के मिश्रण में मिला दें और सभी को ब्लेंड करें। आपकी स्मूदी तैयार है।

बीपी के मरीज इन चीजों को न करें अनदेखा: शुरुआत में ब्लड प्रेशर के लक्षणों को समझना मुश्किल होता है क्योंकि ये बहुत ही आम होते हैं। अगर आपको बार-बार सिर में दर्द की शिकायत है तो ये हाई ब्लड प्रेशर की ओर संकेत कर सकता है। ब्‍लड प्रेशर में अचानक बदलाव आने से वॉमिटिंग की समस्या हो सकती है। दरअसल, ब्‍लड प्रेशर में बदलाव का असर पाचन तंत्र पर भी पड़ता है जिससे लोगों को उल्टी आती है। कई बार हाई बीपी होने पर पसीना भी ज्यादा आता है।

Next Stories
1 High Uric Acid को कंट्रोल करने में मददगार है ब्लैक कॉफी, जानिये कितना पीने से होगा फायदा
2 क्या होता है Diabetes Attack, जानिये क्या हैं इसके लक्षण और कैसे करें बचाव
3 डायबिटीज के मरीज डाइट में शामिल करें ये 5 फूड्स, इम्युनिटी मजबूत करने में मिलेगी मदद
ये पढ़ा क्या?
X