ताज़ा खबर
 

शुगर, ब्लड प्रेशर और अस्थमा का कारगर इलाज है आम का पत्ता, जानिए और क्या हैं फायदे

आम के पत्ते का इस्तेमाल तमाम तरह के धार्मिक अनुष्ठानों में किया जाता है। लेकिन तमाम तरह के पोषक तत्वों से भरपूर ये कई तरह के रोगों के इलाज में काम आते हैं।

आम के पत्ते में एंटी डाइबिटीक गुण पाया जाता है।

आम फलों का राजा कहा जाता है। गर्मियों के मौसम में होने वाले आम के अनेक स्वास्थ्य संबंधी फायदे होते हैं। मोतियाबिंद, तनाव, मोटापा के साथ साथ कैंसर को भी खत्म करने में आम काफी लाभकारी फल है। आम के फल के अलावा इसके पत्ते के भी इस्तेमाल के अनेक फायदे हैं। आम के पत्ते का इस्तेमाल तमाम तरह के धार्मिक अनुष्ठानों में किया जाता है। लेकिन तमाम तरह के पोषक तत्वों से भरपूर ये कई तरह के रोगों के इलाज में काम आते हैं। इनमें काफी मात्रा में मैगीफेरिन, गैलिन एसिड तथा पॉलीफिनॉल्स जैसे तत्व पाए जाते हैं। डायबिटीज, अस्थमा के साथ-साथ कई और रोगों में आम के पत्ते का प्रयोग काफी लाभदायक होता है। आज हम आपको आम के पत्ते के इस्तेमाल से होने वाले लाभ के बारे में बताने वाले हैं –
श्वांस संबंधी परेशानी में – श्वांस संबंधी दिक्कतों में आम के पत्ते काफी लाभकारी होते हैं। अस्थमा की दिक्कत होने पर आम की पत्तियों का काढ़ा बनाकर पिएं काफी लाभ मिलेगा।

शुगर में – आम के पत्ते में एंटी डाइबिटीक गुण पाया जाता है। यह शुगर को कंट्रोल करने में काम आता है। आम के पत्तों को सुखाकर उसके पाउडर का नियमित सेवन आपके शुगर को कंट्रोल करने में आपकी मदद करता है।

ब्लडप्रेशर में – आम के पत्तों को पानी में उबालकर इससे स्नान करने से ब्लड प्रेशर से छुटकारा मिलता है।

पथरी में – आम के पत्ते पथरी में भी काफी लाभदायक होते हैं। इन पत्तों का पाउडर बनाकर रोजाना सेवन करने से जल्द ही पथरी बाहर निकल जाती है।

हिचकी में – आम के पत्तों का इस्तेमाल हिचकी से निपटने में किया जा सकता है। आम की पत्तियों को उबालकर उससे गरारे करने से हिचकी की समस्या भी दूर हो जाती है।

इंफेक्शन में – आम की ताजा नर्म पत्तियों को तोड़कर रोज सुबह खाली पेट सेवन करने से ट्यूमर से भी छुटकारा पाया जा सकता है। इसके अलावा आम की पत्तियों में एंटी-बैक्टीरियल गुण भी पाए जाते हैं। ये इंफेक्शन से हमारी सुरक्षा करता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App