ताज़ा खबर
 

Coronavirus: अब प्राइवेट लैब में मुफ्त में होगी कोरोना वायरस की जांच, जानिये- कहां-कहां है सुविधा

निजी लैब में कोरोना वायरस की जांच करवाने में खर्च होते 4500 रुपए, सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को दिये सभी टेस्ट मुफ्त कराने के निर्देश

coronavirus, coronavirus india, coronavirus patients in india, coronavirus deaths in india, coronavirus testing labs, where to go for coronavirus test, coronavirus testing labs in india, icmr, total coronavirus testing labs, coronavirus world, coronavirus deaths, coronavirus impact, coronavirus outbreak, coronavirus test, coronavirus lockdown, coronavirus symptoms, coronavirus causes, coronavirus precautions, coronavirus medicine, coronavirus vaccine, coronavirus confirmation test, coronavirus test in private lab, coronavirus test price, coronavirus in hindi, supreme court on coronavirus, list of private labs for coronavirusअब निजी लैब्स में मुफ्त में होंगे कोरोना वायरस के टेस्ट, सुप्रीम कोर्ट ने ये दिए निर्देश

भारत में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है। अब तक कुल पॉजिटिव केसेज की संख्या 5 हजार पार कर गई। वहीं, इस वायरस की वजह से 150 से अधिक लोगों की जान जा चुकी है। सरकार इस घातक वायरस से निपटने के लिए भरसक प्रयास में जुटी हुई है। पिछले 15 दिनों से देश में कम्प्लीट लॉकडाउन है ताकि कोरोना वायरस के प्रकोप को कम किया जा सके। इस बीच 24 मार्च को ICMR ने उन प्राइवेट लैब्स की सूची जारी की थी, जिन्हें कोरोना वायरस के टेस्ट के लिए चुना गया है। निजी लैब्स में इस टेस्ट को कराने में कुल 4500 रुपये का खर्च पड़ता। हालांकि, कोरोना टेस्ट पर सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को कहा कि जांच फ्री में होनी चाहिए।

सुप्रीम कोर्ट में क्या आया फैसला: आज यानि कि बुधवार को सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि सरकार को एक ऐसी प्रक्रिया बनानी चाहिए जिससे जो लोग प्राइवेट लैब में अपना टेस्ट कराने जाएं, उनका पैसा रिइम्बर्स किया जा सके। कोर्ट के अनुसार, निजी लैब को इस घातक वायरस की जांच के लिए पैसे लेने की अनुमति नहीं होनी चाहिए। जांच में लगे पैसों के रिइम्बर्समेंट के लिए सरकार की ओर से तंत्र बनाया जाना चाहिए। इसके अलावा, कोर्ट ने डॉक्टर और मेडिकल स्टाफ की सुरक्षा को लेकर भी कंसर्न जाहिर किया। कोर्ट ने कहा कि डॉक्टर और मेडिकल स्टाफ कोरोना से लड़ाई में योद्धा हैं। उनकी और उनके परिवार के लोगों की सुरक्षा बेहद जरूरी है।

कितने निजी लैबों में हो रहा है टेस्ट: देश भर में कोरोना वायरस के मरीजों की पहचान के लिए कई निजी लैब्स में इस वायरस के संदिग्ध लोगों के जांच होंगे। बिजनेस इंसाइडर की एक रिपोर्ट के मुताबिक, अलग-अलग राज्यों में कुल 49 जांच लैब्स चुने गए हैं। दिल्ली में 8 लैब कोरोना वायरस संबंधित जांच किए जाएंगे। इनमें रोहिणी इलाके का लाल पैथ लैब, साकेत में स्थित मैक्स सुपर स्पेशियैलिटी अस्पताल का मैक्स लैब प्रमुख है। वहीं, गुजरात के अहमदाबाद में 3 और सूरत के 1 लैब में हो सकेगा कोरोना वायरस का जांच।

इसके अलावा, हरियाणा के गुरुग्राम में भी 5 निजी लैबों को इस वायरस संबंधी जांच के निर्देश दिए गए हैं। इधर, कर्नाटक में 2 और महाराष्ट्र के अलग-अलग हिस्सों में 10 निजी लैब्स चुने गए हैं। वहीं, तेलंगाना में भी 8 लैब्स में कोरोना वायरस के जांच करवाए जा सकते हैं। इसके अलावा, लखनऊ के आरएमएल मेहरोत्रा पैथोलॉजी प्राइवेट लैब में हो रहे हैं इस वायरस के टेस्ट। साथ ही साथ, केरल और पश्चिम बंगाल के भी 2 अलग-अलग लैब को टेस्टिंग सेंटर चुना गया है।

Next Stories
1 Coronavirus: आखिर किस तरह कोरोना वायरस फेफड़ों में घुसता है और सांस लेने में दिक्कत पैदा करता है? जानिये…
2 COVID-19: पुलिस जिप्सी में हुई महिला की डिलिवरी, पुलिसकर्मियों ने बढ़ाया मदद का हाथ
3 Coronavirus से रहेंगे दूर, 2 मिनट में घर बैठे इस तरह बनाएं फेस मास्क, देखें – VIDEO
MP Budget:
X