ताज़ा खबर
 

सेहत का आईना होती हैं आंखें, ऐसे देखकर लगाइए पता कि आप बीमार तो नहीं!

अपनी आंखों में देखकर आप पता लगा सकते हैं कि आप पूरी तरह से स्वस्थ हैं या नहीं, आपको कोई बीमारी तो नहीं है या फिर आप किसी बीमारी के शिकार तो नहीं होने वाले हैं।

प्रतीकात्मक चित्र

आंखें मन का दर्पण होती हैं। आपने कई बार इस पंक्ति को पढ़ा-सुना होगा। यह सच भी है और एक सच यह भी है कि आंखें सेहत का भी दर्पण होती हैं। अपनी आंखों में देखकर आप पता लगा सकते हैं कि आप पूरी तरह से स्वस्थ हैं या नहीं, आपको कोई बीमारी तो नहीं है या फिर आप किसी बीमारी के शिकार तो नहीं होने वाले हैं। आज हम आपको ऐसी है कुछ लक्षणों के बारे में बताने वाले हैं जो दिखाई तो केवल आपकी आंखों पर देते हैं लेकिन आपकी पूरी सेहत का प्रतिबिंब होते हैं।

1. डार्क सर्कल्स – डार्क सर्कल्स यानी कि आंखों के नीचे का कालापन केवल स्किन से संबंधित कोई समस्या नहीं है। कई बार यह कुछ गंभीर रोगों की ओर इशारा करती है। डार्क सर्कल्स कमजोरी की निशानी होते हैं। सामान्यतः यह थायरॉयड या फिर खून में लाल रक्त कणिकाओं की कमी की ओर संकेत करते हैं।

2. रूखी आंखें- आंखों में रूखापन हो और खुजली भी हो रही हो तो यह किसी तरह के दवा के साइड इफेक्ट्स की निशानी हो सकती है। इसके अलावा यह शरीर में विटामिन ए की कमी का भी संकेत हो सकती है। आजकल लोगों का ज्यादातर समय मोबाइल या फिर कंप्यूटर पर बीतता है। यह भी आंखों के रूखेपन का कारण हो सकते हैं।

3. आंखों का लाल हो जाना – अक्सर भयानक क्रोध की निशानी मानी जाने वाली लाल आंखें संक्रमण, ग्लूकोमा, आंखों में गंदगी आदि की भी परिणति हो सकती हैं। अगर बहुत ज्यादा आराम करने के बाद भी आपकी आंखों में दिक्कत हो, किसी तरह का दबाव महसूस हो या फिर सिर में हल्का दर्द हो तो आपको तुरंत नेत्र-विशेषज्ञ से संपर्क करना चाहिए।

4. आंखों के आसपास सूजन – आंखों के चारों ओर सूजन का होना अक्सर सोडियम का अधिक मात्रा में सेवन करने की निशानी है। नमक सोडियम का मुख्य स्रोत होता है। अगर आपकी आंखों के आस-पास सूजन हो तो पोटैशिम से भरपूर चीजों का सेवन कीजिए और खूब पानी पीजिए।

5. आंखों में पीलापन – पीलिया या फिर लीवर की परेशानी का संकेत होती हैं पीली आंखें। जब भी कभी आपकी आंखों का सफेद भाग पीला दिखने लगे तो सावधान हो जाएं। कैंसर के भी कुछ मामले ऐसे होते हैं जिनमें आंखों तथा चेहरे पर पीलापन आ जाता है।


Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App