COVID-19: कोरोना वायरस के इन लक्षणों को न करें नजरअंदाज, जानिये कब पड़ती है हॉस्पिटल में एडमिट होने की जरूरत

कोविड-19 के नए लक्षणों की पहचान कर पाना काफी कठिन हो सकता है। तो ऐसे में हम आपको बताएंगे की किन समस्याओं के होने पर आपको तुरंत अस्पताल का रुख करना चाहिए।

Coronavirus, Covid-19, Corona Case in India, Covid-19 Case, Health Ministry , Lockdown, Corona Lockdown, Weekend Lockdown,कोरोना वायरस, कोविड-19, भारत में कोरोना केस, कोविड-19 केस, स्वास्थ्य मंत्रालय, लॉकडाउन, कोरोना लॉकडाउन,राजधानी दिल्ली से लेकर महाराष्ट्र तक कोविड के मामलों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। (express file photo)

कोरोनावायरस देश में एक बार फिर से अपना कहर बरपा रहा है। कोविड-19 की इस चौथी लहर में लगातार मौत के आंकड़े बढ़ते जा रहे हैं, जो काफी खौफनाक है। यह खतरनाक महामारी बार-बार अपने लक्षण बदल रही है। इसके लक्षणों की जांच में अभी भी वैज्ञानिक जुटे हुए हैं। संक्रमण की इस चौथी लहर में कोविड-19 मरीजों को नए लक्षणों का अनुभव हो रहा है। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ की नई रिपोर्ट में दावा किया गया है कि लगभग आधे रोगियों में ये लक्षण पाए गए हैं।

कोरोनावायरस केवल बुजुर्गों और बच्चों के लिए खतरनाक नहीं हैं। बल्कि, यह उनके लिए भी खतरनाक है, जो लोग हेल्दी हैं। कोविड-19 के नए लक्षणों की पहचान कर पाना काफी कठिन हो सकता है। तो ऐसे में हम आपको बताएंगे की किन समस्याओं के होने पर आपको तुरंत अस्पताल का रुख करना चाहिए।

-सांस लेने में दिक्कत: कोरोनावायरस एक सांस की बीमारी है। यह संक्रमण ऊपरी हिस्से की स्वस्थ कोशिकाओं पर हमला करता है। इस बीमारी की चपेट में आने वाले लोगों को सांस लेने में दिक्कत समेत सीने में दर्द जैसी समस्याएं हो सकती हैं। अगर आपका बहुत ही जल्दी सांस फूल रहा है, या फिर थोड़ा चलने पर भी आपको काफी थकावट महसूस हो रही है, तो यह खतरे की निशानी हो सकती है।

इसके साथ ही आपको सांस लेने और छोड़ने में परेशानी हो रही है। तो ऐसे में आपको तुरंत संक्रमण को बिगड़ने से रोकने के लिए डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।

-ऑक्सीजन लेवल में गिरावट: वैसे तो जब आप किसी भी बीमारी की चपेट में आते हैं, तो शरीर में ऑक्सीजन लेवल की कमी होने लगती है। लेकिन कोविड-19 संक्रमण के होने पर आपके शरीर में कोविड निमोनिया भी विकसित हो सकता है, जो फेफड़ों में मौजूद हवा की थैली को नष्ट कर देता है। यह फेफड़ों में पानी और मवाद भर सकता है। जो तेजी से ऑक्सीजन लेवल गिरने का कारण हो सकता है।

ऐसे में अगर आपको सांस लेने में थोड़ी भी तकलीफ हो रही है, तो आपको तुरंत अस्पताल में भर्ती हो जाना चाहिए। साथ ही आपको लगातार अपना ऑक्सीजन लेवल चेक करते रहना चाहिए।

कन्फ्यूजन महसूस करना: कोरोनावायरस महामारी आपके दिमाग और सोचने-समझने की शक्ति को भी प्रभावित करती है। अगर संक्रमण की स्थिति बिगड़ रही है, तो आपमें भ्रम की स्थिति, ज्यादा नींद आना, सुस्ती जैसी समस्याएं पैदा हो सकती हैं। विशेषज्ञों का यह भी कहना है कि अगर मरीज को कोई सरल काम करने में भी दिक्कत हो रही है या फिर अपनी बातें बोलने में समस्या हो रही है, तो उन्हें तत्काल डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।

Next Stories
1 मच्छरों के काटने से शरीर पर पड़ सकते हैं लाल निशान, इन घरेलू उपायों से पाएं छुटकारा
2 शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ने पर भूलकर भी ना करें इन चीजों का सेवन, हो सकता है नुकसान
3 ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने में कारगर हैं ये फूड्स, बढ़ते वजन से भी दिलाएं छुटकारा
ये पढ़ा क्या?
X