ताज़ा खबर
 

अगर आपकी आंखों में हो रही है ये दिक्कतें तो डॉक्टर को दिखाएं, हो सकता है मोतियाबिंद

आज हम आपको मोतियाबिंद के लक्षणों के बारे में बता रहे हैं, जिससे कि आप पहले ही इसका पता लगाकर समय पर इसका इलाज करवा सके।

मोतियाबंद तीन प्रकार का होता है, जो लेंस के अलग अलग हिस्सों को प्रभावित करता है। जिसमें सबसे आम पोस्टेरियर सबकेपस्लर मोतियाबिंद है और न्यूक्लियर मोतियाबंद लेंस के बीच में असर करता है।

आंखें आपकी खुबसूरती में चार चांद लगाती है, लेकिन हम आंखों पर ज्यादा ध्यान नहीं देते हैं और आंखों में होने वाली छोटी-मोटी दिक्कतों को नजरअंदाज कर देते हैं जो कि कोई बड़ी बीमारी का कारण भी बन सकती है। क्या आप जानते हैं आंखों की कई दिक्कतें मोतियाबिंद का कारण भी बन सकती है। आज हम आपको मोतियाबिंद के लक्षणों के बारे में बता रहे हैं, जिससे कि आप पहले ही इसका पता लगाकर समय पर इसका इलाज करवा सके।

रात में कम दिखाई देना- मोतियाबिंद से आपके नाइट विजन पर असर पड़ता है और इससे रात को कोई भी काम करना मुश्किल हो जाता है। ऑस्ट्रेलिया की कर्टिन यूनिवर्सिटी की ओर से की गई रिसर्च में सामने आया है कि मोतियाबिंद के इलाज के बाद सेदुर्घटनाओं में 13 फीसदी कमी आई है। इसलिए अगर आपको रात में देखने की दिक्कत हो रही है तो डॉक्टर को दिखाएं और ड्राइविंग करने से बचे।

HOT DEALS
  • Gionee X1 16GB Gold
    ₹ 8990 MRP ₹ 10349 -13%
    ₹1349 Cashback
  • Moto Z2 Play 64 GB (Lunar Grey)
    ₹ 14640 MRP ₹ 29499 -50%
    ₹2300 Cashback

धुंधला दिखना- मोतियाबिंद से आंखो के विजन पर असर पड़ता है और आंखों से धुंधला दिखाई देने लगता है। इससे ओब्जेक्ट साफ नहीं दिखता और हर चीज धुंधली दिखाई देती है। मोतियाबंद तीन प्रकार का होता है, जो लेंस के अलग अलग हिस्सों को प्रभावित करता है। जिसमें सबसे आम पोस्टेरियर सबकेपस्लर मोतियाबिंद है और न्यूक्लियर मोतियाबंद लेंस के बीच में असर करता है, जिससे विजन पर सबसे ज्यादा प्रभाव पड़ता है।

READ ALSO: अनचाह ये हैं अनचाही प्रेग्नेंसी से बचने के आसान तरीके

लाइट में दिक्कत- अगर आपको हल्की सी लाइट पर तेज लग रही है या सामने से आने वाले लाइट को देखकर आपकी आंखों में दिक्कत है तो आपको तुरंत डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए। ऑप्थलमोजी की एक ब्रिटिश जर्नल के शोध में सामने आया कि तेज लाइट से दिक्कत होना सबकेप्सर मोतियाबिंद का सबसे प्रमुख लक्षण है।

चश्मे में बदलाव- अगर लगातार आपके चश्मों के नंबर में बदलाव आ रहा है यानि आपकी आंखों का विजन बदल रहा है तो आप मोतियाबिंद का शिकार हो सकते हैं। अगर ऐसा लगातार हो रहा है तो तुरंत डॉक्टर से सलाह लें।

पीला दिखाई देना- मोतियाबिंद होने पर कई चीजें हल्की पीली-पीली दिखाई देती है और आंखों में पड़ने वाली लाइट भी पीली दिखाई देती है। इससे आप रंगों में अंतर नहीं कर पाते हैं और लाइट के आस पास सर्किल दिखाई देने लगते हैं। इनमें से कोई भी दिक्कत होने पर तुरंत डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

हेल्थ से जुड़ी खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

देखें- दिनभर की बड़ी खबरें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App