ताज़ा खबर
 

जानिए ठंड में क्यों रखना चाहिए विटामिन-डी का खास ध्यान, इसकी कमी के कारण हो सकती हैं ये समस्याएं

Risk for a Vitamin D Deficiency: शरीर के लिए विटामिन-डी होना बेहद जरूरी होता है। सर्दियों में अक्सर धूप कम निकलने के कारण विटामिन-डी की कमी हो जाती है। जानिए इस विटामिन की कमी के कारण कौन सी समस्याएं होती हैं।

विटामिन-डी की कमी के कारण होने वाली समस्याएं

Vitamin D deficiency: विटामिन-डी जिसके “सनशाइन विटामिन” के नाम से भी जाना जाता है। यह विटामिन शरीर के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है और ताकत भी प्रदान करता है। यह हमारी हड्डियों, दांतों और त्वचा के साथ-साथ और भी कई लाभ प्रदान करता है। विटामिन-डी लेने का सबसे अच्छा तरीका धूप भी होता है, लेकिन सर्दी के मौसम में धूप कम होने के कारण शरीर में भी विटामिन-डी की कमी हो जाती है। विटामिन-डी के कारण कई स्वास्थ्य समस्याएं होने का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में आपको अपने आप को विटामिन-डी की कमी होने से बचाने की जरूरत है। आइए जानते हैं विटामिन-डी की कमी के कारण क्या होता है-

हड्डियां कमजोर होना: विटामिन डी कैल्शियम अवशोषण और हड्डियों के मेटाबॉलिज्म में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। हड्डियों को मजबूत बनाए रखने के लिए विटामिन-डी की पर्याप्त मात्रा होनी जरूरी होती है। साथ ही मांसपेशियों को भी मजबूती प्रदान करता है। इसलिए आपको विटामिन-डी वाले फूड्स को अपनी डाइट में शामिल करना चाहिए।

किडनी खराब होने का खतरा: शरीर में विटामिन-डी की कमी या फिर बहुत ज्यादा अधिक होने के कारण किडनी खराब होने की संभावनाएं बढ़ जाती है। इसलिए किडनी को हेल्दी रखने के लिए आप विटामिन-डी की पर्याप्त मात्रा का सेवन करें।

पेट दर्द, कब्ज और दस्त की समस्या: शरीर में विटामिन-डी की कमी के कारण अक्सर पेट दर्द, कब्ज और दस्त की समस्या हो जाती है। इसके अलावा विटामिन-डी की कमी के कारण खाना पचाना भी मुश्किल हो सकता है।

मिचली, उल्टी और खराब पाचन शक्ति: विटामिन-डी इम्यून सिस्टम को मजबूत करता है। साथ ही मिचली, उल्टी और पाचन को भी बेहतर करने में मदद करता है। यदि शरीर में विटामिन-डी की कमी हो जाती है तो अचानक वजन कम होने की समस्या भी हो जाती है।

स्किन डार्क हो जाना: पिगमेंट मेलेनिन सूरज की रोशनी के संपर्क में आने से विटामिन डी बनाने की त्वचा की क्षमता को कम कर देता है। कुछ अध्ययनों से पता चला है कि जिन व्यस्कों में डार्क स्किन की समस्या देखी जाती है उनमें विटामिन डी की कमी का खतरा अधिक पाया जाता है।

विटामिन डी की कमी के प्रभाव क्या हैं? विटामिन डी की कमी के लक्षण अक्सर बहुत सूक्ष्म होते हैं, इसलिए बहुत से लोग नहीं जानते हैं कि वे कमी है। लेकिन, विटामिन डी की कमी के कुछ प्रभावों में शामिल हैं:

– थकावट
– हड्डियों में दर्द
– जोड़ों में दर्द
– मांसपेशियों में दर्द
– चिंता
– बालों का झड़ना
– चिड़चिड़ाहट
– एनर्जी कम हो जाना

किन लोगों में विटामिन डी की कमी होने के जोखिम अधिक होते हैं?
जो लोग अपना अधिकांश समय घर के अंदर बिताते हैं, जैसे कि वृद्ध व्यक्ति या डेस्क जॉब वाले लोग, उनमें विटामिन-डी की कमी के कारण होने वाली समस्याएं बढ़ जाती हैं। गहरे रंग की त्वचा वाले या हल्की त्वचा वाले लोग जो धूप के संपर्क में आने से बचते हैं, उन्हें भी इसका खतरा होता है। कुछ चिकित्सकीय स्थितियों में विटामिन डी की कमी की संभावना बढ़ सकती है। जीआई ट्रैक्ट डीजिज, सीलिएक डीजिज और बेरिएट्रिक सर्जरी वाले लोगों में यह जोखिम अधिक होता है।

(और Health News पढ़ें)

Next Stories
1 लगातार सर्दी रहती है! कहीं आपको भी तो नहीं है गर्म कपड़ों से एलर्जी, ऐसे पहचानें और रखें ख्याल
2 मोती की तरह चमकते दांतों की रखते हैं चाहत, को इन घरेलू उपचारों का जरूर करें इस्तेमाल
3 अंडे में होता है हाई कोलेस्ट्रॉल, जानिए कितना और कैसे खाना होगा सेहतमंद
ये पढ़ा क्या?
X