ताज़ा खबर
 

इन 5 बीमारियों से ग्रस्त लोगों को नहीं खाना चाहिए बादाम, हो सकता है फायदे की जगह नुकसान

Badam khane ke nuksan: आमतौर पर किडनी स्टोन से पीड़ित मरीजों को खानपान में बेहद सतर्कता अपनाने की सलाह दी जाती है

badam khane ke nuksan, almonds side effects, almond limitations, almond limitations in Hindiबादाम में मौजूद फैट और कैलोरीज अगर शरीर में अधिक मात्रा में पहुंचने लगे तो इससे वजन बढ़ने की शिकायत हो सकती है

Almonds Side effects: हर व्यक्ति का शरीर अलग होता है और विभिन्न परिस्थितियों में अलग-अलग प्रतिक्रिया देता है। खाने-पीने के मामले में भी यही चीज लागू होता है, जरूरी नहीं है कि सभी फूड्स हर किसी को सूट करे। ड्राय फ्रूट्स भी हर इंसान के लिए लाभकारी हो ये आवश्यक नहीं है। बादाम स्वास्थ्य गुणों का खजाना माना जाता है। कई बीमारियों से दूर रखने और उसके प्रभाव को कम करने में ये सहायक है। लेकिन हर किसी के लिए बादाम उपयुक्त नहीं है। आइए जानते हैं कि किन्हें बादाम नहीं खाना चाहिए –

जिन लोगों का पाचन कमजोर है: स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक जो लोग पाचन संबंधी दिक्कतों से गुजर रहे हैं, उन्हें बादाम खाने से बचना चाहिए। इस सूखे मेवे की तासीर ग्रम होती है, साथ ही बादाम उच्च फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ है। बता दें कि कई लोगों का शरीर फाइबर को पचाने में असमर्थ होता है, ऐसे में उन्हें इसके सेवन से परहेज करना चाहिए। इस वजह से पेट में सूज-दर्दन, गैस, कब्ज और दस्त जैसी परेशानियां हो सकती हैं।

ब्लड प्रेशर रोगी: बादाम में प्रचुर मात्रा में मैंग्नीज पाए जाते हैं जो यूं तो सेहत के लिए लाभकारी हैं, लेकिन इसकी अधिकता शरीर के नुकसानदायक साबित हो सकता है। बता दें कि शरीर में मैग्नीज की मात्रा बढ़ने से ब्लड प्रेशर और एंटीबायोटिक्स की दवाइयों का असर कम होता है।

अधिक वजनदार लोग: बादाम में मौजूद फैट और कैलोरीज अगर शरीर में अधिक मात्रा में पहुंचने लगे तो इससे वजन बढ़ने की शिकायत हो सकती है। ऐसे में जो लोग शारीरिक रूप से ज्यादा सक्रिय नहीं होते हैं या मोटे लोगों को ज्यादा बादाम नहीं खाना चाहिए।

पथरी के मरीज: आमतौर पर किडनी स्टोन से पीड़ित मरीजों को खानपान में बेहद सतर्कता अपनाने की सलाह दी जाती है। खासकर जिन फूड्स में ऑक्सलेट मौजूद होता है, उन्हें खाने से बचना चाहिए। बादाम में ऑक्सलेट मौजूद होते हैं, ऐसे में इसके अधिक सेवन से किडनी में स्टोन फॉर्म हो सकते हैं।

माइग्रेन पेशेंट: स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना है कि माइग्रेन रोगियों को बादाम का सेवन करने से बचना चाहिए। इसमें भरपूर मात्रा में विटामिन ई पाया जाता है जिसकी अधिकता से लोगों को सिरदर्द, चक्कर व थकान की दिक्कत हो सकती है।

Next Stories
1 बच्चे भी हो सकते हैं लिवर की इस बीमारी के शिकार, जानें बचाव के लिए किन बातों का रखें ध्यान
2 जोड़ों में दर्द-सूजन कम करने में मददगार है शिमला मिर्च, यूरिक एसिड कम करने के लिए ऐसे करें डाइट में शामिल
3 Diabetes रोगी रोज पीयें जौ का पानी, ब्लड शुगर कंट्रोल करने में मिलेगी मदद, जानें बनाने का तरीका
यह पढ़ा क्या?
X