ताज़ा खबर
 

डायबिटीज के मरीजों के लिए ज्यादा खतरनाक है थायरॉयड, जानिये क्या हैं इससे बचाव के तरीके

Thyroid Precautions: अमेरिकन डायबिटीज एसोसिएशन के अनुसार टाइप 1 डायबिटीज के मरीजों को हर 2 साल पर थायरॉयड से जुड़े टेस्ट कराते रहना चाहिए

thyroid disease, diabetes, thyroid and diabetes, risk of thyroid in diabetes patients, thyroid in diabetes, thyrid in diabetes type 1, thyroid test in diabetes, american diabetes association, thyroid and diabetes connection, thyroid and diabetes relation, thyroid and diabetes diet, thyroid and diabetes hormone imbalance, thyroid diet plan, thyroid diet, thyroid treatment, thyroid foods, healthy thyroid, how to maintain a healthy thyroid, health tips in hindi, home remedies, health news in hindi, healthy lifestyle news in hindi, natural remedies, hyper thyroid, what is hyper thyroid, what is hypo thyroid, thyroid home remedies, thyroid natural remedies, tips for thyroid patients, hyper thyroid symptoms, exercise for hyper thyroid, thyroid, thyroid symptoms, thyroid initial symptoms, thyroid causes, thyroid precautions, thyroid treatment, thyroid medicine, thyroid treatment in hindi, thyroid types, thyroid types in hindi, thyroid risk factors, thyroid in women, tips for thyroid patients, health, health news, health update, exercise for thyroidजब कोई भी व्यक्ति डायबिटीज और थायरॉयड दोनों ही बीमारियों का शिकार हो जाता है तो स्वास्थ्य संबंधित जटिलताएं भी बढ़ जाती हैं

Thyroid Precautions: अगर आप थोड़ा सा काम करने के बाद ही अत्यधिक थकान महसूस करने लगते हैं तो आप थायरॉयड बीमारी के शिकार हो सकते हैं। पुरुषों से ज्यादा महिलाओं में थायरॉयड की बीमारी आम है। एक अध्ययन के मुताबिक इस बीमारी के 100 मरीजों में 80 महिलाएं होती हैं। इसे साइलेंट किलर भी कहा जाता है क्योंकि इसके लक्षण धीरे-धारे सामने आते हैं। ऐसे में नियमित रूप से जांच कराना आवश्यक हो जाता है। वहीं, डायबिटीज के मरीजों को थायरॉयड से अधिक खतरा रहता है। मधुमेह रोगियों में अगर दवाइयां ब्लड शुगर लेवल को कम कर पाने में असमर्थ है तो डॉक्टर्स उन्हें थायरॉयड से जुड़े जांच करवाने की सलाह देते हैं।

डायबिटीज और थायरॉयड: डायबिटीज के मरीजों में इंसुलिन की मात्रा बेहद अनियमित होती है। वहीं, शरीर में इंसुलिन के स्तर में अधिकता या कमी आने से थायरॉयड हार्मोन के उत्पादन व क्रिया-कलापों पर असर पड़ता है जिससे मरीजों में थायरॉयड होने का खतरा बढ़ता है। वहीं, थायरॉयड के मरीजों में मेटाबॉलिज्म घटता-बढ़ता रहता है जिस वजह से मरीजों का ब्लड शुगर लेवल भी प्रभावित होता है। इसके अलावा, बीआरडी मेडिकल कॉलेज में हुए एक रिसर्च में यह बात सामने आई है कि थायरॉयड होने के कारण डायबिटीज की दवाओं का असर भी कम हो जाता है। इस रिपोर्ट के अनुसार अनियंत्रित डायबिटीज के 25 फीसदी मरीज थायरॉयड के भी शिकार हैं।

क्यों है घातक: जब कोई भी व्यक्ति डायबिटीज और थायरॉयड दोनों ही बीमारियों का शिकार हो जाता है तो स्वास्थ्य संबंधित जटिलताएं भी बढ़ जाती हैं।  मधुमेह रोगी जब हाइपर थायरॉयडिज्म का शिकार होता है तो उसे आंख व किडनी से जुड़ी बीमारी होने का खतरा भी ज्यादा बढ़ जाता है। डायबिटीज के मरीज में थाइराइड की समस्या बढने के कारण टाइप-2 मधुमेह होने की आशंका भी बढ जाती है, इससे मरीज की हालत गंभीर भी हो सकती है। इसके अलावा, इन मरीजों में ग्लूकोज का स्तर भी अधिक हो जाता है। ऐसा इसलिए क्योंकि ये बीमारी शरीर में ग्लूकोज को कंट्रोल करने के लिए जरूरी ग्लाइसेमिक इंडेक्स (GI) को कमजोर कर देती है। इस वजह से मधुमेह रोगियों के अंदर ग्लूकोज लेवल हाई हो जाता है।

ये हैं बचाव के तरीके: अमेरिकन डायबिटीज एसोसिएशन के अनुसार टाइप 1 डायबिटीज के मरीजों को हर 2 साल पर थायरॉयड से जुड़े टेस्ट कराते रहना चाहिए। इस बीमारी से दूर रहने के लिए जरूरी है कि आप शुगर और कैफीन से दूरी बना लें। इसके अलावा, संतुलित भोजन करना भी आवश्यक है जिससे आपके शरीर को जरूरी पोषक तत्व मिल सकें। मरीज अपनी दवाइयों और डाइट का खास ख्याल रखें। साथ ही साथ, थायरॉयड बीमारी से दूर रहने के लिए वजन को नियंत्रित करना भी अहम है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 यूरिक एसिड के हैं मरीज तो इन चीजों से कर लें तौबा, शरीर में नहीं बढ़ेगा प्यूरीन का स्तर
2 कोविड-19 के कारण दुनिया में रद्द हो सकती हैं 28 करोड़ सर्जरी, गंभीर बीमारियों के मरीजों क बढ़ीं मुश्किलें
3 Covid 19: कार, बस या ट्रेन से करने वाले हैं ट्रैवल तो किन बातों का रखें ध्यान, जानिये…