X

आर्थराइटिस के मरीज हैं तो अपना कर देखें ये फूड हैबिट, मिल सकता है लाभ

अर्थराइटिस यानी गठिया जोड़ों की बीमारी है। यह बीमारी हड्डियों के जोड़ों पर होती है। इसमें हड्डियों के जोड़ों में सूजन आ जाती है, जिससे रोगी को शरीर के इन हिस्सों में दर्द होता है और चलने-फिरने में समस्या आती है।

अर्थराइटिस यानी गठिया जोड़ों की बीमारी है। यह बीमारी हड्डियों के जोड़ों पर होती है। इसमें हड्डियों के जोड़ों में सूजन आ जाती है, जिससे रोगी को शरीर के इन हिस्सों में दर्द होता है और चलने-फिरने में समस्या आती है। आर्थराइटिस के 100 से भी ज्यादा प्रकार हैं। इनमें सबसे ज्यादा होने वाली बीमारी ऑस्टियोआर्थराइटिस है। गठिया होने के प्रमुख कारणों में मांसाहारी, मिर्च-मसालेदार, शराब पीना, कुपोषण, परिश्रम के बाद या धूप-गर्मी से आने पर तुरंत ठंडा पानी पीना, बढ़ी उम्र, व्यायाम न करना या बहुत अधिक व्यायाम करना, संधियों में यूरिक एसिड का जमा होना आदि हो सकते हैं। आजकल चिकनगुनिया बुखार भी जोड़ो के दर्द और गठिया का कारण बन गया है। आइए जानते हैं अर्थराइटिस में कैसी होनी चाहिए आपकी डाइट।

क्या खाएं

लहसुन: अर्थराइटिस की वजह से ब्लड में यूरिक एसिड बहुत अधिक मात्रा में बढ़ जाता है। लहसुन के रस के प्रभाव से यूरिक एसिड गलकर तरल रूप में मूत्रमार्ग से बाहर निकल जाता है।

संतरा: इसमें विटामिन सी होता है जो कि स्‍वास्‍थ्‍य वर्धक कोलाजिन होता है। विटामिन सी से हड्डियां मजबूत बनती हैं।

प्याज: खाएं इसमें एसपिरिन के मुकाबले एक रसायन होता है जो दर्द को गायब कर देता है।

ओट्स: अर्थराइटिस के रोगियों के लिए गेहूं, जई, मक्का, राई, जौ, बार्ली, बाजरा, कनारी बीज आदि अनाजो का सेवन लाभदायक होता है।

क्या न खाएं

सोयाबीन तेल: सोयाबीन के तेल में काफी मात्रा में फैट होता है जो हड्डियों में सूजन पैदा कर सकता है।

मीठा: अर्थराइटिस के मरीजों को मीठी चीजों से दूरी बनाए रखनी चाहिए, क्योंकि यह घुटनो के नुकसानदायक साबित हो सकता है। ज्यादा मीठा खाने से वजन बढ़ता है और घुटनों में दर्द पैदा होता है।

टमाटर: हमारे शरीर के लिए बहुत फायदेमंद है, क्‍योंकि इसमें विटामिन और मिनरल भरपूर मात्रा में मौजूद होता है, लेकिन यह अर्थराइटिस के दर्द को बढ़ाता भी है।

दूध से बनी चीजें: दुध से बनी चीजें जैसे पनीर, बटर में कुछ ऐसे प्रोटीन होते हैं जो जोड़ों के आसपास मौजूद ऊतकों को प्रभावित करते हैं, इसकी वजह से जोड़ों का दर्द बढ़ सकता है। कैल्शियम की पूर्ति के लिए फलों और सब्जियों का सेवन करें।