Uric Acid: घर में ही मौजूद है यूरिक एसिड को कंट्रोल करने का तरीका, बस डाइट में कर लें ये 5 बदलाव…

यूरिक एसिड जब अधिक बढ़जाता है तब वह गाउट का रूप ले लेता है। यूरिक एसिड को कंट्रोल करने के लिए आप घर पर कुछ आसान तरीकों का इस्तेमाल कर सकते हैं। आइए जानते हैं उन उपायों के बारे में-

Uric Acid, uric acid foods, uric acid treatment, uric acid treatment at home, uric acid test, uric acid pain, uric acid levels, uric acid symptoms, uric acid diet, uric acid diet chart in hindi, uric acid diet chart, uric acid diet plan, uric acid diet in hindi
यूरिक एसिड कंट्रोल करने के लिए डाइट में ये चीजें शामिल करें

यूरिक एसिड की समस्या लोगों के बीच बढ़ते जा रही है। इसकी वजह अनहेल्दी लाइफस्टाइल और डाइट है। यह किसी भी उम्र के लोगों को हो सकता है। यूरिक एसिड बढ़ने से लोगों को कई अन्य स्वास्थ्य समस्या होने का खतरा भी बढ़ जाता है। यह समस्या तब बढ़ जाती है जब किडनी अपने फिल्टर करने की क्षमता कम कर देता है। यूरिक एसिड जब अधिक बढ़ जाता है तब वह गाउट का रूप ले लेता है। गाउट होने पर जोड़ों में दर्द और सूजन होने लगता है, जो कई बार असहनीय हो जाता है। यूरिक एसिड को कंट्रोल करने के लिए आप घर पर कुछ आसान तरीकों का इस्तेमाल कर सकते हैं। आइए जानते हैं उन उपायों के बारे में-

मछली खाएं: मछली में एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण होता है जो स्वास्थ्य की कई समस्याओं के लिए बेहतर होता है। कुछ शोधों ने कुछ मछलियों को विशेष रूप से यूरिक एसिड के स्तर को कम करने में मददगार पाया है। इसके अलावा मछली गाउट के कारण होने वाले जोड़ों के दर्द को भी कम करता है।

नींबू पानी पिएं: रोजाना नींबू पानी पीना ना सिर्फ वजन कम करने में मदद करता है, बल्कि यूरिक एसिड को भी कंट्रोल करता है। नींबू पानी यूरिक एसिड को न्यूट्रीलाइज करता है जो उसे शरीर में कम करने में मदद करता है। साथ ही गाउट की समस्या को होने से भी रोकता है।

अदरक: अदरक में एंटी-इंफ्लेमेट्री और एंटीऑक्सीडेंट होता है जो यूरिक एसिड को कंट्रोल करने में मदद करता है। रोजाना एक गिलास अदरक वाला पानी पीना यूरिक एसिड के लेवल को नियंत्रित करने में मदद करता है। साथ ही जोड़ों के दर्द और सूजन से भी राहत दिलाता है।

केला: केला में पोटेशियम होता है जो यूरिक एसिड को शरीर में कंट्रोल करने में मदद करता है। साथ ही यूरिक एसिड के लक्षणों को भी कम करने में मदद करता है। इसके अलावा जोड़ों में होने वाले दर्द और सूजन से राहत दिलाता है।

सेंधा नमक: सेंधा नमक में मैग्निशियम होता है जो गाउट के खतरे को कम करता है और यूरिक एसिड को भी शरीर में बढ़ने से रोकता है। रोजाना नहाने वाले पानी में सेधा नमक मिलाएं, यह आपके दर्द और सूजन को कम करने में मदद करेगा।

पढें हेल्थ समाचार (Healthhindi News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट