ताज़ा खबर
 

त्वचा में आए ये 4 बदलाव करते हैं डायबिटीज की ओर इशारा, जानिये

Diabetes Symptoms: ब्लड शुगर अधिक होने के कारण सर्कुलेशन कमजोर होती है और नसें भी डैमेज होने लगती हैं

diabetes, diabetes symptoms, Undiagnosed Diabetes, diabetes effects on bodyकोहनी, घुटना, ग्रोइन, गर्दन या फिर आर्मपिट में धब्बे होना भी डायबिटीज की ओर इशारा करता है

Diabetes Early Symptoms: मधुमेह एक जीवन शैली से जुड़ा रोग है। इस बीमारी को साइलेंट किलर भी कहा जाता है क्योंकि इसके लक्षणों को पहचानने से पहले ही शरीर पर धावा बोल देता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना है कि ये ऐसी बीमारी है जिसके गंभीर होने पर शरीर के दूसरे हिस्से भी इससे प्रभावित होने लगते हैं। डायबिटीज को जड़ से खत्म करना संभव नहीं है लेकिन इसे नियंत्रण में रखकर लोग नॉर्मल जिंदगी जी सकते हैं। एक रिपोर्ट के अनुसार साल 2030 तक भारत में 9.8 करोड़ लोग टाइप 2 डायबिटीज के घेरे में होंगे। ऐसे में जरूरी है कि इस बीमारी से जुड़े लक्षणों को शुरुआती समय में पहचान लिया जाए। इससे मामला गंभीर होने से पहले रोका जा सकता है। आइए जानते हैं कि स्किन पर इस बीमारी के क्या लक्षण दिखाई देते हैं।

त्वचा हो जाती है मोटी: अगर लोगों को अपनी उंगली या फिर अंगूठे की स्किन मोटी नजर आने लगे तो उन्हें अपना ब्लड शुगर जरूर चेक करवाना चाहिए। इस स्थिति को चिकित्सीय शब्दावली में डिजिटल स्क्लेरोसिस कहते हैं, जिसमें त्वचा टाईट और मोम की परत जैसी नजर आने लगती है। ये उंगलियों के पीछे वाले हिस्से में आमतौर पर देखे जाते हैं। ये आपकी बाजुओं तक फैल सकते हैं। कई बार गंभीर मामलों में पीठ के ऊपरी हिस्से, कंधे व गर्दन तक में दिखाई देते हैं।

धब्बा व ड्रायनेस: कोहनी, घुटना, ग्रोइन, गर्दन या फिर आर्मपिट में धब्बे होना भी डायबिटीज की ओर इशारा करता है। इस बीमारी में स्किन ड्राय हो सकती है, साथ ही लोगों को उसमें खुजली की समस्या भी हो सकती है।

ज्यादा निकल आते हैं ब्लिस्टर्स: ब्लिस्टर्स यानी कि फोड़े यूं तो हर किसी को कभी न कभी जीवन में परेशान करते हैं। लेकिन अगर आपको आए दिन इस परेशानी से जूझना पड़ता है, तो लोगों को अपना ब्लड शुगर का स्तर जांच करवाना चाहिए। इस बीमारी के कारण लोगों के हाथ-पैर पर फोड़े निकल आते हैं। हालांकि, ब्लड शुगर बढ़ने के कारण होने वाली इस परेशानी में दर्द न के बराबर ही होता है। वहीं, दिखने में ये फोड़े किसी जले हुए निशान की तरह लगते हैं।

पैरों की त्वचा भी होती है प्रभावित: पैरों में सूजन, जलन, दर्द, घाव और इंफेक्शन भी ब्लड शुगर बढ़ने का एक लक्षण माना जाता है।

ब्लड शुगर अधिक होने के कारण सर्कुलेशन कमजोर होती है और नसें भी डैमेज होने लगती हैं। इसके अलावा, रक्त में ग्लूकोज की अधिकता से बैक्टीरिया के पनपने का खकतरा भी बढ़ जाता है। ऐसे में जो लोग शरीर में ज्यादा घाव और मुंह में छाले होने से परेशान हैं, वो अपने रक्त शर्करा के स्तर की जांच करा लें। ये घाव व छाले डायबिटिक अल्सर हो सकते हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 गन्ने के जूस से लेकर ग्रीन टी तक, लिवर को हेल्दी रखने में कारगर माने जाते हैं ये ड्रिंक्स
2 घंटों बैठे रहना या ज्यादा खाना, ये 5 अनजानी आदतें बना सकती हैं डायबिटीज का शिकार
3 इन 4 हर्बल चाय को सिर दर्द और माइग्रेन से तुरंत निजात दिलाने में माना जाता है कारगर, जानिये
यह पढ़ा क्या?
X