ताज़ा खबर
 
title-bar

फेफड़ों के खराब होने का संकेत हो सकते हैं ये 5 लक्षण

आज हम आपको कुछ ऐसे लक्षणों के बारे में बताने वाले हैं जिनकी मदद से आप यह जान सकेंगे कि आपका फेफड़ा सही नहीं है

प्रतीकात्मक चित्र

हमारी शारीरिक कार्यप्रणाली में किसी भी तरह का बदलाव देखते ही हमें पता चल जाता है कि हमारे फलां अंग में किसी तरह की समस्या है। जैसे- यूरीन का रंग पीला देखते ही हम समझ जाते हैं हमारी किडनी ठीक नहीं। इसी तरह छाती में दर्द से पता चल जाता है कि दिल में कुछ तो गड़बड़ है लेकिन क्या हमारे फेफड़ों के साथ भी यही स्थिति है? फेफड़े हमारे शरीर का एक अहम हिस्सा है जो रक्त वाहिनियों को रक्त पहुंचाता है। ज्यादातर लोग उसकी सेहत के प्रति बहुत उदासीन होते हैं। फेफड़े में किसी भी तरह की दिक्कत आने से सांस संबंधी समस्या या फिर टीबी का शिकार होना पड़ सकता है। ऐसे में अपने फेफड़े की सुधि लेते रहना बहुत जरूरी है। आज हम आपको कुछ ऐसे लक्षणों के बारे में बताने वाले हैं जिनकी मदद से आप यह जान सकेंगे कि आपका फेफड़ा सही नहीं है और फिर आप उसका उचित इलाज करवा सकते हैं।

सांस फूलना – अगर आप टहलते हुए, सीढ़ियां चढ़ते हुए या फिर कोई छोटा-मोटा श्रम करते हुएं हांफने लगते हैं तो इसका मतलब है कि आपके फेफड़ों में सब कुछ सही नहीं है। कई बार तो ऐसा होता है कि बिस्तर पर लेटे-लेटे भी सांस फूलने लगती है। यह फेफड़े की किसी गंभीर समस्या के लक्षण हैं। अगर ठीक समय पर इलाज न कराया जाए तो इससे सांस संबंधी गंभीर बीमारी का खतरा बढ़ जाता है।

बहुत ज्यादा बलगम बनना – अगर खांसते वक्त बहुत ज्यादा कफ निकलता है तो यह भी फेफड़े की गंभीर बीमारी का सूचक है। इसके अलावा अगर आपको तीन महीने से ज्यादा समय से खांसी आ रही है तो यह ब्रोंकाइटिस के लक्षण हो सकते हैं।

छाती में दर्द – छाती में दर्द अक्सर दिल संबंधी बीमारियों का लक्षण होता है लेकिन अगर आप छींकते, खांसते या फिर सांस लेते हुए छाती में दर्द महसूस करें तो यह फेफड़ों में वायरस के संक्रमण का संकेत हो सकता है।

सांस लेने में तकलीफ – अगर आप अपने फेफड़ों से किसी तरह की घरघराहट महसूस कर रहे हैं तो यह लंग डिसफंक्शन का संकेत हो सकता है। लंग्स में ऑक्सीजन की ठीक तरह से आपूर्ति न हो पाने की वजह से या फिर गंदगी या बैक्टीरिया के कारण धमनियों के ब्लॉक हो जाने की वजह से इस तरह की समस्या सामने आती है।

लगातार खांसी आना – खांसी आना सर्दी, बुखार और गले में किसी भी तरह की दिक्कत आने के दौरान सामान्य है लेकिन अगर आप 8 हफ्ते से लगातार खांस रहे हों तो यह ब्रोंकाइटिस, अस्थमा, निमोनिया या टीबी के लक्षण हो सकते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App