scorecardresearch

शरीर में दिखें ये 5 लक्षण तो बढ़ा हो सकता है ब्लड शुगर; जानिये कैसे तुरंत करें इसे काबू में

खान-पान में अनियमितता से लेकर जीवन में अति व्यस्तता, तनाव, प्रदूषण और पौष्टिक भोजन के नहीं मिलने से भी यह बीमारी हो सकती है।

Diseases and causes
बॉडी में ब्लड शुगर होने का पता चलने पर तुरंत डॉक्टर की सलाह लें। (फाइल फोटो)
आजकल ब्लड शुगर की समस्या तेजी से बढ़ रही है। कई बार यह इतना ज्यादा हो जाता है कि तुरंत डॉक्टर के पास नहीं पहुंचने पर जीवन खतरे में पड़ने की आशंका बढ़ जाती है। इसके होने की कई वजह हो सकती हैं। खान-पान में अनियमितता से लेकर जीवन में अति व्यस्तता, तनाव, प्रदूषण और पौष्टिक भोजन के नहीं मिलने से भी यह बीमारी हो सकती है। यह एक जटिल बीमारी है, लेकिन खुद को संयमित रखते हुए उचित खान-पान से इस पर नियंत्रण किया जा सकता है।

आम तौर पर जब आपके रक्त शर्करा (Blood Sugar) का स्तर बहुत अधिक हो जाता है तो इसे हाइपरग्लाइसेमिया या उच्च रक्त शर्करा कहा जाता है। इसको रोकने के लिए तुरंत इंसुलिन लेने की जरूरत पड़ती है। जब शरीर में इंसुलिन का स्तर कम हो जाता है तो यह डायबेटिक केटोएसिडोसिस (DKA) कहलाता है। यह एक मेडिकल इमरजेंसी की स्थिति होती है।

अगर आपको सांस लेने में कठिनाई हो रही हो, सांस की बदबू आ रही हो, मतली और उल्टी हो रही हो, मुंह सूख रहा हो और घबड़ाहट हो रही हो तो संभव है कि आपको ब्लड शुगर की समस्या हो। ऐसी स्थिति में डॉक्टर को जरूर दिखाएं।

यह बीमारी दो तरह की होती है। टाइप 1 बहुत कम उम्र के बच्चों में होता है। इसमें लंबे समय तक, कभी-कभी पूरी लाइफ इंसुलिन लेने की जरूरत पड़ती है। टाइप 2 आमतौर पर वयस्कों में होता है। माना जाता है कि बॉडी में इंसुलिन कम बनने के कारण यह होता है।

उपाय: नियमित योगासन और कसरत करने, शरीर में कार्बोहाइड्रेट वाले खाने की की मात्रा में कमी लाने, रेशेदार फलों और सब्जियों तथा सलाद की मात्रा बढ़ाने, पर्याप्त पानी पीने, वजन को नियंत्रित करने, अपनी पाचन शक्ति का मापन करने, तनाव से बचने और खुशी रहने तथा पर्याप्त नींद लेने से इस पर नियंत्रण किया जा सकता है।

पढें हेल्थ (Healthhindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट