ताज़ा खबर
 

एसिडिटी को जड़ से खत्म करने में कारगर माने गए हैं ये आयुर्वेदिक उपाय, जानिये

Acidity Ayurvedic Remedies: दिन में दो बार भोजन से पहले आधा चम्मच आंवला पाउडर का सेवन करने से भी फायदा हो सकता है

आयुर्वेद के अनुसार एसिडिटी की परेशानी कम करने में हरीतकी का सेवन प्रभावी हो सकता है

Acidity Remedies, Ayurvedic Remedies for Acidity: आज के समय में खानपान की गलत आदतों से लोग कुछ पेट संबंधी दिक्कतों से भी दो-चार होते हैं। एसिडिटी भी इन्हीं में से एक है जिसे हिंदी में अम्लपित्त कहते हैं। ये परेशानी बच्चों से लेकर बूढ़ों को जीवन में कभी न कभी जरूर होती है। इसके कारण लोगों को पेट में दर्द, खट्टी डकार, सीने में जलन और असुविधा जैसी परेशानी हो सकती है। स्वास्थ्य विशेषज्ञ बताते हैं कि जिन लोगों को बार-बार ये परेशानी होती है उन्हें गैस्ट्रो इसोफेगल डिजीज का भी खतरा होता है। ऐसे में आइए जानते हैं इससे बचाव के आयुर्वेदिक उपाय –

हरीतकी: आयुर्वेद के अनुसार एसिडिटी की परेशानी कम करने में हरीतकी का सेवन प्रभावी हो सकता है। इसमें पाए जाने वाले तत्व पेट की परेशानियों को दूर करने में सहायक है। विशेषज्ञों के मुताबिक रोजाना सुबह खाली पेट हरीतकी का सेवन करने से पेट की अम्लीयता को दूर किया जा सकता है।

अंजीर: इस मीठे फल में विटामिन-ए, विटामिन-सी, विटामिन-के, पोटेशियम, मैग्नीशियम, कॉपर, जिन्क, मैंगनीज और आयरन जैसे जरूरी पोषक तत्व पाए जाते हैं। सिर्फ एसिडिटी ही नहीं, अंजीर खाने से पेट की अन्य परेशानियां जैसे कि कब्ज, अल्सर और दर्द-सूजन की परेशानी भी दूर हो जाती है। 2 सूखे अंजीर को रात भर भिगए रखें। फिर सुबह सामान्य पानी पीने के बाद इन दोनों अंजीरों को पूरी तरह चबाकर खाएं।

ठंडा दूध: एसिडिटी व पेट संबंधी दिक्कतों को दूर करने में ठंडा दूध भी प्रभावी माना जाता है। जो लोग एसिडिटी से परेशान हैं, उन्हें ठंडे दूध में मिश्री मिलाकर सेवन करना चाहिए।

अजवाइन: एसिडिटी के दौरान गैस्ट्रिक एसिड बनता है। अजवाइन खाने से इस एसिड को कंट्रोल किया जा सकता है। जिन लोगों को ये परेशानी है उन्हें नियमित रूप से आधा चम्मच अजवाइन में एक चुटकी नमक मिलाकर गर्म पानी के साथ इसका सेवन करने से जल्द आराम मिलता है।

दालचीनी: आयुर्वेदिक एक्सपर्ट्स के अनुसार दालचीनी में प्राकृतिक रूप से एंटासिड पाए जाते हैं जो पेट की अम्लीयता को कम करते हैं। साथ ही, पाचन शक्ति को बढाने में भी इसका सेवन कारगर है। हालांकि, चुटकी भर से ज्यादा दालचीनी का सेवन न करें।

Next Stories
1 उच्च रक्तचाप के मरीज भूल से भी न खाएं ये फूड्स, बढ़ सकता है हार्ट डिजीज का खतरा
2 लो ब्लड प्रेशर की है शिकायत तो डाइट में शामिल करें ये 5 फूड्स, कम होगी परेशानी
3 अचानक बढ़ जाए शुगर लेवल तो क्या करें? जानिये कैसे करें इसे कंट्रोल
यह पढ़ा क्या?
X