scorecardresearch

Jaundice: मानसून में बढ़ जाता है पीलिया का खतरा, इन 3 देशी फ़ूड्स से किडनी का रखें ख्याल

मानसून में भोजन और पानी बहुत जल्दी संक्रमित हो जाते हैं और अगर आप गलती से संक्रमित पानी या भोजन का सेवन कर लेते हैं, तो सबसे पहले किडनी और लिवर प्रभावित होते हैं।

Jaundice: मानसून में बढ़ जाता है पीलिया का खतरा, इन 3 देशी फ़ूड्स से किडनी का रखें ख्याल
पीलिया के मरीज मूली का सेवन करें। मूली के पत्ते भी पीलिया का उपचार करने में असरदार है। PHOTO-Freepik

Kidney Health: बारिश का मौसम चल रहा है। ऐसे में पेयजल का दूषित होना हमारे देश की एक आम समस्या है। लेकिन अगर आप गलती से संक्रमित पानी का सेवन कर लेते हैं या बासी खाना खा लेते हैं तो सबसे पहला असर किडनी और लिवर पर पड़ेगा और संक्रमण का खतरा बढ़ जाएगा। यही कारण है कि बरसात के दिनों में पीलिया के मामले सबसे ज्यादा देखने को मिलते हैं। पीलिया किडनी की सेहत से जुड़ी बीमारी है। ऐसे में आपके लिए अपनी किडनी को स्वस्थ रखना बेहद जरूरी हो जाता है। और इसे इतना स्वस्थ बनाएं कि कोई भी बैक्टीरिया, वायरस इसे जल्दी प्रभावित न कर सके। ताकि अगर आप गलती से भी कोई संक्रमित खाना खा लें तो किडनी इस समस्या से खुद ही निपट सकती है और आपको अलग से दवा लेने की जरूरत नहीं है।

किडनी को स्वस्थ रखने और उसकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए ऐसे खाद्य पदार्थों का सेवन करना पड़ता है जो प्राकृतिक रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने का काम करते हैं। यहां कुछ ऐसी आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों के बारे में बताया जा रहा है, जिनका इस्तेमाल भारतीय रसोई में किया जाता है। आपको बस बरसात के दिनों में इनका नियमित रूप से उपयोग करना है।

गुर्दे के लिए हल्दी

अपने दैनिक आहार में हल्दी पाउडर या कच्ची हल्दी आदि से बनी चटनी को शामिल करें। इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी एंजाइम और करक्यूमिन नामक एक यौगिक होता है, जो शरीर में जाता है और बैक्टीरिया, वायरस को खत्म करता है जो सूजन और दर्द का कारण बनते हैं।

हालांकि एक बार किसी को जोड़ लग जाए तो उसके इलाज के दौरान हल्दी का सेवन नहीं करना पड़ता। इसके चिकित्सकीय कारण हैं। लेकिन अगर आप स्वस्थ हैं, अगर आप रोजाना खाने में हल्दी का सेवन करते हैं, तो पीलिया का खतरा कम हो जाता है। बरसात के दिनों में आप खाना खाने के बाद एक चौथाई चम्मच हल्दी ताजे पानी के साथ ले सकते हैं। ऐसा दिन में सिर्फ एक बार ही करें।

अदरक के सेवन से बनाएं किडनी को स्वस्थ

अदरक किडनी को स्वस्थ रखने में भी अहम भूमिका निभाता है। आप काली चाय में अदरक मिलाकर रोजाना इसका सेवन कर सकते हैं या आप अदरक की कैंडी चूस सकते हैं। अदरक का प्रयोग चटनी, दाल, सब्जी आदि में करें। यह एंटीबैक्टीरियल, एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीफंगल गुणों से भरपूर होता है।

किडनी को स्वस्थ रखने के लिए खाएं लहसुन

लहसुन में एलिसिन नामक यौगिक होता है, जो शरीर में सूजन, दर्द, जलन या संक्रमण पैदा करने वाले किसी भी सूक्ष्म जीव को बढ़ने से रोकता है। इसलिए दाल-सब्जियों और चटनी में रोजाना लहसुन का प्रयोग करें। अगर आप किसी भी स्थिति में संक्रमित खाना खाते हैं या पानी पीते हैं तो लहसुन आपके शरीर से विषाक्त पदार्थों को छानकर आपको स्वस्थ रखने का काम करेगा।

पढें हेल्थ (Healthhindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट