ताज़ा खबर
 

यूरिक एसिड के मरीजों के लिए रामबाण है ये फ्रूट जूस, जानें बनाने का तरीका

Uric Acid Home Remedies: पर्याप्त मात्रा में इसके सेवन से लोगों का वजन भी जल्दी नहीं बढ़ता है जिससे यूरिक एसिड हाई होने का खतरा कम होता है

कच्चे पपीते में एंटी-ऑक्सीडेंट्स और एंटी-इंफ्लामेट्री गुण पाए जाते हैं, ये प्रॉपर्टीज यूरिक एसिड के मरीजों को जोड़ों में दर्द से राहत दिलाते हैं

Uric Acid Home Remedies: शरीर में जब किडनी सुचारू रूप से फिल्टर करने में सक्षम नहीं रह जाती है तब यूरिक एसिड बढ़ जाता है। वहीं, प्यूरीन नाम का प्रोटीन भी यूरिक एसिड के स्तर को बढ़ाने के लिए जिम्मेदार होता है। ये प्रोटीन हमारे शरीर में खुद-ब-खुद तो बनते ही हैं, साथ में प्यूरीन कुछ फूड आइटम्स में भी मौजूद होते हैं। शरीर में जब यूरिक एसिड अधिक मात्रा में बनने लगता है तो इससे लोग कई बीमारियों से पीड़ित हो जाते हैं। गठिया रोग, जोड़ों में दर्द, गाउट (एक प्रकार का गठिया) और सूजन जैसी गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं का एक आम कारण यूरिक एसिड का बढ़ना भी माना जाता है। ऐसे में बॉडी में से यूरिक एसिड को कम करने के लिए डॉक्टर्स दवाइयों के साथ जीवन-शैली में बदलाव और हेल्दी डाइट को फॉलो करने की सलाह भी देते हैं। यूरिक एसिड के मरीजों के लिए जूस पीना भी फायदेमंद साबित हो सकता है।

यूरिक एसिड में कच्चा पपीता: कच्चे पपीते में एंटी-ऑक्सीडेंट्स और एंटी-इंफ्लामेट्री गुण पाए जाते हैं। ये प्रॉपर्टीज यूरिक एसिड के मरीजों को जोड़ों में दर्द से राहत दिलाते हैं। इसके अलावा, इस फल में विटामिन सी भी प्रचुर मात्रा में मौजूद होता है। हाई यूरिक एसिड से पीड़ित लोगों को डॉक्टर्स विटामिन सी युक्त भोजन को डाइट में शामिल करने की सलाह देते हैं। वहीं, पपीता में फाइबर भी काफी मात्रा में पाया जाता है। पर्याप्त मात्रा में इसके सेवन से लोगों का वजन भी जल्दी नहीं बढ़ता है जिससे यूरिक एसिड हाई होने का खतरा कम होता है।

बनाने की विधि: 2 लीटर साफ पानी को बर्तन में डालकर उबाल लें। एक मध्यम आकार के कच्चा पपीता को धोकर उसके अंदर से बीज निकाल लें। अब पपीते को छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें और इन्हें उबलते हुए पानी में डाल कर 5 मिनट तक उबालें। फिर इसमें 2 चम्मच ग्रीन टी मिलाकर उबालें। पानी को छान कर ठंडा करें और दिन भर इसी पीते रहें।

इनका भी कर सकते हैं सेवन: हेल्थ एक्सपर्ट्स यूरिक एसिड के मरीजों को ज्यादा से ज्यादा पेय पदार्थ का इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं। खूब पानी पीयें और आप छांछ और कई दूसरे फलों के जूस भी पी सकते हैं। गाजर और चुकंदर का जूस पीने से भी शरीर में पीएच लेवल बढ़ता है जिससे कि यूरिक एसिड की मात्रा कम होती है। जोड़ों के दर्द और सूजन को कम करने के लिए भी इसका सेवन फायदेमंद होता है। इसके अलावा, खीरे के जूस में उच्च मात्रा में पोटैशियम और फॉस्फोरस होता है। यह दोनों पोषक तत्व किडनी को ड‍िटॉक्स करने में मदद करता है और यूरिक एसिड के स्तर को कम करते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 COVID-19: किचन में इन 5 जगहों पर कीटाणुओं के हॉटस्पॉट, FSSAI ने बताया- कैसे करें इनसे बचाव…
2 डायबिटीज के मरीजों के लिए अंजीर है फायदेमंद, इसके और भी हैं कई लाभ
3 आरोग्य सेतु ऐप नहीं तो छोड़नी पड़ेगी फ्लाइट, 4 फिट की दूरी जरूरी, पढ़ें- AAI की पूरी गाइडलाइन