scorecardresearch

Cashew Benefits: अनियमित पीरियड, सिरदर्द और थकान में कैसे काम आ सकता है काजू, जान‍िए

महिलाएं रोजाना एक मुट्ठी काजू का सेवन करें उन्हें पीरियड के दौरान होने वाली परेशानियों से निजात मिलेगी।

Cashew Benefits: अनियमित पीरियड, सिरदर्द और थकान में कैसे काम आ सकता है काजू, जान‍िए
महिलाओं के लिए काजू का सेवन करने से एस्ट्रोजन हार्मोन का स्तर ठीक रहता है। photo-freepik

काजू स्वाद मे मीठा और भुरभुरा ड्राईफ्रूट्स है जिसे लेकर लोगों के मन में तरह-तरह की भ्रांतियां पनपती है। किसी को लगता है कि काजू का सेवन मोटापा बढ़ा देगा तो कोई इसलिए नहीं खाता कि ये शुगर बढ़ा सकता है। प्रोटीन, विटामिन A,B,C,सोडियम,पोटेशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम, फाइबर, फास्फोरस, आयरन, जिंक जैसे पोषक तत्वों से भरपूर काजू बॉडी को हेल्दी रखता है। इसे खाकर बॉडी में एनर्जी बनी रहती है और थकान का अहसास नहीं होता है। काजू में मौजूद गुणों की वजह से ही इसे एनर्जी का पावर हाउस कहा जाता है। काजू का इस्तेमाल सब्जी बनाने से लेकर स्नैक्स तक के रूप में किया जाता है। इसका सेवन अक्सर पनीर की सब्जी में रिच फ्लेवर देने के लिए किया जाता है।

पोषण विशेषज्ञ भक्ति कपूर ने हाल ही में अपने इंस्टाग्राम वीडियो में बताया है कि पोषक तत्वों से भरपूर काजू सेहत के लिए बेहद फायदेमंद है लेकिन इस ड्राईफ्रूट्स को लेकर लोगों का नजरिया ठीक नहीं है। प्रोटीन, हेल्दी वसा, और पॉलीफेनोल्स जैसे एंटीऑक्सिडेंट गुणें से भरपूर काजू सेहत को कई तरह के फायदा पहुचाता है।

एक्सपर्ट के मुताबिक काजू में मौजूद पोषक तत्व कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करते हैं। एक्सपर्ट के मुताबिक रोजाना एक मुट्ठी काजू का सेवन खराब कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करता है और दिल को हेल्दी रखत है। काजू का सेवन महिलाओं के लिए बेहद फायदेमंद है। आइए जानते हैं कि काजू का सेवन करने से बॉडी को कौन-कौन से फायदे होते हैं।

काजू का सेवन करने से बॉडी को होने वाले फायदे:

महिलाओं के लिए काजू का सेवन बेहद फायदेमंद है। इस नट्स की केवल एक सर्विंग से एस्ट्रोजन के स्तर पर सकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। ये हार्मोन को कंट्रोल करता है। काजू में एनाकार्डिक एसिड नामक पदार्थ मौजूद होता है, जिसका नैचुरल एंटी-एस्ट्रोजन प्रभाव होता है। एक मुट्ठी काजू में लगभग 20 मिलीग्राम एनाकार्डिक एसिड होता है। एक्सपर्ट के मुताबिक महिलाओं में एस्ट्रोजन हार्मोन का स्तर बढ़ जाता है।वएस्ट्रोजन लेवल बढ़ने पर सेक्स ड्राइव में कमी, वजन बढ़ना, अनियमित पीरियड जैसे लक्षण दिखाई देते हैं।

एस्ट्रोजन हार्मोन का कम होना भी सेहत के लिए नुकसानदायक है। इसकी कमी से कमजोर हड्डियां, रात में पसीना, अनियमित पीरियड, सिरदर्द और ध्यान केंद्रित करने में परेशानी होती है। एस्ट्रोजन हार्मोन में कमी होने की वजह से ही अक्सर महिलाओं में थकान, सोने में परेशानी, मूड में बदलाव, चिड़चिड़ापन और अवसाद जैसे लक्षण दिखाई देते हैं। एक्सपर्ट के मुताबिक महिलाए अपने हार्मोनल स्वास्थ्य को संतुलित करने के लिए रोजाना 1/4 कप यानि एक मुट्ठी काजू का सेवन करें।

पढें हेल्थ (Healthhindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 26-09-2022 at 04:01:58 pm
अपडेट