scorecardresearch

डायबिटीज मरीजों के लिए ये सफेद चीजें बन सकती हैं जहर, जानिए किन चीजों से बना लेनी चाहिए दूरी

Diabetes Diet Tips: चीनी, स्टार्च और फाइबर से भरपूर चीजों का अधिक मात्रा में सेवन डायबिटीज के मरीज के लिए हानिकारक साबित हो सकता है।

diabetes, blood sugar
शुगर के मरीज़ ब्लड शुगर को कंट्रोल करने के लिए एक्सरसाइज जरूर करें। (फोटो- इंडियन एक्सप्रेस)

मधुमेह एक ऐसी गंभीर बीमारी है जिसमें पीड़ित व्यक्ति का ब्लड शुगर या ब्लड ग्लूकोज बढ़ता रहता है। मधुमेह लाइलाज है इसे केवल स्वस्थ जीवनशैली और खानपान में बदलाव करके ही नियंत्रित किया जा सकता है। अब सवाल यह उठता है कि ब्लड शुगर को कंट्रोल करने के लिए डायबिटीज के मरीजों को क्या खाना चाहिए?

विभिन्न खाद्य पदार्थ शरीर को विभिन्न पोषक तत्व प्रदान करते हैं। जाहिर है, मधुमेह रोगी हो या सामान्य व्यक्ति, उसके शरीर के बेहतर कामकाज के लिए प्रोटीन, खनिज, विटामिन और अन्य सभी पोषक तत्व आवश्यक हैं। लेकिन जब कार्ब्स की बात आती है, तो शुगर के मरीजों को इसे कम करने या छोड़ने की सलाह दी जाती है।

हालांकि, भोजन में तीन मुख्य प्रकार के कार्बोहाइड्रेट होते हैं: स्टार्च, ग्लूकोज यानि शुगर और फाइबर। मधुमेह वाले लोगों के लिए स्टार्च और शर्करा सबसे बड़ी समस्या है क्योंकि शरीर उन्हें ग्लूकोज में तोड़ देता है। इसी तरह रिफाइंड कार्ब्स, या रिफाइंड स्टार्च, प्लेटों तक पहुंचने से पहले प्रसंस्करण के माध्यम से टूट जाते हैं। इस वजह से, शरीर उन्हें जल्दी से अवशोषित कर लेता है और ग्लूकोज में बदल देता है। इससे ब्लड शुगर बढ़ जाता है।

पास्ता: सॉस, क्रीम, पनीर और ढेर सारे मक्खन से बनाया जाता है। इससे आपको 1,000 कैलोरी, 75 ग्राम फैट और करीब 100 ग्राम कार्बोहाइड्रेट मिलता है। यह सभी प्रकार के आटे से बनाया जाता है जो रक्त शर्करा को बढ़ा सकता है। इससे मोटापे का खतरा भी बढ़ जाता है।

मैदा: विटामिन, खनिज और फाइबर की मात्रा कम होने के साथ ही मैदा में करीब 73.9% स्टार्च पाया जाता है। जबकि मधुमेह के रोगियों के लिए मैदे से बनी किसी भी चीज का सेवन हानिकारक हो सकता है। आटे का अधिक सेवन कब्ज से जुड़ा होता है। गेहूं के आटे का ग्लाइसेमिक इंडेक्स बहुत ज्यादा होता है। यह मधुमेह और मोटापे से पीड़ित रोगियों के लिए उपयुक्त नहीं है।

चावल: डायबिटीज के मरीजों के लिए चावल का अधिक सेवन करना काफी हानिकारक साबित हो सकता है. वहीं, इसके ज्यादा सेवन से टाइप 2 डायबिटीज का खतरा दो गुना तक बढ़ सकता है। अगर आप प्री-डायबिटिक हैं तो भी ज्यादा चावल खाना नुकसानदायक है। इसका अधिक मात्रा में सेवन करने से ब्लड शुगर भी बढ़ सकता है।

आलू का सेवन: आलू का सेवन आम तौर पर सभी को पसंद होता है, लेकिन इसमें स्टार्च, प्रोटीन और फाइबर की मात्रा अधिक होती है, इसलिए इसका सेवन मधुमेह के रोगी के लिए हानिकारक साबित होता है. वहीं, आलू के अधिक सेवन से भी शुगर लेवल बढ़ सकता है। इसलिए अधिक मात्रा में आलू से परहेज करना चाहिए।

पढें हेल्थ (Healthhindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

X