scorecardresearch

क्या चाय की वजह से बढ़ जाता है यूरिक एसिड? जानिये Uric Acid के मरीजों के लिए कौन सी चाय है बेहतर

जिन लोगों का यूरिक एसिड हाई रहता है उन्हें दूध वाली चाय का सेवन नहीं करना चाहिए।

hyperuricemia,risk of gout,Tea, Serum uric acid, Hyperuricemia, Gout,
कई अध्ययन में ये बात सामने आई है कि यूरिक एसिड के मरीजों के लिए चाय का सेवन करने से गाउट की समस्या बढ़ सकती है। photo-freepik

यूरिक एसिड शरीर में प्यूरिन से भरपूर डाइट का सेवन करने से बढ़ता है। यूरिक एसिड टॉक्सिन है जो सभी की बॉडी में बनते हैं और किडनी इसे फिल्टर करके यूरिन के जरिए बॉडी से बाहर निकाल देती है। यूरिक एसिड का बनना परेशानी की बात नहीं है लेकिन इसका बॉडी में बढ़ना परेशानी का सबब है। बॉडी में यूरिक एसिड बढ़ने का कारण डाइट में मीट, बियर और बीन्स का अधिक सेवन करना है। यूरिक एसिड बढ़ने को मेडिकल भाषा में हाइपरयूरिसीमिया कहते हैं।

यूरिक एसिड के मरीजों को डाइट का सेवन बेहद सोच समझकर करना चाहिए वरना यूरिक एसिड का स्तर बढ़ने लगता है। यूरिक एसिड बढ़ने पर गठिया और गुर्दे की बीमारी का खतरा बढ़ सकता है। यूरिक एसिड एक ऐसी समस्या है जिससे आसानी से छुटकारा पाया जा सकता है।

लाइफस्टाइल और डाइट में बदलाव करके इस बीमारी पर काबू पाया जा सकता है। यूरिक एसिड के मरीजों के लिए चाय का सेवन उनकी परेशानी को बढ़ा सकता है। आइए जानते हैं कि यूरिक एसिड के मरीज कैसी चाय का सेवन करें ताकि यूरिक एसिड बढ़ने का खतरा कम रहे।

दूध वाली चाय का करें कम सेवन: यूरिक एसिड के मरीजों को दूध वाली चाय नुकसान पहुंचा सकती है। जिन लोगों का यूरिक एसिड हाई रहता है उन्हें दूध वाली चाय का सेवन नहीं करना चाहिए। दूध में फैट बहुत ज्यादा होता है जिसका सेवन करने से शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ने लगती है।

चाय में मौजूद चीनी का सेवन करने से वजन बढ़ने का खतरा रहता है। कई अध्ययन में ये बात सामने आई है कि यूरिक एसिड के मरीजों के लिए चाय का सेवन करने से गाउट की समस्या बढ़ सकती है। चाय का सेवन डिहाइड्रेशन को बढ़ा सकता है जिससे किडनी को बॉडी से टॉक्सिन बाहर निकालने में दिक्कत हो सकती है।

ग्रीन टी का करें सेवन: जिन लोगों का यूरिक एसिड हाई रहता है ऐसे लोग दूध वाली चाय की जगह ग्रीन टी का सेवन करें। ग्रीन टी का सेवन करने से बॉडी से टॉक्सिन बाहर निकलते है और जोड़ों के दर्द से राहत मिलती है। एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर ग्रीन टी यूरिक एसिड को कंट्रोल करने में असरदार साबित होती है।

चाय की जगह करें कॉफी का सेवन: जिन लोगों का यूरिक एसिड हाई रहता है ऐसे लोग चाय की जगह कॉफी का सेवन करें। कॉफी यूरिक एसिड में प्यूरीन के टूटने को धीमा कर देती है और उत्सर्जन की दर को तेज करती है। यूरिक एसिड के मरीज चाय की जगह कॉफी का सेवन करें फायदेमंद साबित होगा।

पढें हेल्थ (Healthhindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट

X