ताज़ा खबर
 

Corona Virus से पीड़ित हैं या नहीं 15 मिनट में चलेगा पता, जानें इस वायरस के अब तक के अपडेट्स

Corona Virus, Corona Virus Treatment, Corona Virus Detection: चीन में भयानक रूप लेते जा रहे कोरोना वायरस से मरने वालों लोगों की संख्या 900 से अधिक हो चुकी है। वहीं, 40 हजार से ज्यादा लोग इस वायरस से पीड़ित हैं

15 मिनट में जानेंगे कोरोना वायरस जांच का नतीजा, ये है तरीका

Corona Virus, Corona Virus Treatment, Corona Virus Detection: दुनिया भर में कोरोना वायरस का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा। अब तक 800 से अधिक लोगों की जान लेने वाले इस वायरस से कोई भी व्यक्ति सिर्फ 15 सेकेंड में संक्रमित हो सकता है। खबरों की मानें तो दक्षिणी चीन में एक व्यक्ति सिर्फ 15 सेकेंड में कोरोना वायरस की चपेट में आ गया। यह व्यक्ति एक बाजार में कोरोना वायरस से संक्रमित एक महिला के बगल में सिर्फ 15 सेकेंड के लिए खड़ा हुआ था। उधर, चीन की एक यूनिवर्सिटी ने 15 मिनट में वायरस को टेस्ट करने का दावा किया है।

तियांजिन यूनिवर्सिटी ने किया दावा: लाइवमिंट की खबर के अनुसार, चीन के तियांजिन यूनिवर्सिटी ने बीजिंग बायोटेक कंपनी के साथ मिलकर एक किट बनाया है जिसका अभी क्लिनिकल ट्रायल चल रहा है। यह किट सिर्फ 15 मिनट में कोरोना वायरस की पहचान कर लेगा जिससे संभावित रोगियों को डिटेक्ट करने में कम समय लगेगा। ट्रायल के बाद इस किट को हेल्थ रेगुलेटर के पास भेज दिया जाएगा। बता दें कि इससे पहले SunSure Biotech द्वारा बनाए गए किट को भी चीन की नैशनल मेडिकल प्रोडक्ट्स एडमिनिस्ट्रेशन (NMPA) ने अप्रूव कर दिया था।

साथ खाने से परिवार के 9 लोग हुए शिकार: हांगकांग में लुनार न्यू हॉलीडे के मौके पर खाने पर जुटे एक परिवार के 9 लोगों को कोरोना वायरस पॉजिटिव पाया गया है। स्वास्थ्य अधिकारियों के अनुसार, हॉटपॉट मील को उस दिन 19 लोगों ने शेयर किया था जिनमें से एक 24 वर्षीय युवक और उसकी 91 वर्षीय दादी पहले इस जानलेवा वायरस की चपेट में आई। हांगकांग के सेंटर फॉर हेल्थ प्रोटेक्शन ने रविवार को युवक के पिता, माता, 2 चाची और तीन चचेरे भाई-बहनों को भी कोरोना वायरस के शिकार होने की जानकारी दी।

शोधकर्ता पैंगोलिन को ठहरा रहे जिम्मेदार: कोरोना वायरस के इस कदर जानलेवा होने के पीछे कई तरह की अटकलें लगाई जा रही हैं। हालांकि, सभी स्टडीज से यही बात सामने आई है कि कोरोना वायरस किसी पशु के माध्यम से इंसानों में आया है। इसी बीच, दैनिक जागरण की एक खबर के अनुसार, चीनी शोधकर्ता पैंगोलिन को कोरोना वायरस का जिम्मेदार मान रहे हैं। वैज्ञानिकों के मुताबिक, कोरोना से पीड़ित मरीज और पैंगोलिन में मौजूद इस वायरस का जेनेटिक सीक्वेंस 99 फीसद समान है। हालांकि अभी तक यह शोध प्रकाशित नहीं हुआ है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 International Epilepsy Day 2020: ट्रीटमेंट गैप हटाने से नहीं पड़ेंगे मिर्गी के दौरे, जानिए क्या है मिर्गी का इलाज
2 International Epilepsy Day 2020: मिर्गी का संभव है इलाज, जानिए इस बीमारी से जुड़े कुछ आम मिथक और इनकी सच्चाई
3 41 प्रतिशत लोगों में इस तरह फैला Corona Virus, जानिए नए शोध से क्या हुआ खुलासा
ये पढ़ा क्या?
X