ताज़ा खबर
 

सिर दर्द दूर करने में रामबाण माने जाते हैं ये योगासन, बाबा रामदेव से जानिये क्या हैं फायदे

Headache Home Remedies: शीतकारी प्राणायाम सिर दर्द की समस्या से तुरंत निजात दिलाने में मददगार माना गया है

headache, yoga, baba ramdev, migraine, headache treatment, headache causeसिर दर्द या फिर माइग्रेन के दर्द से निजात दिलाने में अनुलोम-विलोम प्राणायाम को बेहद कारगर माना गया है

Yogasanas for Headache: कई बार जब आपको तय समय पर कोई काम पूरा करना हो और तभी सिर में दर्द होने लगे तो उससे ज्यादा परेशानी कभी नहीं होती है। वैसे तो सिर दर्द से छुटकारा दिलाने के लिए कई पेन किलर्स मौजूद हैं, लेकिन ज्यादा दवाई खाने से भी शरीर पर खराब असर पड़ता है। आमतौर पर सिर में दर्द की परेशानी को लोग हल्के में लेते हैं। मगर कई बार ये समस्या गंभीर रूप ले लेती है। अधिक तनाव, थकान, देर तक भूखे रहना, कम सोना आदि के कारण हमें सिरदर्द की परेशानी हो सकती है। अगर सिर दर्द आपके डेली रूटीन का हिस्सा है तो हर बार दवा खाना आपके लिए घातक साबित हो सकता है। ऐसे में बाबा रामदेव द्वारा बताए गए कुछ योगासन कारगर साबित होंगे।

भ्रामरी: बाबा रामदेव के अनुसार भ्रामरी आसन को करने से सिर दर्द व माइग्रेन की परेशानी से निजात मिल सकती है। सबसे पहले सुखासन अथवा पद्मासन के मुद्रा में बैठ जाएं। अब गहरी सांस लें और अपनी 3 उंगलियों से आंखों को बंद करें। साथ ही अंगूठे से कान बंद करें। इसके साथ ही, मुंह को बंदकर ‘ऊं’ का नाद करें। इस प्राणायाम को 3 से 21 बार कर सकते हैं।

शीतली: इस योगासन को करने के लिए सर्वप्रथम सुखासन की अवस्था में बैठें। सीधे बैठकर जीभ को बाहर निकालकर सांस लें। उसके उपरांत दाएं नाक से हवा बाहर निकालें। 5 से 10 मिनट तक आप इस योग का अभ्यास कर सकते हैं।

अनुलोम-विलोम: सिर दर्द या फिर माइग्रेन के दर्द से निजात दिलाने में अनुलोम-विलोम प्राणायाम को बेहद कारगर माना गया है। हेडेक के अलावा, ये प्राणायाम तनाव को दूर करने में भी लाभप्रद माना गया है। 15 मिनट के करीब लोग इस योग का अभ्यास कर सकते हैं। योग गुरु इस बीच ओमकार व गायत्री मंत्र का ध्यान करना भी फायदेमंद होगा।

शीतकारी: शीतकारी प्राणायाम सिर दर्द की समस्या से तुरंत निजात दिलाने में मददगार माना गया है। इस आसान को करने का तरीका बेहद आसान होता है। इस योग को करते वक्त होंठ खुले रखें और दांत बंद रखें। जीभ को दांत के पीछे लगाएं और धीरे-धीरे सांस अंदर लेकर मुंह बंद करें। थोड़ी देर सांस रोक कर रखें फिर दाएं नाक से हवा बाहर छोड़ें और बाएं से सांस लें।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 सोडा से लेकर पास्ता तक, डायबिटीज के मरीजों के लिए घातक हो सकते हैं फूड आइटम्स
2 अजवाइन पानी से लेकर नारियल पानी, ये 5 घरेलू पेय पदार्थ यूरिक एसिड को कम करने में मददगार
3 पोषक तत्वों की कमी से बढ़ जाती है होंठ फटने की समस्या, जानिये कैसे करें बचाव
ये पढ़ा क्या?
X