ताज़ा खबर
 

ज्यादा विटामिन-सी लेने से हो सकता है किडनी में स्टोन का खतरा, जानें दूसरे कारण

Kidney Stone Reasons: खानपान में लापरवाही को भी किडनी में पथरी का एक बहुत बड़ा कारण माना जाता है

कुछ स्टडीज के मुताबिक विटामिन सी के सप्लीमेंट्स ज्यादा लेने से यूरिन में ऑक्सलेट की मात्रा बढ़ जाती है

Kidney Stone Causes: हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार जब यूरिन में क्रिस्टल फॉर्म करने वाले मिनरल्स अधिक मात्रा में मौजूद होते हैं तो इससे किडनी में स्टोन का खतरा बढ़ता है। विशेषज्ञ बताते हैं कि जब पेशाब में कैल्शियम, यूरिक एसिड और ऑक्सलेट हाई कंसन्ट्रेशन में पाया जाता है तो क्रिस्टल्स बनते हैं जो आपस में चिपकने लगते हैं जो स्टोन का रूप लेती है। बता दें कि गुर्दे में पथरी का आकार रेत के कण जितना छोटा और गेंद जितना बड़ा हो सकता है।

कोरोना काल में इंफेक्शन के खतरे को कम करने के लिए कई लोगों ने विटामिन-सी का सेवन शुरू कर दिया। विटामिन सी युक्त फूड आइटम्स इम्युनिटी बढ़ाने में मददगार साबित होते हैं। लेकिन किसी भी चीज की अति हानिकारक साबित हो सकती है। ऐसे में जरूरत से ज्यादा विटामिन सी का इस्तेमाल शरीर को नुकसान भी पहुंचा सकता है।

विटामिन-सी और किडनी स्टोन: कुछ स्टडीज के मुताबिक विटामिन सी के सप्लीमेंट्स ज्यादा लेने से यूरिन में ऑक्सलेट की मात्रा बढ़ जाती है। इस वजह से किडनी में स्टोन की मात्रा बढ़ सकती है। ऐसे में लोगों को इसके अधिक इस्तेमाल से बचना चाहिए। खट्टे फलों का सेवन भी सीमित मात्रा में करें।

गलत खानपान: खानपान में लापरवाही को भी किडनी में पथरी का एक बहुत बड़ा कारण माना जाता है। ऐसे में लोगों को अपने ईटिंग हैबिट्स का विशेष ख्याल रखना चाहिए। ज्यादा नॉन-वेज खाने से परहेज करें, साथ ही अत्यधिक नमक, चीनी, मैदा और मसालेदार भोजन से भी दूरी बनानी चाहिए। इसके अलावा, जिन फूड्स में ऑक्सलेट की मात्रा अधिक होती है जैसे कि पालक और साबुत अनाज, उन्हें खाने से बचना चाहिए।

पानी की कमी: किडनी में स्टोन की परेशानी से बचने के लिए लोगों को ज्यादा पानी पीना चाहिए। कम पेय पदार्थ के सेवन से शरीर में डिहाइड्रेशन की समस्या आ सकती है जिससे स्टोन का खतरा अधिक हो जाता है। ऐसे में व्यक्ति को नियमित रूप से दिन में दिन में कम से कम 7-8 गिलास पानी पीना चाहिए। साथ ही, डिटॉक्स ड्रिंक का सेवन भी फायदेमंद होगा।

गाउट जैसी बीमारी: हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक ब्लड में यूरिक एसिड जब उच्च मात्रा में मौजूद होता है तो गाउट जैसी हेल्थ प्रॉब्लम हो सकती है। इस बीमारी में जोड़ों और किडनी में क्रिस्टल्स फॉर्म होने लगते हैं। ऐसे में किडनी में पथरी का खतरा बढ़ता है।

Next Stories
1 डायबिटीज के शुरुआती लक्षणों को कम करने में मददगार हो सकता है ये घरेलू नुस्खा, जानिये
2 Uric Acid कंट्रोल करने में मददगार हो सकता है अजवाइन, जानें कैसे करें उपयोग
3 बैड ब्लड शुगर लेवल क्या होता है? जानें Sugar Level बढ़ने पर क्या खाएं
ये पढ़ा क्या?
X