ताज़ा खबर
 

स्कैबीज से नहीं मिल रही राहत, अपनाएं ये प्राकृतिक नुस्खे

स्कैबीज एक संक्रामक बीमारी है जो किसी भी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने पर आसानी से आपको भी हो सकती है।

खुजली से बचने के तमाम ऐसे नुस्खे हैं जो स्कैबीज में आपको राहत दे सकते हैं

स्कैबीज एक संक्रामक बीमारी है जो किसी भी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने पर आसानी से आपको भी हो सकती है। यह किसी भी उम्र के लोगों को हो सकती है काफी सफाई से रहने वाले लोग भी इससे पीड़ित हो सकते हैं। घुन जब किसी की त्वचा की परत को भेदते हुए अंदर चली जाती है तब स्कैबीज की समस्या उत्पन्न होती है। इसके अलाव किसी भी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से भी त्वचा का यह संक्रमण आपको अपना शिकार बना सकता है। स्कैबीज होने पर त्वचा पर काफी खुजली होती है, जो रात के समय गंभीर रूप ले लेती है। खुजली की वजह से त्वचा पर फफोले पड़ जाते हैं तथा प्रभावित जगह पर घाव भी बन जाता है।

स्कैबीज के सबसे आसान शिकार बच्चे होते हैं। इनके संक्रमण के लिए बच्चों की त्वचा काफी संवेदनशील होती है। यूं तो स्कैबीज से बचने के लिए कोई घरेलू नुस्खा नहीं होता लेकिन खुजली से बचने के तमाम ऐसे नुस्खे हैं जो स्कैबीज में आपको राहत दे सकते हैं। आज हम आपको ऐसे ही कुछ घरेलू नुस्खों के बारे में बताने जा रहे हैंः

नीम – नीम एक बहु गुणकारी आयुर्वेदिक औषधि है। नीम की पत्तियों और हल्दी को मिलाकर बनाए गए पेस्ट स्कैबीज से काफी राहत देते हैं। इसके अलावा नीम का तेल भी इस समस्या से निजात दिलाने में काफी उपयोगी है।

लौंग का तेल – लौंग के तेल में एंटी- बैक्टीरियल प्रॉपर्टी होती है। यही इसे स्कैबीज के इलाज के लिए महत्वपूर्ण बनाती है। शुद्ध लौंग का तेल प्रयोग करने की बजाय उसमें नारियल तेल मिलाकर दो-तीन हफ्ते तक नहाने से पहले त्वचा पर लगाने से स्कैबीज में काफी राहत मिलती है।

हल्दी – हल्दी और नीम के पेस्ट के बारे में हम ऊपर बात कर चुके हैं। उसके अलावा एक चम्मच हल्दी में कुछ बूंदें नींबू के रस की मिलाकर बनाए गए पेस्ट से भी स्कैबीज में आराम पाया जा सकता है। इस पेस्ट को त्वचा पर लगाकर कुछ देर के लिए छोड़ दें और बाद में पानी से धो लें।

एलोवेरा – त्वचा की औषधियों में एलवेरा सबसे पॉपुलर हर्ब माना जाता है। एलोवेरा का ताजा जैल स्कैबीज से प्रभावित त्वचा पर लगाकर आधे घंटे के लिए छोड़ दें। बाद में इसे गुनगुने पानी से धो लें। दिन में दो या तीन बार इसे इस्तेमाल करने से स्कैबीज से काफी आराम मिलता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App