ताज़ा खबर
 

Uric Acid को कम करने में रामबाण हैं गर्मियों के ये फल, जानिये डाइट में शामिल करने का तरीका

Uric Acid Home Remedies: गाजर में विटामिन ए और एंटी-ऑक्सीडेंट्स मौजूद होते हैं जो यूरिक एसिड को कंट्रोल करने में सक्षम हैं, ये जोड़ों में दर्द से भी राहत दिलाते हैं

Uric Acid, uric acid home remedy, uric acid diet, uric acid symptomsSummer fruits for uric acid patients:गर्मियों के मौसम में मिलने वाले ये फल खाने से हो सकता है यूरिक एसिड के मरीजों को लाभ

Uric Acid Home Remedies: शरीर के जोड़ों और टिश्यूज में यूरिक एसिड की अधिकता से कई लोगों को गाउट नाम की बीमारी हो जाती है। इस बीमारी में लोगों को पैर के अंगूठे के पास सूजन के साथ पूरे पैर में दर्द की शिकायत भी होती है। इसके अलावा, यूरिक एसिड बढ़ने से शरीर के कई हिस्से प्रभावित होते हैं। गठिया रोग, जोड़ों में दर्द, गाउट और सूजन जैसी गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं का एक आम कारण यूरिक एसिड का बढ़ना भी माना जाता है। यूरिक एसिड की अधिकता होने पर किडनी भी सुचारू रूप से फिल्टर करने में सक्षम नहीं रह जाती। यूरिक एसिड एक ऐसा केमिकल है जो शरीर में तब बनता है जब शरीर प्यूरीन (purine) नामक केमिकल का संसाधन करता है यानि उसको छोटे-छोटे टुकड़ों में तोड़ता है। ऐसे में गर्मियों के मौसम में मिलने वाले ये फल खाने से हो सकता है यूरिक एसिड के मरीजों को लाभ-

केला: केला पोटाशियम का एक समृद्ध स्रोत है। इसमें मौजूद पोटाशियम यूरिक एसिड को पेशाब के माध्यम से बाहर निकालने में मदद करता है। इसके साथ ही केला में प्रोटीन की मात्रा कम होती है, बता दें कि यूरिक एसिड की शरीर में अधिकता होने पर कम प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थ खाने की सलाह दी जाती है। वहीं, केला खाना यूरिक एसिड के क्रिस्टलाइजेशन को रोकने में भी सहायक है। इसके अलावा, डॉक्टर्स गठिया के मरीजों को भी केला खाने की सलाह देते हैं।

गाजर: गाजर में विटामिन ए और एंटी-ऑक्सीडेंट्स मौजूद होते हैं जो यूरिक एसिड को कंट्रोल करने में सक्षम हैं। इसके अलावा, ये शरीर के फ्री रेडिकल्स को कंट्रोल करने में भी मददगार होते हैं। साथ ही जोडों के दर्द और सूजन को कम करने के लिए भी गाजर का सेवन फायदेमंद होता है। आप चाहें तो गाजर का जूस बनाकर भी सेवन कर सकते हैं।

आम: आम खाने से ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहता है, बता दें कि यूरिक एसिड के मरीजों को उच्च रक्तचाप का खतरा अधिक होता है। वहीं, इसे खाने से वजन कम करने में भी मदद मिलती है। मोटापा को यूरिक एसिड के बढ़ने का एक बड़ा कारण माना जाता है। इसके अलावा, आम में एंटी-ऑक्सीडेंट्स मौजूद होते हैं जो मरीजों को होने वाले दर्द को कम करते हैं। हालांकि, आम को फल के रूप में खाना सबसे बेहतर होता है, इसके अलावा आप इसकी स्मूदी भी बना सकते हैं। मरीजों को मैंगो शेक का सेवन कम करना चाहिए।

सेब: सेब में मैलिक एसिड होता है जो यूरिक एसिड को इनैक्टिव करने में मददगार होता है। रोजाना 2 से 3 सेब खाने से शरीर में यूरिक एसिड के स्तर को कंट्रोल किया जा सकता है। इसके अलावा, सेब का सिरका भी मरीजों के लिए फायदेमंद होता है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 थायरॉयड के मरीजों के लिए मददगार साबित हो सकते हैं ये डाइट टिप्स, जानिये
2 बार-बार लगती है भूख तो हो सकते हैं लो ब्लड शुगर के शिकार, जानें लक्षण और बचाव के तरीके
3 COVID-19: बगैर लॉकडाउन सिर्फ मास्क से रोका जा सकता है कोरोना का संक्रमण, रिसर्च में दावा
राशिफल
X