ताज़ा खबर
 

पेट, कान और आंखों के लिए रामबाण है गिलोय, इन बीमारियों में मिलेगी राहत

गिलोय की पत्तियों में भरपूर मात्रा में कैल्शि‍यम, प्रोटीन, फॉस्फोरस और और तनों में स्टार्च मौजूद होता है। जो शरीर के लिए काफी लाभकारी होता है।

गिलोय (Source: You Tube)

गिलोय में मौजूद औषधीय गुणों की वजह से कई बीमारियों में काफी कारगर माना जाता है। इसे अमृता, गुडुची, छिन्नरुहा और चक्रांगी जैसे कई नामों से भी जाना जाता है। गिलोय की पत्तियों में भरपूर मात्रा में कैल्शि‍यम, प्रोटीन, फॉस्फोरस और और तनों में स्टार्च मौजूद होता है। जो शरीर के लिए काफी लाभकारी होता है। गिलोय के इस्तेमाल से शरीर को कई रोगों से लड़ने की शक्ति मिलती है और ब्लड सर्कुलेशन ठीक रहता है। इसके इस्तेमाल से बल्ड प्रेशर की समस्या भी ठीक होती है। इसके अलावा गिलोय में मौजूद एंटीबायोटिक और एंटीवायरल तत्‍व पेट, कान और आंखों के लिए फायदेमंद होते हैं। आइए आज हम गिलोय से जुड़ी कुछ रोचक बातों और फायदों से आपको रूबरू कराते हैं।

पेट के लिए : गिलोय पेट के लिए किसी रामबाण से कम नहीं है। इसके पत्तों के रस को शहद के साथ मिलाकर पीने से पेट की कई समस्याओं से छुटकारा पाया जा सकता है। गिलोय में मौजूद एंटीबायोटिक गुण पेट के लिए काफी कारगर साबित होते हैं।

कान के लिए : गिलोय कान के दर्द में चमत्कारी तरीके से लाभ पहुंचाता है। इसके इस्तेमाल के लिए गिलोय के पत्तों का रस निकाल लें और हल्का गुनगुना करें। इस रस को कान में डालने से दर्द ठीक होता है। इसके अलावा गिलोय के गुनगुने रस की कुछ बूंदें कान में डालने से कान की सफाई भी हो जाएगी।

आंखों के लिए : जिन लोगों को आंखों में हल्का धुंधलापन या रोशनी कमजोर हो, उनके लिए गिलोय का इस्तेमाल बेहद फायदेमंद होता है। इसके इस्तेमाल के लिए गिलोय के पत्तों को पीसकर आंखों के पर लगाएं या गिलोय के रस का सेवन करें। कुछ ही दिनों फर्क नजर आने लगेगा।

पीलिया रोग के लिए : गिलोय की पत्तियों और तने को पीसकर चुर्ण बना लें और काली मिर्च या त्रिफला के साथ एक चम्मच शहद मिलाकर सेवन करें। इससे पीलिया रोग में राहत मिलेगी। इसके अलावा गिलोय के एक चम्मच रस को एक गिलास छाछ में मिलाकर सुबह के समय पीएं, इससे भी पीलिया के रोगियों को फायदा होगा।

डायबिटी रोग के लिए : गिलोय का सेवन करने से डायबिटीज के रोगियों को फायदा होता है। गिलोय के पत्तों को पानी में उबालकर पीने से लाभकारी परिणाम सामने आते हैं और शरीर में ब्लड सर्कुलेशन ठीक रहता है।

पथरी : जिन लोगों ने हाल ही में पथरी का ऑपरेशन कराया है उनके लिए गिलोय का सेवन काफी फायदेमंद होता है। एक बार पथरी होने पर दोबारा पथरी होने की संभावना बनी रहती है लेकिन गिलोय के सेवन से दोबारा पथरी होने की संभावना नहीं होती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App