High Blood Pressure कंट्रोल करने में रामबाण माने जाते हैं ये 5 आसान उपाय

हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक उच्च रक्तचाप से ग्रस्त मरीजों को अपने खानपान के प्रति सावधानी बरतनी चाहिए

high blood pressure chart, blood presure
अगर लोग अपने वजन को एक किलो भी घटाते हैं तो इससे उनका ब्लड प्रेशर 1 mm Hg तक कम हो सकता है

Hypertension Remedy: हाई ब्लड प्रेशर या हाइपरटेंशन एक ऐसी परेशानी जिसमें लक्षण जल्दी समझ नहीं आते हैं। यही वजह है कि लोगों को पता नहीं चल पाता है कि वो बीपी के मरीज हैं। लंबे समय तक ब्लड प्रेशर हाई रहने से कई जानलेवा बीमारियों का खतरा पैदा होता है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक हृदय रोग की प्रमुख वजहों में से एक हाई ब्लड प्रेशर भी है। यही वजह है कि उच्च रक्तचाप को साइलेंट किलर कहते हैं और इसका कंट्रोल में रहना अति आवश्यक है। हालांकि, अपनी लाइफस्टाइल में हेल्दी बदलाव लाकर लोग बीपी पर काबू पाना चाहते हैं।

कम लें नमक की मात्रा: हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक उच्च रक्तचाप से ग्रस्त मरीजों को अपने खानपान के प्रति सावधानी बरतनी चाहिए। नमक ब्लड प्रेशर को बढ़ाता है, ऐसे में हाइपरटेंशन के मरीजों के लिए इसका सेवन नुकसानदायक हो सकता है। यही वजह है कि नमक को दिन भर में कितनी मात्रा में लेना है इस बात का ध्यान रखें। एक्सपर्ट्स के मुताबिक रोजाना 1500 एमजी से अधिक नहीं लेना चाहिए।

वजन घटाना है जरूरी: स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक वजन और रक्तचाप का सीधा संबंध होता है। जैसे ही वजन बढ़ने लगता है उसी तरह से ब्लड प्रेशर भी बढ़ जाता है। एक अध्ययन के मुताबिक अगर लोग अपने वजन को एक किलो भी घटाते हैं तो इससे उनका ब्लड प्रेशर 1 mm Hg तक कम हो सकता है। साथ ही, हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों को अपने कमर की चर्बी पर भी ध्यान देना चाहिए। विशेषज्ञों के मुताबिक पुरुषों की वेस्टलाइन 40 इंच से कम और महिलाओं में 35 इंच वेस्टलाइन होना चाहिए।

नियमित व्यायाम: एक्सपर्ट्स के मुताबिक नियमित रूप से व्यायाम करने से हार्ट ज्यादा ब्लड पंप करता है और इससे आर्टरीज पर प्रेशर कम होता है। विशेषज्ञों के अनुसार रोजाना केवल 30 मिनट टहलने से ही ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहता है। कोशिश करें लिफ्ट की जगह सीढ़ी का इस्तेमाल करें। ड्राइव करने की बजाय चलकर जाएं। डांसिंग, स्विमिंग और साइकलिंग करें।

पोटैशियम की खुराक बढ़ाएं: ब्लड प्रेशर के मरीजों को अपनी डाइट में ज्यादा मात्रा में पोटैशियम युक्त फूड्स शामिल करना चाहिए। बता दें कि ये पोषक तत्व शरीर से सोडियम को यूरिन के जरिये फ्लश आउट करता है। साथ ही, ब्लड वेसल्स की टेंशन को कम करने में भी मददगार है। इसलिए डाइट में केला, हरी पत्तेदार सब्जियां. बीन्स, ड्राय फ्रूट्स और बीटरूट खाएं।


एल्कोहल और कैफीन का सेवन कम कर दें: हाइपरटेंशन के मरीजों को शराब और कैफीन के सेवन से बचना चाहिए। एक्सपर्ट्स के मुताबिक लोग जितना ज्यादा शराब पीयेंगे, उनका ब्लड प्रेशर उतना अधिक हो जाएगा। एल्कोहल नर्वस सिस्टम को प्रभावित करता है जिससे शरीर में कोर्टिसोल की मात्रा बढ़ जाती है। परिणामस्वरूप ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है।

पढें हेल्थ समाचार (Healthhindi News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट
X