ताज़ा खबर
 

लॉकडाउन के स्ट्रेस को कम करने में मददगार हैं ये फूड आइटम्स, जानिये- कैसे हैं फायदेमंद

Foods to avoid Stress: जंक फूड को स्वस्थ खाने से बदलने से न केवल शारीरिक शक्ति बल्कि मानसिक शांति भी मिलती है

Coronavirus, Covid 19, Coronavirus problems, Coronavirus and stress, Coronavirus and depression, stress in people due to Coronavirus, Coronavirus stress, how to avoid stress during Coronavirus, tips to avoid stress, foods to avoid stress, food tips to avoid stress, healthy food habits, coronavirus patients in india, Coronavirus Prevention, Coronavirus Precaution, coronavirus ka ilaaj, coronavirus causes, coronavirus symptoms, coronavirus india, coronavirus india update, coronavirus tips, coronavirus vaccine, coronavirus stats, coronavirus tallyऐसा माना जाता है कि शरीर का डाइजेस्टिव और मेंटल हेल्थ आपस में जुड़ा रहता है

Foods to avoid Stress: कोरोना वायरस के इस दौर में जिस तरह लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना जरूरी, ठीक उसी तरह अपने मेंटल हेल्थ का ख्याल रखना और स्ट्रेस लेवल को मैनेज करना भी आवश्यक है। दुनिया भर में महामारी बनकर उभरे घातक वायरस का प्रकोप लोगों में तनाव की वजह बन रहा है। ऐसे में इस समय पॉजिटिव सोचना और हेल्दी खाना खाना जरूरी है। जंक फूड को स्वस्थ खाने से बदलने से न केवल शारीरिक शक्ति बल्कि मानसिक शांति भी मिलती है। हालांकि, खाने से पहले एक मील चार्ट बनाना भी जरूरी है जिसमें हर तरह के पोषण तत्व शामिल हों। आइए जानते हैं कि अवसाद यानि कि डिप्रेशन को कम करने के लिए कौन से फूड आइटम्स जरूरी हैं-

इस तरह के चाय को डाइट में करें शामिल: हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार इस दौरान आप ज्यादा से ज्यादा पानी पीयें ताकि शरीर हाइड्रेटेड रहे। पानी के अलावा, चाय पीना भी मेंटल हेल्थ के लिए फायदेमंद है। चाय पीने से डी-स्ट्रेस करने में और अच्छी नींद में मदद मिलती है। विशेषज्ञों के अनुसार फ्लेवनॉयड्स और एंजियॉलिटिक तत्व युक्त खाद्य उत्पाद के सेवन से अच्छी व आरामदायक नींद आती है।

इसके अलावा, मोरिंगा चाय का सेवन भी तनाव और डिप्रेशन को कम करने में फायदेमंद है। उसमें मौजूद प्राकृतिक तत्व टरिगोस्पर्मिन (Pterygospermin) सेंट्रल नर्वस सिस्टम को शांत करने में कारगर है। वहीं, हिबिस्कस यानि कि गुड़हल के फूल से बनी चाय में भी सिडेटिव, एंटी-डिप्रेसेंट और एंजियालाइटिक गुण पाए जाते हैं। हिबिस्कस में जो फ्लेवनॉयड्स होते हैं वो घबराहट, बेचैनी, अवसाद, बैड कोलेस्ट्रॉल और ब्लड प्रेशर को कम रखने में मदद करता है।

फाइबर को दें अधिक महत्व: स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार शरीर में फाइबर की पूर्ति बहुत जरूरी है। प्रॉपर डाइजेशन और कब्ज की परेशानी से छुटकारा दिलाने के लिए भी डाइट में फाइबर युक्त भोजन का होना आवश्यक है। ऐसा माना जाता है कि शरीर का डाइजेस्टिव और मेंटल हेल्थ आपस में जुड़ा रहता है। ऐसे में पाचन तंत्र को मजबूत बनाने वाले खाद्य पदार्थों को डाइट में शामिल करें जिससे लोग मानसिक व भावनात्मक रूप से भी स्वस्थ रहें। दाल, ओट्स, राई, बारले और बेरीज जैसी चीजों को नियमित रूप से डाइट का हिस्सा बनाएं।

नट्स और सीड्स को बनाएं डाइट का हिस्सा: प्रोटीन और हेल्दी फैट को प्रोमोट करते हैं ये दोनों ही खाद्य पदार्थ। नट्स और सीड्स को स्ट्रेस बस्टिंग स्नैक्स के तौर पर भी इस्तेमाल किया जाता है। नियमित रूप से फ्लैक्स सीड्स, बादाम और अखरोट खाने से शरीर को अतिरिक्त मात्रा में एनर्जी मिलती है। इसके अलावा, चीनी कम खाकर ग्रेनोला बार जैसे स्वास्थ्यवर्धक विकल्पों का इस्तेमाल करने से आपको न ही बार-बार भूख लेगी और न ही चिड़चिड़ाहट होगी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कोरोना काल में हॉस्पिटल जाना अगर हो जरूरी तो इन बातों का रखें खास ख्याल
2 डायबिटीज के मरीजों के लिए रामबाण है अदरक का पानी, जानिये इस्तेमाल का सही तरीका
3 COVID-19: तनाव की वजह भी बन रहा है कोरोना वायरस, एक्सपर्ट से जानें- इससे बचाव का तरीका
IPL 2020 LIVE
X