scorecardresearch

हार्ट ब्लॉकेज ख़त्म करने में रामबाण से कम नहीं ये 5 फल, देखिये

चुकंदर का सेवन करने से हार्ट ब्लॉकेज की आशंका को बहुत कम होती है।

हार्ट ब्लॉकेज ख़त्म करने में रामबाण से कम नहीं ये 5 फल, देखिये
संतरे, नींबू की तरह खट्टे रसीले जितने भी फल होते हैं, वे दिल से संबंधित बीमारियों के जोखिम को कम करने में बहुत सहायक है। photo-freepik

दिल की धड़कन जिस वक्त बंद हुई, जिंदगी भी उसी वक्त खत्म हुई। लम्बी उम्र के लिए सेहत सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है। जिंदा रहने के लिए दिल की सेहत का दुरुस्त रहना जरूरी है। आधुनिक जीवनशैली जिस तरह से हमारी सेहत के साथ खिलवाड़ कर रही है, उसमें दिल का ख्याल रखना बेहद जरूरी है।

दरअसल, गलत खान-पान की वजह से दिल की धमनियों में चर्बी या चिपचिपा पदार्थ जमा होने लगता है जो धीरे-धीरे गुच्छा में बदलने लगता है। यह दिल तक खून को सही तरह से जाने से रोकता है, जिसके कारण दिल पर दबाव बढ़ता है, और हम दिल से संबंधित कई बीमारियों का शिकार हो जाते हैं। इसी के परिणामस्वरूप में हार्ट में ब्लॉकेज होने लगता है। अगर सही समय पर सही इलाज नहीं किया गया तो मौत तय है। तो आखिर क्या करना चाहिए कि हार्ट ब्लॉकेज का सामना ही न करना पड़े। यहां हम ऐसे पांच फलों के बारे में बता रहे हैं जो हार्ट ब्लॉकेज को होने ही नहीं देंगे।

बेरीज:

अपने देश में बेरीज में जामुन और स्ट्रॉबेरी प्रमुख बेरीज है। इसके अलावा ब्लूबेरी, रसबेरी आदि भी। इस श्रेणी में हम अंगूर को भी रख सकते हैं। दरअसल, बैरीज में एंटीऑक्सीडेंट्स की प्रचूर मात्रा पाई जाती है। इसके अलावा यह विटामिन, मिनिरल्स और प्लांट कंपाउड से भरपूर होता है। बैरीज से बैड कोलेस्ट्रॉल कम होता है और ब्लड प्रेशर तथा शुगर लेवल को कंट्रोल करता है। इसका सेवन करने से दिल की सेहत दुरुस्त रहती है।

टमाटर:

टमाटर सिर्फ सब्जी में ही डालने की चीज नहीं है। अलग से इसका सेवन करने से यह हार्ट ब्लॉकेज की समस्या को भी कम करता है। इसमें कई प्रकार के प्लांट कंपाउड पाए जाते हैं जो एथेरोस्केलेरोसिस के जोखिम को कम करता है। इसमें मौजूद लाइकोपेन हार्ट में ब्लॉकेज के जोखिम को कम करता है।

खट्टे रसीले फल:

संतरे, नींबू की तरह खट्टे रसीले जितने भी फल होते हैं, वे दिल से संबंधित बीमारियों के जोखिम को कम करने में बहुत सहायक है। साइट्रस फलों में मौजूद फ्लेवोनॉएड्स शरीर को फ्री रेडिकल्स से बचाता है। इसमें कई तरह के एंटीऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं। ये सब मिलकर बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करता है।

बीट या चुकंदर:

चुकंदर नाइट्रेड का बहुत बड़ा स्रोत है। शरीर में नाइट्रिक ऑक्साइड की बहुत बड़ी भूमिका होती है। यह शरीर के लिए बेहद जरूरी है। नाइट्रिक ऑक्साइड के कारण शरीर में सूजन बनने की आशंका बहुत कम हो जाती है। यह ब्लड वेसल्स में सूजन को कम करने में सहायक है। इसलिए यह हार्ट ब्लॉकेज की आशंका को बहुत कम करता है।

अखरोट:

अखरोट के बारे में तो हम सब जानते हैं कि यह दिल और दिमाग दोनों के लिए बेहद फायदेमंद है। इसमें प्रोटीन, फाइबर, हेल्दी फैट्स, विटामिन, मिनिरल्स आदि मौजूद होता है। इसके अलवा ओमेगा एसिड की मौजूदगी इसकी गुणवत्ता को और अधिक बढ़ा देती है। यही कारण कि अखरोट दिल की सेहत के लिए रामबाण है।

पढें हेल्थ (Healthhindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.