डायबिटीज से ग्रसित गर्भवती महिलाओं का कितना होना चाहिए ब्लड शुगर लेवल, जानिये

गर्भावस्था के दौरान डायबिटीज की बीमारी से जूझ रही महिलाओं का नॉर्मल ब्लड शुगर लेवल यानी खाने से पहले 95 mg/dl होना चाहिए। खाने के दो घंटे बाद यह 120 mg/dl से कम रहना चाहिए।

pregnancy, Pregnancy early symptoms, pregnancy symptoms, pregnancy tipsप्रेग्नेंसी के दौरान शरीर में कई हार्मोनल बदलाव आते हैं इसका प्रभाव अन्य अंगों पर भी पड़ता है

आज के समय में अनियंत्रित खानपान और अनियमित जीवन-शैली के कारण ज्यादातर लोग डायबिटीज की बीमारी से जूझ रहे हैं। कुछ महिलाओं में गर्भावस्था के समय हार्मोन में बदलाव के कारण भी ब्लड शुगर लेवल बढ़ जाता है। जिसके कारण उन्हें डायबिटीज हो सकती है। मेडिकल टर्म में इस स्थिति को जेस्टेशनल डायबिटीज कहा जाता है। हालांकि, जिन महिलाओं को प्रेग्नेंसी के दौरान ही मधुमेह की बीमारी हुई है, उनमें बच्चे के जन्म देने के बाद यह खत्म हो जाती है।

लेकिन जो महिलाएं पहले से ही डायबिटीज की बीमारी से ग्रसित हैं, उन्हें सामान्य गर्भवती महिलाओं की तुलना में ज्यादा सर्तकता बरतने की जरूरत होती है। क्योंकि, अगर उनका ब्लड शुगर लेवल नियंत्रित नहीं रह पाता, तो इसके कारण कई तरह की गंभीर समस्याएं हो सकती हैं। जिसका असर गर्भ में पल रहे बच्चे के स्वास्थ्य पर भी पड़ सकता है।

गर्भावस्था के दौरान डायबिटीज की बीमारी से जूझ रही महिलाओं का नॉर्मल ब्लड शुगर लेवल यानी खाने से पहले 95 mg/dl होना चाहिए। खाने के दो घंटे बाद यह 120 mg/dl से कम रहना चाहिए। इस दौरान महिलाओं को अपने ब्लड शुगर लेवल की समय-समय पर जांच करवाते रहना चाहिए। क्योंकि डायबिटीज के कारण गर्भ में पल रहे बच्चे में कई तरह के डिफेक्ट पैदा हो सकते हैं। साथ ही प्रीमेच्योर बेबी और गर्भपात का खतरा भी बढ़ सकता है।

ऐसे में जो महिलाएं डायबिटीज से ग्रसित हैं, उन्हें गर्भावस्था के समय अपने खानपान का खास ध्यान रखने की आवश्यकता होती है। संतुलित और हेल्दी डाइट ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित कर, जच्चा और बच्चा दोनों को सुरक्षित रखने में मदद करती है। इसके अलावा डायबिटीज से जूझ रही महिलाओं को गर्भावस्था के समय योग और मेडिटेशन करने की सलाह भी दी जाती है।

डायबिटीज से ग्रसित महिलाओं को गर्भावस्था में यह चीजें खाना रहेगा बेहतर: प्रेग्नेंट महिलाओं को ज्यादा से ज्यादा हेल्दी और विटामिन से भरपूर चीजों का सेवन करना चाहिए। अपने ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित रखने के लिए हरी सब्जियां, ताजे फल, दूध, घी, नट्स, ड्राईफ्रूट्स और ओमेगा-3 फैटी एसिड से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए।

इसके साथ ही नियमित तौर पर एक्सरसाइज और योग करना चाहिए। शुगर और कार्बोहाइड्रेट से भरपूर खाद्य पदार्थों का भूलकर भी सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि, इससे शरीर में शुगर की मात्रा बढ़ सकती है।

Next Stories
1 शाकाहारी लोग ध्यान दें! मुंह में छाले और मोटापा विटामिन-बी12 की कमी के हो सकते हैं संकेत, जानें दूसरे लक्षण
2 सुबह उठने से लेकर रात को सोने तक, क्या-क्या खा सकते हैं डायबिटीज के मरीज? जानिये
3 हाई बीपी के मरीज डाइट में शामिल करें ये फूड्स और जूस, रक्तचाप काबू करने में मिलेगी मदद
आज का राशिफल
X