ताज़ा खबर
 

पेट के निचले हिस्से में रहता है दर्द तो हो सकता है अपेंडिक्स, जानिए क्या हैं लक्षण और घरेलू उपचार

अपेंडिक्स के दर्द की पहचान ना होने के कारण हो सकती है कई समस्याएं। लक्षण पहचान कर अपनाएं ये घरेलू उपाय।

यूटीआई के संक्रमण से बचने के लिए खूब सारा पानी पीना चाहिए।

अपेंडिक्स पेट के निचले हिस्से का एक भाग होता है, जिसका शरीर में कोई काम नहीं होता। हालांकि, जब इसमें इंफेक्शन हो जाता है तो इसमें दर्द होने लगता है, जिसे ऑपरेशन से ठीक कर दिया जाता है। ऑपरेशन करके इसे बाहर निकाल दिया जाता है। ये बिमारी 15 से 30 वर्ष के किसी भी व्यक्ति को हो सकती है। कई बार अपेंडिक्स के पेट में ही फटने से बड़ी समस्या खड़ी हो सकती है। अपेंडिक्स में कई बार भोजन जमा हो जाता है जिसके कारण पेट में दर्द और सूजन हो जाती है। अगर पेट में कीड़े हो जाए या लम्बे समय से कब्ज की समस्या हो तो ये अपेंडिक्स की वजह हो सकती है। अगर अपेंडिक्स के लक्षणों की सही समय पर पहचान कर ली जाए तो इसका उपचार संभव है और ऑपरेशन से बचा जा सकता है।

अपेंडिक्स के लक्षण-
– नाभि के पास दर्द
– अचानक पेट में बढ़ता दर्द
– तेज बुखार और ठंड़ लगना
– उलटी आना, जी मचलना और भूख ना लगना
– कब्ज होना या डायरिया हो जाना
– पेट में गैस बनना

अपेंडिक्स के घरेलू उपचार-
– पेट साफ रखें, कब्ज की समस्या होने पर एलोवेरा का सेवन करने से कब्ज की समस्या जल्द खत्म हो जाएगी।
– लाल टमाटर में सेंधा नमक और अदरक डालकर खाना खाने से पहले सेवन करें।
– पुदीना पेट की गैस और चक्कर आने की समस्या से बचा जा सकता है।
– सुबह उठकर सबसे पहले 2 से 3 लहसुन के टुकड़े खाएं।
– तुलसी के 4 से 5 पत्ते रोज चबाकर खाने से अपेंडिक्स में फायदा होता है।
– छाछ में काला नमक मिलाकर पीने से अपेंडिक्स की समस्या खत्म हो जाती है।
– उबला हुआ दूध ठंडा करके पीने से अपेंडिक्स की समस्या कम हो जाती है।
– पालक का सेवन करने से भी अपेंडिक्स की बीमारी से लाभ मिलता है।
– राई का पेस्ट बनाकर दर्द वाली जगह पर लगाएं। इससे अपेंडिक्स के दर्द में आराम पहुंचता है।
– 2 चम्मच मेथी दाना 1 ग्लास पानी में उबाल लें। इस पानी को सुबह उठते ही सेवन करना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App