ताज़ा खबर
 

गले में दर्द, खराश और सूजन को दूर करने में कारगर माने गए हैं ये घरेलू नुस्खे, आप भी जानिये

Throat Infection Remedies: जिन लोगों को गले में दर्द और निगलने में परेशानी होती है उन्हें रात को सोने से पहले गरारा करना चाहिए

गले की खराश को दूर करने में शहद को भी मददगार माना जाता है

Sore Throat Home Remedies: मौसम बदलने के साथ लोगों को कई स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतें भी होने लगती हैं। बदलते मौसम में गले में दर्द और खराश की परेशानी होने लगती है। इस कोरोना काल में सर्दी-खांसी जैसी मामूली परेशानी भी लोगों को सकते में डाल देती है। गले में दर्द और सूजन को भी स्वास्थ्य विशेषज्ञ कोरोना का एक लक्षण मानते हैं। गले में इंफेक्शन होने पर कुचकुचाहट और दर्द जैसी दिक्कतें होने लगती हैं। इतना ही नहीं, इससे पीड़ित लोगों को भोजन निगलने में दिक्कत होने लगती है। हालांकि, इससे छुटकारा पाने के लिए लोग कुछ घरेलू नुस्खों का इस्तेमाल कर सकते हैं –

गले में खराश के कारण जानिये: गले में दर्द और खराश आमतौर पर वायरल संक्रमण के कारण होता है। कई बार सर्दी-जुकाम होने पर भी ये परेशानी उत्पन्न होती है। इसके अलावा, बैक्टीरियल इंफेक्शन, एलर्जी, पॉल्यूशन, गैस्ट्रोइसोफेगल रिफ्लक्स और ज्यादा जोर से चिल्लाने से भी गले में दर्द होने लगता है।

काली मिर्च का करें सेवन: काली मिर्च में एंटी-ऑक्सीडेंट्स और एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण होते हैं जो सर्दी-जुकाम और गले में खराश की परेशानी को दूर करता है। हेल्थ एक्सपर्ट्स का मानना है कि इसे खाने से गला साफ होता है और दर्द गायब हो जाता है।

शहद है सहायक: गले की खराश को दूर करने में शहद को भी मददगार माना जाता है। इसमें एंटी-बायोटिक तत्व पाए जाते हैं जो मरीजों के लिए लाभकारी सिद्ध होता है। साथ ही, शहद यूज करने से गले की कोटिंग हो जाती है जिससे खराश की परेशानी कम होती है। एक्सपर्ट्स के अनुसार दिन में 2 बार शहद का सेवन करने से गले को आराम मिलता है।

सोते समय इससे करें गरारा: जिन लोगों को गले में दर्द और निगलने में परेशानी होती है उन्हें रात को सोने से पहले गरारा करना चाहिए। सबसे पहले दो गिलास पानी को बर्तन में डालकर गैस पर चढ़ाएं। फिर उसमें आधा चम्मच हल्दी और इतने ही मात्रा में सेंधा नमक मिलाएं। 10 मिनट तक उबलने दें और फिर इससे सोने से पहले और सुबह उठने के बाद गरारा करें।

पीयें हल्दी वाला दूध: हल्दी दूध एंटी-सेप्टिक के रूप में कार्य करता है, साथ ही ये एक नैचुरल एंटी-बायोटिक भी होता है। गले की खराश दूर करने के साथ ही हल्दी दूध सूजन और दर्द को दूर करने में भी सहायक है।

Next Stories
1 Diabetes के मरीजों के लिए किसी औषधि से कम नहीं माना जाता है तेजपत्ता, जानें कैसे करें यूज
2 Corona काल में इम्युनिटी बढ़ाने में मददगार है डार्क चॉकलेट, जानें केंद्र ने क्या दिये दूसरे सुझाव
3 शरीर में यूरिक एसिड बढ़ने से अगर आ रही है हाथ-पैरों पर सूजन, तो अपना सकते हैं ये घरेलू उपाय
ये  पढ़ा क्या?
X