स्वामी रामदेव से जानिए सर्दियों के मौसम में ब्लड शुगर कंट्रोल रखने के कारगर उपाय

ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल में रखने के लिए रोजाना एक्सरसाइज करना बेहद ही जरूरी है। इससे शुगर का स्तर नियंत्रित रहता है।

blood sugar, blood sugar control, how to control blood sugar
Blood Sugar: खानपान में शामिल कर लें ये 5 चीज (Photo-File)

सर्दियों के मौसम में पसीने से तरबतर होने की टेंशन नहीं रहती। खाने की तरह-तरह की चीजें मिलती हैं और सबसे अच्छी बात मोटापा बढ़ा तो गर्म कपड़ों में फैट छुपा भी सकते हैं। फैट तो छुप सकता है। लेकिन बीमारी छुपाए नहीं छुपती है और हम सब जानते हैं कि शुगर कंट्रोल करने के लिए पैंक्रियाज में दो हारमोंस बनते हैं- इंसुलिन और ग्लूकाजन।

कोरोना की दूसरी लहर में कोरोना वायरस के नए वैरिएंट पैंक्रियाज को डैमेज करने लगा जिसकी वजह से शरीर में इंसुलिन कम मात्रा में बनने लगा। जिसकी वजह शरीर में शुगर का स्तर बढ़ने लगा। इसकी वजह से लोग रिकवरी के बाद डायबिटिक होने लगे हैं। अगर बात डायबिटीज की करें तो सर्दी का मौसम बॉर्डर लाइन पर पहुंच चुकी ब्लड शुगर को भी आउट ऑफ कंट्रोल कर देता ।

दरअसल सर्दी का मौसम सीधे ब्लड शुगर पर असर डालता है। मौसम बदने के कारण शरीर के फंक्शन और इंसुलिन बनने के प्रोसेस पर असर पड़ता है। ब्लड गाढ़ा हो जाता है और जब टेम्परेचर डाउन होता है तो शरीर को अच्छे से चलाने के लिए ज्यादा इंसुलिन की जरूरत होती है। लम्बे समय तक ब्लड शुगर के स्तर बढ़ा रहने से किडनी फिर लिवर, हार्ट,आंख और स्किन को नुकसान पहुंचाता है। ऐसे में जरूरी है कि शरीर में ब्लड शुगर के स्तर को मैंटेन रखा जाए। ऐसे में स्वामी रामदेव से जानिए कैसे 10 योग से सर्दी के इन 4 महीने में शुगर को कंट्रोल रखा जा सकता है।

मंडूकासन: स्वामी रामदेव के मुताबिक डायबिटीज को कंट्रोल करने में सबसे कारगर है। यह आसन पेट और हृदय के लिए भी लाभकारी है, इसके साथ कंसंट्रेशन की क्षमता बढ़ती है। रोजाना इस आसन को करने से पाचन तंत्र सही करने में सहायक होता है। इसके साथ यह आसन लिवर, किडनी को स्वस्थ रखता है। वजन घटाने में मदद करता है और पैन्क्रियाज से इंसुलिन रिलीज करता है।

शशकासन: यह आसन डायबिटीज कंट्रोल करने साथ- साथ तनाव और चिंता दूर होती है। इसके अलावा क्रोध, चिड़चिड़ापन दूर करता है, मानसिक रोगों से मुक्ति मिलती है। साथ ही माइग्रेन के रोग में फायदेमंद भी है। मोटापा कम करने में शशकासन मददगार है वहीं इस आसन को करने से लीवर, किडनी के रोग दूर होते हैं।

योगमुद्रासन: बाबा रामदेव के मुताबिक इस आसन को करने से कब्ज की समस्या दूर होती है और गैस से छुटकारा मिलता है। साथ ही पाचन की परेशानी दूर होती है। यह आसन बवासीर में भी लाभकारी है। इसके साथ नियमित रूप से इसे करने से छोटी-बड़ी आंते सक्रिय होती हैं और पेट की चर्बी कम होता है जिससे मोटापे से छुटकारा मिलता है।

पढें हेल्थ समाचार (Healthhindi News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट