ताज़ा खबर
 

50 की उम्र के बाद डाइट में जरूर शामिल करें ये 7 फूड्स, कम होगा शरीर में पोषक तत्वों की कमी का खतरा

What to eat after 50 years of age: बीन्स में कैलोरीज की मात्रा बेहद कम होती है, जबकि ये फाइबर और प्रोटीन से भरपूर होता है

मसल्स की ताकत को बरकरार रखने के लिए प्रोटीन की जरूरत होती है जो समुद्री भोजन में प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं

Healthy Diet Plan: बढ़ती उम्र के साथ लोगों का खानपान भी बदल जाता है, जहां युवावस्था में लोग किसी भी तरह के खाने को आसानी से पचा लेते हैं, उम्र बढ़ने के साथ उनकी पाचन प्रणाली कमजोर हो सकती है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना है कि 50 साल की दहलीज पार करने के बाद लोगों को अपनी डाइट के प्रति चुनिंदा हो जाना चाहिए। साथ ही, सुनिश्चित करें कि शरीर में पोषक तत्वों की पूर्ति होती रहे। एक्सपर्ट्स के मुताबिक अच्छी डाइट फॉलो करने से ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहता है, साथ ही डायबिटीज, कैंसर और हार्ट प्रॉब्लम्स का खतरा कम होता है। ऐसे में डाइट में इन 7 फूड्स को शामिल करने से फायदा होगा –

बेरीज: ये फल फाइबर, विटामिन-सी, एंटी-इंफ्लेमेट्री, एंटी-ऑक्सीडेंट्स और फ्लेवनॉयड्स से भरपूर होते हैं। एक्सपर्ट्स के अनुसार 50 से अधिक उम्र के पुरुषों को दिन में 30 ग्राम और महिलाओं को 21 ग्राम बेरीज खाना चाहिए। इसके सेवन से दिमाग सक्रिय रहता है और लोगों की याद्दाश्त बेहतर होती है। इससे कैंसर, डायबिटीज और हार्ट डिजीज का खतरा कम होता है।

हरी पत्तेदार सब्जियां: स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार जैसे-जैसे लोगों की उम्र बढ़ती जाती है उनकी हड्डियां कमजोर होने लगती हैं। इसलिए शरीर को कैल्शियम की अधिक आवश्यकता होती है। इन सब्जियों को खाने से शरीर में पोषक तत्वों की पूर्ति होती है। साथ ही, इसमें प्रचुर मात्रा में फाइबर पाए जाते हैं जो मसल्स के फंक्शन को बेहतर करने और हार्ट को हेल्दी रखने में मदद करते हैं।

सी फूड: मसल्स की ताकत को बरकरार रखने के लिए प्रोटीन की जरूरत होती है जो समुद्री भोजन में प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। साल्मन, कॉड, ट्यूना और टाउट जैसी समुद्री मछलियों में विटामिन बी12 और ओमेगा-3 फैटी एसिड्स पाए जाते हैं जो स्वास्थ्य को बेहतर बनाते हैं। हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक सप्ताह में 2 से 3 बार इनके सेवन से कई बीमारियों को खतरा कम होता है।

नट्स एंड सीड्स: इनमें फाइबर और प्रोटीन प्रचुर मात्रा में पाया जाता है, इसे दोपहर के समय मुट्ठी भर खाना चाहिए।

पनीर: पनीर में कैल्शियम की अधिकता होती है, साथ ही ये वे प्रोटीन का भी बेहतरीन स्रोत होता है जो मांसपेशियों को बेहतर करता है।

दाल और बीन्स: बीन्स में कैलोरीज की मात्रा बेहद कम होती है, जबकि ये फाइबर और प्रोटीन से भरपूर होता है। साथ ही, इसमें आयरन, पोटैशियम और मैग्नीशियम होता है। इसके सेवन से कोलेस्ट्रॉल की मात्रा काबू में रहती है। साथ ही, ये शरीर में सोडियम 41 फीसदी तक कम कर सकता है।

पानी: 50 साल के बाद सेहत अच्छी बनी रहे, इसके लिए खूब पानी पीते रहें। इससे शरीर में मिनरल्स की कमी नहीं होती है और बॉडी हाइड्रेटेड भी रहता है।

Next Stories
1 कई हेल्थ प्रॉब्लम्स का निदान है बादाम, एक गिलास दूध में 2 बादाम डालकर पीने के ये हैं फायदे
2 खाली पेट इन चीजों को खाने से शुगर लेवल रहेगा कंट्रोल, डायबिटीज के मरीज जरूर करें ट्राय
3 गर्मियों में ज्यादा लहसुन खाने से हो सकता है नुकसान, उल्टी-दस्त और सीने में जलन कर सकती है परेशान
ये  पढ़ा क्या?
X