ताज़ा खबर
 

छींक से नहीं मिल रही राहत, अपनाएं ये नुस्खे, तुरंत मिलेगा छुटकारा

ऐसा नहीं है कि केवल सर्दी-जुकाम होने पर ही छींक आती हो, बल्कि छींक आने के कई कारण हो सकते हैं।

छींक आना हमारे शरीर की सेहत के लिए अच्छा संकेत भी होता है।

जब आप किसी के साथ बात कर रहे हों या फिर किसी मीटिंग में हों, ऐसे में अगर लगातार छींक आए तो माहौल थोड़ा सा असहज हो सकता है। छींक आना हमारे शरीर की सेहत के लिए अच्छा संकेत भी होता है। यह शरीर की रक्षात्मक प्रतिक्रिया की तरह काम करता है। जब भी कोई बैक्टीरिया हमारे नाक में प्रवेश करता है तब हमारा दिमाग उसकी प्रतिक्रिया देता है। छींक आना एक शारीरिक प्रक्रिया है जिसे संचालित करने में वोकल कार्ड और उदर मांसपेशियां भी भाग लेती हैं।

ऐसा नहीं है कि केवल सर्दी-जुकाम होने पर ही छींक आती हो, बल्कि छींक आने के कई कारण हो सकते हैं। कुछ शोध बताते हैं कि आंखों की पलकों के टूटने पर भी किसी को छींक आ सकती है। इसके अलावा कुछ लोगों को चॉकलेट से एलर्जी होती है, जिस वजह से उन्हें छींक आती है। ऐसे में कुछ उपाय आजमाकर आप छींक से तुरंत छुटकारा पाया जा सकता है।

HOT DEALS
  • Sony Xperia XA Dual 16 GB (White)
    ₹ 15940 MRP ₹ 18990 -16%
    ₹1594 Cashback
  • Honor 9 Lite 64GB Glacier Grey
    ₹ 13975 MRP ₹ 16999 -18%
    ₹2000 Cashback

साइट्रस फ्रूट्स – छींक आने का सबसे बेहतर इलाज साइट्रस फ्रूट्स होते हैं। संतरा, नींबू, अंगूर और बहुत से फल साइट्रस फ्रूट्स के अंतर्गत आते हैं। इनमें एंटी-ऑक्सीडेंट्स भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं जो हमारे शरीर के प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत बनाने में हमारी मदद करते हैं। सर्दी-जुकाम फैलाने वाले बैक्टीरिया से लड़ने में ये फल काफी मददगार होते हैं।

आंवला – एंटी-ऑक्सीडेंट्स और एंटी-बैक्टीरियल गुणों से भरपूर आंवला इम्यूनिटी के लिए बेहतर होता है। दो या तीन आंवला प्रतिदिन खाने से छींकने की समस्या से निजात पाया जा सकता है।

काली इलायची – काली इलायची सेहत के लिए कितना फायदेमंद है, यह हम सभी जानते हैं। छींक से छुटकारा पाने के लिए दिन में दो या तीन बार काली इलायची चबाएं। इससे छींक में काफी लाभ मिलता है।

अदरक – अदरक में एंटी-सेप्टिक गुण पाए जाते हैं। तीन इंच अदरक के टुकड़े को 2 चम्मच शहद के साथ मिलाकर पानी के साथ उबालें। रोज सोने से पहले इस मिश्रण की चुस्कियां आपको छींक की समस्या से तुरंत राहत दिलाती हैं।

तुलसी – तुलसी चिकित्सकीय गुणों का भंडार है। एक कप पानी में तीन-चार तुलसी की पत्तियां उबालकर पीने से सर्दी-जुकाम में काफी लाभ मिलता है। तुलसी में एंटी बैक्टीरियल प्रॉपर्टी होती है, जो खतरनाक संक्रमण से हमारी रक्षा करती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App