ताज़ा खबर
 

शकरकंद ब्लड शुगर को काबू करने में माना गया है प्रभावी, डायबिटीज के मरीज इस तरह करें डाइट में शामिल

Diabetes Diet: शकरकंद में फाइबर अधिक होता है, जो एक स्वस्थ पाचन तंत्र को बढ़ावा देने के लिए जाना जाता है

diabetes, fibrous foods in diabetes, diabetes diet, diabetes food, sweet potato for diabetesशकरकंद यानी स्वीट पौटैटो डायबिटीज में बेहद प्रभावी माना जाता है

Tips to control Diabetes: खराब जीवन शैली के कारण होने वाली बीमारियों में डायबिटीज सबसे खतरनाक रोगों में से एक है। शरीर में पैन्क्रियाज इंसुलिन बनाने का कार्य करता है। ये हार्मोन खाने में मौजूद ग्लूकोज और शुगर को सीमित मात्रा में हमारे शरीर में पहुंचाता है। वहीं, अगर बॉडी में इंसुलिन कम मात्रा में बनने लगती है तो इससे डायबिटीज का खतरा बढ़ जाता है। ये बीमारी अधिक परेशान इसलिए करती है क्योंकि डायबिटीज को जड़ से खत्म करना लगभग नामुमकिन सा ही है। इसे कंट्रोल करने के लिए दवाइयों के साथ ही स्वस्थ आहार लेना भी बहुत जरूरी है। ऐसे में ब्लड शुगर को नियंत्रित रखने के लिए मरीज शकरकंद का सेवन कर सकते हैं –

बताया जा रहा है सुपरफूड: शकरकंद यानी स्वीट पौटैटो डायबिटीज में बेहद प्रभावी माना जाता है। जहां पोटैटो मरीजों के लिए घातक साबित हो सकता है, वहीं स्वीट पोटैटो को डायबिटीज टाइप 2 के लिए सुपरफूड माना जाता है। अमेरिकन डायबिटीज एसोसिएशन फॉर डायबिटीज के अनुसार मधुमेह रोगियों को शकरकंद अपनी डाइट में शामिल करना चाहिए।

कम होता है ग्लाइसेमिक इंडेक्स: डायबिटीज के मरीजों को डॉक्टर्स कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स यानी GI वाले भोजन खाने की सलाह देते हैं। इससे ब्लड शुगर कंट्रोल करने में मदद मिलती है। शकरकंद का ग्लाइसेमिक इंडेक्स भी कम होता है, ऐसे में बार-बार होने वाली फूड क्रेविंग को दूर करने के लिए स्वीट पोटैटो बेहतर विकल्प हो सकता है।

विटामिन ए और सी का भंडार: शकरकंद को विटामिन ए और सी का बेहतरीन स्रोत माना जाता है जो कि मरीजों की आंखों की रोशनी और इम्युनिटी को बेहतर बनाता है। इसके अलावा, इसमें बीटा कैरोटिन और आयरन भी पाया जाता है जो सम्पूर्ण स्वास्थ्य के लिए जरूरी है।

वजन कम करने में मददगार: मोटापा डायबिटीज के मरीजों के लिए बहुत ही खतरनाक साबित हो सकता है। ऐसे में शकरकंद के सेवन से उनका वजन भी संतुलित रहेगा। इसमें प्लांट बेस्ड प्रोटीन मौजूद होता है जो कि लोगों को काफी देर तक संतुष्ट रखता है। भरा-भरा महसूस करने के कारण लोग ओवर ईटिंग से भी बच जाते हैं, इससे वजन कम करने में मदद मिलती है।

इस तरह डाइट में करें शामिल: डाइट एक्सपर्ट्स के अनुसार भले ही शकरकंद मधुमेह रोगियों के लिए फायदेमंद है। लेकिन इसमें कार्बोहाइड्रेट्स भी मौजूद होते हैं, ऐसे में इनका सेवन सीमित मात्रा में ही करना चाहिए। उनके मुताबिक आधा कप शकरकंद में तकरीबन 15 ग्राम कार्ब्स होते हैं। वहीं, शोध के मुताबिक उबले हुए शकरकंद सबसे अधिक हेल्दी होते हैं। जबकि बेक या रोस्ट करने पर इसमें मौजूद पोषक तत्व नष्ट हो जाते हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 जीवन के 30 बसंत कर चुके हैं पार तो डाइट में लाएं ये बदलाव, भली-चंगी रहेगी तबीयत
2 हाई यूरिक एसिड के मरीजों की हड्डियां हो जाती हैं कमजोर, गठिया के मरीज ऐसे रखें हड्डियों का ख्याल
3 हाथ-पैर में सूजन किडनी में खराबी की ओर करता है इशारा, जानिये दूसरे लक्षण और बचाव के कारगर उपाय
यह पढ़ा क्या?
X