ताज़ा खबर
 

उम्र बढ़ने के साथ मेटाबॉलिज्म रखना है बेहतर तो कभी न छोड़ें ब्रेकफास्ट, डाइट में शामिल करें ये चीजें

मेटाबॉलिज्म यानी कि चायपचय का बेहतर रहना शारीरिक स्वास्थ्य के लिए बेहद आवश्यक है। हमारी पाचन संबंधी गतिविधियां मेटाबॉलिज्म पर ही निर्भर हैं।

उम्र बढ़ने के साथ-साथ मेटाबॉलिज्म रेट कम होता जाता है।

मेटाबॉलिज्म यानी कि चायपचय का बेहतर रहना शारीरिक स्वास्थ्य के लिए बेहद आवश्यक है। हमारी पाचन संबंधी गतिविधियां मेटाबॉलिज्म पर ही निर्भर हैं। उम्र बढ़ने के साथ-साथ मेटाबॉलिज्म रेट कम होता जाता है। ऐसे में पाचन संबंधी दिक्कतों का आना सामान्य है। आज हम आपको कुछ ऐसे टिप्स के बारे में बताने जा रहे हैं जो उम्र बढ़ने के साथ-साथ मेटाबॉलिज्म को बेहतर बनाने में मदद करती हैं।

1. मसालेदार भोजन – कई अध्ययनों में यह बात साबित हुआ है कि ज्यादा मसालेदार खाना खाने से मेटाबॉलिज्म पर बेहतर असर होता है। गत वर्ष के एक शोध में दावा किया गया था कि मिर्च और काली मिर्च का सेवन मेटाबॉलिज्म को तो बेहतर बनाता ही है साथ ही साथ यह वजन को बढ़ने से भी रोकता है। कुछ रिसर्च में कहा गया है कि एक ग्राम मिर्च आपकी भूख को रोकने में मदद कर सकती है। एक अन्य शोध की मानें तो 5 ग्राम मिर्च 30 मिनट में तकरीबन 20 प्रतिशत तक मेटाबॉलिज्म बूस्ट करने का काम करती है।

2. डाइट में शामिल करें प्रोटीन – प्रोटीन शरीर की मांसपेशियों को मेंटेन रखता है। यह शरीर से अतरिक्त फैट को बर्न करने में भी मदद करता है। ऐसे लोग जो ज्यादा मात्रा में प्रोटीन लेते हैं उनका मेटाबॉलिक रेट बेहतर देखा गया है।

3. कभी न छोड़ें ब्रेकफास्ट – कई अध्ययनों में यह बात कही गई है कि प्रोटीन से भरपूर ब्रेकफास्ट आपको दिन भर कुछ न कुछ खाते रहने की जरूरत से मुक्त रखता है। एक ब्रिटिश अध्ययन में बताया गया है कि जो लोग सोकर उठने से दो घंटे बाद नाश्ता करते हैं उनमें दिन भर ज्यादा कैलोरी बर्न करने की संभावना होती है।

4. खूब पानी पिएं – शरीर की हर तरह के रोगों से बचाव का सबसे आसान तरीका है कि खूब पानी पिया जाए। दिन भर में कम से कम 7-8 गिलास पानी पीना हर वयस्क व्यक्ति के लिए जरूरी होता है। खूब पानी पीना मेटाबॉलिज्म रेट को दुरुस्त करने में भी मददगार होता है। ज्यादा पानी पीने से भूख कम लगती है और यह ज्यादा खाने की संभावना को भी नियंत्रित करती है। इस वजह से मेटाबॉलिज्म बेहतर बना रहता है। कमरे के तापमान पर गर्म पानी सेहत के लिए ज्यादा बेहतर होता है।


Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 सिर्फ फल ही नहीं केले के फूल और तने भी होते हैं ‘पौष्टिक’, हर्ट अटैक और कैंसर से करते हैं बचाव
2 सर्दियों में जानलेवा हो सकती है अलाव से निकलने वाली कॉर्बन मोनो ऑक्साइड
3 सर्दियों में इस वजह से हाथ-पैर पड़ जाते हैं सुन्न, इन उपायों से हो सकता है बचाव